योगी योजना 2022: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकारी योजना सूची, Yogi Yojana List

योगी योजना सूची देखे और Yogi Yojana List एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकारी योजनाओ की जानकारी, उद्देश्य व लाभ प्राप्त करे

जैसे की आप सभी लोग जानते है कि योगी आदित्य नाथ जी को उत्तर प्रदेश का  मुख्यमंत्री बनाया गया है योगी आदित्य नाथ जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद उनके द्वारा राज्य के नागरिको के  हित में बहुत से नए  कार्य किये है। Yogi Yojana 2022 के अंतर्गत मुख्यमंत्री जी के द्वारा उत्तर प्रदेश के नागरिको के लिए बहुत सी कल्याणकारी योजनाओ को आरम्भ किया गया है। इन योजनाओ के माध्यम से राज्य के नागरिको को बहुत से लाभ प्राप्त होंगे और राज्य की स्थिति में भी सुधार होगा। तो चलिए आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बतायेगे की उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा कौन कौन सी योजनाओ को शुरू किया गया है और योगी योजना से क्या क्या लाभ प्राप्त होंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकारी योजना

उत्तर प्रदेश सरकार अपने राज्य के विकास के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। Yogi Yojana के तहत भिन्न भिन्न प्रकार के मंत्रालय द्वारा विभिन्न प्रकार कल्याणकारी कार्यक्रम महिला कल्याण, युवा कल्याण, कृषि कल्याण में चलाए जा रहे हैं। आपको बता दे उत्तर प्रदेश जनसँख्या की दृष्टि में  सबसे बड़ा राज्य है। योगी आदित्य नाथ जी को वर्ष 2017 में उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने राज्य के बच्चो ,महिलाओ ,श्रमिकों ,किसानो ,आर्थिक रूप से गरीब लोगो के लिए विभिन्न प्रकार की योजना का शुभारम्भ किया गया है। इन विभिन्न योजनाओ के तहत  यूपी में जितने भी बेरोजगार युवा निवास करते है उनको रोजगार प्रदान कर रही है  और आर्थिक रूप से गरीब लोगो को वित्तीय सहायता प्रदान कर रहे है इसी तरह बहुत सी ऐसे योजनाए है जिनके  बारे में हम आपको विस्तारपूर्वक  बतायेगे।

योगी योजना

योगी योजना 2022 का उद्देश्य

Yogi Yojana का मुख्य उद्देश्य राज्य के विकास के लिए समय समय पर विभिन्न कल्याणकारी सरकारी योजना को शुरू करना। राज्य सरकार द्वारा बेरोजगार युवाओ को रोजगार प्रदान करना।  आर्थिक रूप से कमज़ोर परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान  करना।  ज़रूरत मंद महिलाओ की मदद करना। योगी जी के द्वारा विभिन्न प्रकार की अनेकों Yogi Yojana निम्न वर्ग, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग, पिछड़ा वर्ग तथा मध्यम वर्गीय व्यक्तियों की जरूरतों, आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर आरंभ की गई है | ताकि वे अपनी आर्थिक स्थिति को सुधार सके । Yogi Yojana के ज़रिये राज्य के विभिन्न वर्गो के नागरिको  सशक्त और आत्मनिर्भर बनाना। 

Yogi Yojana 2022 Highlights

योजना का नामYogi Yojana
इनके द्वारा शुरू की गयीउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा
लाभार्थीराज्य के नागरिक
उद्देश्यविभिन्न प्रकार के लाभ पहुँचाना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकारी योजना सूची

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी के द्वारा शुरू की गयी योजनाओ का लाभ दिन प्रतिदिन राज्य के नागरिको को पहुंचाया जा रहा है। योगी जी उत्तर प्रदेश की प्रगति और विकास के लिए नयी से नयी योजनाओ को शुरू करके एक अच्छा कदम उठा रही है राज्य के जो लोग सरकार दुरा शुरू की गयी योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें विस्तारपूर्वक पढ़े और योजना के तहत अपना आवेदन  करे।  योगी आदित्य नाथ  जी के द्वारा वर्ष 2017 से लेकर अब तक जितनी भी विभिन्न प्रकार की  सरकारी योजनाओ को शुरू किया है उनकी पूरी सूची हमने नीचे दी हुई है। आप इसे ध्यानपूर्वक पढ़े। यूपी के मुख्यमंत्री जी के द्वारा आरंभ की गई मुख्य योजनाओं के बारे में मुख्य जानकारी जैसे जरूरी दस्तावेज,लाभ, महत्वपूर्ण तिथियां, पंजीकरण प्रक्रिया, उपयोगकर्ता दिशानिर्देश और आधिकारिक वेबसाइट आपके साथ साझा करेंगे।

Agniveer Bharti 

Yogi Yojana के लाभ क्या क्या है।

  • इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के नागरिको को  प्रदान किया जायेगा।
  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी ने सभी प्रकार के नागरिको और सभी जाति के लोगो के लिए  विभिन्न प्रकार की योजनाए शुरू की है।
  • योगी योजना  के तहत भिन्न भिन्न प्रकार के मंत्रालय द्वारा विभिन्न प्रकार कल्याणकारी कार्यक्रम महिला कल्याण, युवा कल्याण, कृषि कल्याण में चलाए जा रहे हैं।
  • योगी योजना के अंतर्गत राज्य के गरीब नागरिको को आर्थिक सहायता प्रदान  की जा रही है। राज्य के बच्चो ,महिलाओ ,श्रमिकों ,किसानो ,आर्थिक रूप से गरीब लोगो भी योजनाओ के तहत  वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इन विभिन्न योजनाओ के तहत  यूपी में जितने भी बेरोजगार युवा निवास करते है उनको रोजगार प्रदान कर रही है।

उत्तर प्रदेश गोपालक योजना

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश गोपालक योजना का शुभारंभ किया गया है इस योजना के माध्यम से गोपालक को ₹200000 तक का ऋण मुहैया करवाया जाएगा। यह ऋण दो किस्तों में मुहैया करवाया जाएगा। जिसके माध्यम से लाभार्थी 10 से 12 गाय का पशुपालन कर सकता है। लाभार्थी गाय या भैंस में से किसी को भी पाल सकता है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए पशु दुधारू होना अनिवार्य है। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से लाभार्थी अपनी खुद का डेरी फॉर्म भी खोल सकता है। यह योजना बेरोजगारी दर में घटाने में भी कारगर साबित होगी।

यूपी फ्री टेबलेट/स्मार्ट फोन योजना

यूपी फ्री टेबलेट/स्मार्ट फोन योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश के युवाओं को एक करोड़ मुफ्त स्मार्टफोन एवं टेबलेट मुहैया करवाए जाएंगे। इस योजना के प्रस्ताव को सरकार द्वारा मंजूरी प्रदान कर दी गई है। सभी पोस्ट ग्रेजुएशन, बीटेक, ग्रेजुएशन, पॉलिटेक्निक, मेडिकल, पैरामेडिकल और कौशल विकास मिशन की ट्रेनिंग लेने वाले अभ्यर्थियों को स्मार्ट फोन/टेबलेट मोहिया करवाए जाएंगे। इस योजना का लाभ छात्रों के अलावा अन्य नागरिकों को भी प्रदान किया जाएगा। वह सभी नागरिक जो सेवा क्षेत्र से जुड़े हैं वह भी इस योजना का लाभ उठाने के पात्र हैं। इस योजना का लाभ उठाने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बनी 6 सदस्य कमेटी के द्वारा इस योजना का कार्यान्वयन किया जाएगा।

यूपी स्कॉलरशिप योजना

यूपी स्कॉलरशिप योजना के माध्यम से कक्षा 9, 10, 11 एवं 12 में पढ़ने वाले बच्चों को स्कॉलरशिप प्रदान की जाएगी। अब प्रदेश के वह सभी बच्चे जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं उनको शिक्षा प्राप्त करने के लिए आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि सरकार द्वारा उनकी शिक्षा का खर्च वहन किया जाएगा। वह सभी बच्चे जिनकी पारिवारिक वार्षिक आय ₹200000 या फिर से कम है वह इस योजना का लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक द्वारा आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से आवेदन करना होगा। यदि आवेदक केंद्र या राज्य सरकार की किसी अन्य स्कॉलरशिप योजना का लाभ पहले से प्राप्त कर रहा है तो वह योजना का लाभ प्राप्त करने का पात्र नहीं है।

उत्तर प्रदेश शादी अनुदान योजना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा राज्य के गरीब नागरिकों के लिए उत्तर प्रदेश शादी अनुदान योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से कन्या की शादी होने पर ₹51000 की राशि प्रदान की जाती है। इस राशि के माध्यम से कन्या के विवाह पर होने वाले खर्च को कम करने में भी सहायता मिलती है। वह सभी नागरिक जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करते हैं वह उत्तर प्रदेश शादी अनुदान योजना का लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए मैरिज रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है। अब प्रदेश के नागरिकों को कन्या के विवाह के लिए चिंता करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कन्याओं के विवाह पर इस योजना के माध्यम से आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का शुभारंभ प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग प्रदान करने के उद्देश्य से किया गया है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश के छात्रों को निशुल्क कोचिंग प्रदान की जाती है। यह कोचिंग यूपीएससी, यूपीपीएससी, जेईई, नीट आदि जैसे पेपरों की तैयारी करने के लिए प्रदान की जाती है। अब प्रदेश के नागरिकों को इन सभी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए किसी दूसरे राज्य में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से प्रशिक्षण संसाधनों उपलब्ध करवाया जाएगा। इस योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा एक पोर्टल भी लॉन्च किया गया है। प्रदेश के छात्र इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों माध्यमों से प्राप्त कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना

राज्य के श्रमिकों को रोजगार प्राप्त करने के लिए अन्य राज्यों में जाना पड़ता है। ऐसे सभी श्रमिकों को अपना जीवन व्यतीत करने में कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस समस्या का निपटान करने के लिए मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से प्रवासी श्रमिक नागरिकों को उद्योगों से जोड़ने का प्रयास किया जाएगा। जिससे कि नागरिकों तक रोजगार के संसाधन राज्य में ही उपलब्ध करवाए जा सकते हैं और प्रदेश के नागरिकों को किसी दूसरे राज्य में जाकर रोजगार प्राप्त करने की आवश्यकता ना पड़े।

यूपी आसान किस्त योजना

यूपी आसान किस्त योजना को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा आरंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश के सभी नागरिक जो आर्थिक रूप से कमजोर होने की वजह से बिजली का बिल जमा करने में असमर्थ हैं उनको किस्तों में बिजली का बिल जमा करने की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। शहरी उपभोक्ता अपना बिल 12 किस्तों के माध्यम से भर सकते हैं एवं ग्रामीण उपभोक्ता अपना बिल 24 किस्तों के माध्यम से भर सकते हैं। अब प्रदेश के वह सभी नागरिक जो आर्थिक तंगी के कारण बिजली का बिल जमा करने में असमर्थ थे वह बिजली का बिल जमा कर सकेंगे। मासिक किस्त की न्यूनतम राशि 1500 रुपए होगी। प्रत्येक मासिक किस्त के साथ उपभोक्ता को वर्तमान बिल भी देना अनिवार्य होगा।

बीसी सखी योजना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा बीसी सखी योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं के माध्यम से बैंकिंग सेवाएं मुहैया कराई जाएंगी। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण नागरिकों तक बैंकिंग सुविधाएं पहुंच सकेंगी एवं महिलाओं को रोजगार प्राप्त होगा। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र के नागरिक घर बैठे बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे। यह बैंकिंग सेवाएं डिजिटल डिवाइस के माध्यम से प्रदान की जाएंगी। यह डिजिटल डिवाइस खरीदने के लिए महिलाओं को ₹50000 की धनराशि मुहैया कराई जाएगी। इसके अलावा महिलाओं को 6 महीने तक प्रतिमाह ₹4000 की धनराशि भी वेतन के रूप में प्रदान की जाएगी।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के माध्यम से उन सभी बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जिनके माता पिता की मृत्यु कोरोना संक्रमण के कारण हो गई हो। इस योजना का शुभारंभ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा 30 मई 2021 को किया गया था। इस योजना के माध्यम से बच्चों को ना सिर्फ आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी बल्कि उनकी पढ़ाई से लेकर विवाह तक का खर्च उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वाहन किया जाएगा। मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के माध्यम से बच्चों को या फिर उनके अभिभावकों को ₹4000 की आर्थिक सहायता प्रतिमाह प्रदान की जाएगी।

इसके अलावा यदि बच्चे की आयु 10 वर्ष से कम है एवं उसका कोई अभिभावक नहीं है तो उनको राजकीय बाल गृह में आवासीय सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी। लड़कियों को अलग से आवासीय सुविधा प्रदान की जाएगी। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से लड़कियों की शादी के लिए आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाएगी।

यूपी फ्री बोरिंग योजना

प्रदेश के लघु एवं सीमांत किसानों को बोरिंग की सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यूपी मिशन बोरिंग योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश के सामान्य एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लघु एवं सीमांत कृषको को सिंचाई के लिए बोरिंग की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। बोरिंग के लिए पंपसेट की व्यवस्था किसान द्वारा की जाएगी। जिसके लिए बैंक से ऋण की प्राप्ति भी की जा सकती है। सामान्य श्रेणी के लघु एवं सीमांत किसानों को इस योजना का लाभ केवल तभी प्रदान किया जाएगा जब उनके पास न्यूनतम जोत सीमा 0.2 हेक्टेयर हो। यह योजना खेत की गुणवत्ता बढ़ाने में भी कारगर साबित होगी। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से किसानों के जीवन स्तर में भी सुधार आएगा।

वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट योजना

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश के 75 जनपदों के विशेष प्रोडक्ट के उत्पात तथा बढ़ावा दिया जाएगा। आने वाले 5 सालों में इस योजना के माध्यम से 25 लाख लोगों को रोजगार प्रदान किया जाएगा। यह योजना उत्तर प्रदेश के छोटे, मध्यम एवं परंपरागत उद्योगों का विकास करने में भी कारगर साबित होगी। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से रोजगार सरजीत किए जा सकेंगे। यह योजना प्रदेश के नागरिकों की आर्थिक स्थिति को सुधारने में भी कारगर साबित होगी। वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट के माध्यम से प्रदेश के नागरिकों को उनके जिले के विशेष प्रोडक्ट के उत्पाद के लिए कच्चा माल़, डिजाइन, प्रशिक्षण, तकनीक एवं बाजार उपलब्ध करवाया जाएगा।

यूपी मिशन शक्ति अभियान

यूपी मिशन शक्ति अभियान को उत्तर प्रदेश की महिला एवं बेटियों को स्वलंबी एवं सुरक्षित बनाने के उद्देश्य से किया गया है। इस अभियान के माध्यम से प्रदेश की महिलाओं को जागरूक किया जाता है। जिससे कि उनको अपने अधिकारों से संबंधित जानकारी प्राप्त हो सके। इसके अलावा महिलाओं के लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम का भी संचालन किया जाता है। प्रदेश के सभी 75 जिलों में इस योजना का संचालन किया जा रहा है। इस अभियान के माध्यम से प्रदेश की महिलाएं आत्मनिर्भर बन सकेंगी। मिशन शक्ति अभियान को 31 अगस्त 2021 को लांच किया गया था। अब तक इस योजना के दो चरण संचालित किए जा चुके हैं। वर्तमान समय में इस योजना का तीसरा चरण संचालित किया जा रहा है।

राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना

प्रदेश के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों के गरीब परिवारों को राष्ट्रीय पारिवारिक योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से यदि गरीब परिवारों के एकमात्र आय अर्जित करने वाले सदस्य की मृत्यु हो जाती है तो इस स्थिति में परिवार के सदस्य को ₹30000 की राशि प्रदान की जाएगी। जिससे कि परिवार को किसी पर भी निर्भर रहने की आवश्यकता नहीं पड़े। इस योजना का लाभ केवल तभी प्रदान किया जा सकता है जब लाभार्थी का बैंक खाता आधार से लिंक हो। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत लाभ की राशि सीधे लाभार्थी के खाते में वितरित की जाएगी। इस योजना के माध्यम से गरीब परिवारों की आर्थिक मदद भी हो सकेगी एवं उनके जीवन स्तर में भी सुधार आ सकेगा।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना

इस योजना की शुरुआत यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा राज्य की लड़कियों को लाभ पहुंचाने के लिए की गयी है। इस योजना के अंतर्गत राज्य की आर्थिक रूप से गरीब परिवार की बेटियों के जन्म होने पर 50000 रूपये की आर्थिक सहायता राज्य सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी और बेटी की माँ को भी 5100 रूपये की धनराशि वित्तीय सहायता के प्रदान किये जायेगे। इस UP Bhagya Laxmi Yojana के तहत जब लड़की 6 वीं कक्षा में आएगी तो माता-पिता को 3,000 रुपये, 8 वीं कक्षा में 5000 रुपये, कक्षा 10 में 7,000 रुपये और 12 वीं कक्षा में 8,000 रुपये दिए जाएंगे। इस योजना के अंतर्गत  लड़की के 21 वर्ष की आयु होने तक लड़की के माता-पिता को 2 लाख रुपये का कुल धनराशि  वित्तीय सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी ।

 UP Bhagya Laxmi Yojana Online Apply

इस योजना के तहत आवेदक के परिवार की वार्षिक आय 2 लाख रूपये से कम होनी चाहिए । उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत लड़की  की शादी 18 वर्ष से कम उम्र में नहीं होनी चाहिए। राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते है तो वह महिला एवं बाल विकास विभाग उत्तर प्रदेश की Official Website पर जाकर यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के Application Form PDF को डाउनलोड कर सकते है। इसके बाद आवेद फॉर्म को भरकर अपने नज़दीकी आंगनवाड़ी केंद्र या अपने नज़दीकी  महिला कल्याण विभाग के कार्यालय में भी जमा  कर सकते है।

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना

इस योजना को राज्य के श्रमिकों के भरण पोषण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।  इस उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना के अंतर्गत राज्य के 15 लाख दिहाड़ी मजदूरों और निर्माण क्षेत्र (रिक्शा वाले, खोमचे वाले, रेहड़ी वाले, फेरी वाले, निर्माण कार्य करने वाले) के 20.37 लाख श्रमिकों को आम दिनों  की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए प्रति व्यक्ति 1,000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है। जैसे की आप सभी लोग जानते है कोरोना वायरस की वजह से सभी मजदूर बेरोजगार हो गए है। कोरोना वायरस के चलते मजदूरों का भी कोई आय का साधन नहीं है इस Majdur Bhatta Yojana के तहत नगर विकास के 16 लाख दिहाड़ी सफाई कर्मचारी ,58000 ग्राम सभाओ में 20 -20 मजदूर लिए जायेगे।

Majdur Bhatta Yojana Registration

इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा मजदूरों को प्रदान की जाने वाली आर्थिक सहायता सीधे लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की जाएगी। श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत मजदूरों को इस योजना का लाभ मिलेगा।योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य के बीपीएल परिवारों को 20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल सरकार मुफ्त में देगी। Majdur Bhatta Yojana का लाभ उठाने के लिए आपको Labour Department को ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना

इस योजना को राज्य के बेरोजगार युवाओ को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए आरम्भ की गयी है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के बेरोजगार युवाओ को खुद का रोजगार शुरू करने के लिए  25 लाख रूपये तक की आर्थिक सहायता राज्य सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत उत्तर प्रदेश के योग्य बेरोजगार  युवाओं को कम ब्याज दर में लोन सुविधा प्रदान की जाएगी ।इस योजना के तहत उद्योग क्षेत्र के लिए 25 लाख रूपये की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई जाएगी और सेवा क्षेत्र के लिए 10 लाख रूपये की वित्तीय सहायता प्रदना की जाएगी । साथ ही सरकार द्वारा परियोजना लागत की कुल राशि की 25 % मार्जिन मनी सब्सिडी भी दी जाएगी । उधोग क्षेत्र के लिए अधिकतम 6.25 लाख रूपये और सेवा क्षेत्र के लिए 2.50 लाख रूपये का मार्जिन मनी उपलब्ध कराई जाएगी ।

यूपी युवा स्वरोजगार योजना अप्लाई

राज्य के जो युवो शिक्षित है लेकिन उनके पास कोई रोजगार नहीं है उन लोगो को इस योजना के तहत लाभ प्रदान किया जायेगा। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत प्रदेश के 21% अनुसूचितजाति/ जनजाति के युवाओ को लाभ दिया जायेगा।इस के तहत आवेदक को आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए । इस योजना के तहत आवेदन  करने के लिए उत्तर प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड की Official Website पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। इस योजना  के ज़रिये बेरोजगारी कि समस्या को कम करना।

कन्या सुमंगला योजना

इस योजना की शुरुआत राज्य की लड़कियों के भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए की गयी है। इस योजना के अंतर्गत बेटी  के जन्म से लेकर पढाई तक का पूरा खर्च सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान किया जायेगा। कन्या सुमंगला योजना के तहत बालिकाओ को 15000 रूपये की कुल धनराशि राज्य सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान जाएगी और बालिकाओ को दी जाने वाली कुल धनराशि 6 समान किश्तों में दी जाएगी।  इस कन्या सुमंगला योजना 2020 के अंतर्गत कन्याओ के परिवार की वार्षिक आय अधिकतम 3 लाख या इससे कम होनी चाहिए।

इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली धनराशि

  • पहली किश्त – कन्या के 1 अप्रैल 2019 या इसके बाद जन्म होने पर तथा इस योजना के तहत कन्या के लिए आवेदन जन्म से लेकर 6 माह के  अंदर करना पर 2000 रूपये की धनराशि दी जाएगी। 
  • दूसरी किश्त – कन्या के एक वर्ष के तक के पूर्ण टीकाकरण के उपरांत 1000 रूपये की धनराशि दी जाएगी।
  • तीसरी किश्त – कन्या के कक्षा 1 में प्रवेश लेने पर 2000 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी | 
  • चौथी किश्त – कन्या के कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर 2000 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी |
  • पांचवी किश्त – इसके बाद कक्षा 9 में प्रवेश लेने के उपरांत3000 रूपये की धनराशि  प्रदान  की जाएगी।
  • छठी किश्त – कक्षा 10 /12 वी  उत्तीर्ण करके चालू शैक्षिणिक सत्र के दौरान स्नातक /डिग्री या कम से कम दो वर्षीय डिप्लोमा में प्रवेश लेने पर 5000 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।

कन्या सुमंगला योजना आवेदन

MKSY के तहत परिवार की अधिकतम 2 लड़कियों को ही पात्र माना जायेगा | यदि उत्तर प्रदेश के किसी परिवार ने अनाथ कन्या को गोद लिया हो तो परिवार की जैविक सन्तानो तथा विविध रूप में गोद ली गयी सन्तानो को सम्मिलित करते हुए अधिकतम 2 लड़किया इस योजना की लाभार्थी होंगी | इस कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत  लाभार्थी के परिवार की वार्षिक आय अधिकतम तीन लाख होनी चाहिए।राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते है तो वह कन्या सुमंगला योजना की Offical Website  पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है और इस योजना का लाभ उठा सकते है।

उत्तर प्रदेश जनसुनवाई

राज्य सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के कई प्रकार की सुविधा प्रदान करने के लिए जनसुनवाई पोर्टल को आरम्भ किया है। अगर  राज्य के लोगो को  किसी प्रकार की कोई शिकायत है तो वह इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम  ऑनलाइन दर्ज करवा सकते है। आपके द्वारा इस उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल पर दर्ज की गयी शिकायत का समाधान  सम्बंधित विभाग द्वारा किया जायेगा। राज्य के जिन लोगो का किसी सरकारी विभाग से जुडी कोई कार्य नहीं हो रहा है तथा बहुत ही कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है तो वह UP Jansunwai Portal पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है। राज्य के जो मजदूर लॉक डाउन की वजह से दूसरे राज्यों में फंसे हैं और जो प्रदेश से बाहर दूसरे राज्यों से आना-जाना चाहते हैं | तो वह जनसुनवाई पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर सकते है।

जनसुनवाई पोर्टल ऑनलाइन आवेदन

सरकार पूरी कोशिश कर रही है के आपराधिक घटनाओं पर रोक लग सके इसी मकसद को पूरा करने के लिए यूपी सरकार ने जनसुनवाई पोर्टल को आरम्भ किया है राज्य के लोग इस जनसुनवाई पोर्टल के माध्यम से घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज करवा सकते है सम्बंधित विभाग  कम से कम समय में आपकी समस्या का निवारण करेगा और जब तक आपकी शिकायत का निवारण नहीं हो जाता तब तक आप ऑनलाइन माध्यम से UP Jansunwai Complaint Status देख सकते है। 

उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता

इस योजना के अंतर्गत राज्य के शिक्षित बेरोजगार युवाओ को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बेरोजगारी भत्ता प्रदान किया जायेगा। इस योजना के अंतर्गत राज्य के इण्टरमीडिएट (12th) से स्नातक (Graduation) के शिक्षित  बेरोजगार युवाओ को  बेरोजगारी भत्ते के रूप में 1000 से 1500 रूपये उपलब्ध कराया जायेगा। इस उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता का उद्देश्य बेरोजगार युवाओ की आर्थिक तंगी के कारण वह विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी विभागों में निकलने वाली भर्तियों में आवेदन नहीं कर पाते उनको प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान करना। राज्य के बेरोजगार युवाओ को उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता के तहत सरकार द्वारा बेरोजगारी भत्ता प्राप्त करना चाहते है तो उन्हें उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता की अधिकारिक वेबसाइड पर स्वयं को पंजीकरण कर सकते है।

यूपी राशन कार्ड

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राशन कार्ड बनवाने के लिए आवेद की प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया गया है। राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी नया राशन कार्ड बनाना चाहते है या पुराने राशन कार्ड का नवीनीकरण करना चाहते है। तो वह खाद्य और आपूर्ति विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है | राज्य के लोग यूपी राशन कार्ड के ज़रिये सरकार द्वारा प्रतिमाह हर शहर  तथा हर गांव में  भेजा जाने वाला राशन जैसे गेहूँ ,चावल ,चीनी आदि रियायती दरों पर प्राप्त कर सकते है। सभी परिवारो को APL,BPL,AAY(अत्योदय) सूची में वर्गीकृत किया है इन श्रेणियों के परिवारों की आर्थिक स्थिति तथा आय के अनुसार  एपीएल ,बीपील ,राशन कार्ड बनाये जाते है। 

  • APL Ration Card राज्य के उन परिवारों के लिए जारी किया गया है जो गरीबी रेखा से ऊपर जीवन यापन कर रहे है |
  • BPL Ration Card राज्य  के उन परिवारों के लिए जारी किया गया है जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे है ।
  • AAY Ration Card उन परिवारो के लिए जारी किया गया है जो बहुत ही ज़्यादा गरीब है और उनके पास कोई आय का साधन नहीं है । राशन कार्ड लोगो की आय के आधार पर जारी किये जाते है |

राशन कार्ड लिस्ट

खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश सरकार के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा APL/BPL राशन कार्ड लाभार्थी की आर्थिक स्थिति के अनुसार बनाए जाते हैं तथा उन्हें सब्सिडी रेट पर सभी खाद्य पदार्थ जो राशन कार्ड के अंतर्गत सूचीबद्ध है प्रदान किए जाते हैं| राज्य के जो इच्छुक इस राशन कार्ड लिस्ट में अपना नाम को खोजना चाहते है तो ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर सूची में अपने नाम की जांच कर सकते है। राज्य सरकार ने परिवार की वार्षिक आय के अनुसार  एपीएल, बीपीएल .तथा अंत्योदय सूची में लोगो को वर्गीकृत किया है |BPL कार्ड धारको को सरकारी नौकरीयों में छूट दी जाती है और परिवार के बच्चों को स्कूलों में भी छात्रवृत्ति मिलती है ।

यूपी सम्पत्ति एवं विवाह पंजीकरण 

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा यूपी सम्पत्ति एवं विवाह पंजीकरण की प्रक्रिया को ऑनलाइन कर जारी कर दिया गया है।  राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी  अपनी सम्पति एवं विवाह  का पंजीकरण करना चाहते है तो वह  स्टाम्प एवं पंजीकरण विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट (IGRSUP) पर ऑनलाइन कर सकते है। यह स्टाम्प एवं पंजीकरण विभाग  उत्तर प्रदेश के लोगो को विभिन्न प्रकार की ऑनलाइन सेवाएं जैसे अचल सम्पति पंजीकरण ,विवाह  पंजीकरण ,भर मुक्त प्रमाण पत्र 12 साला एवं विलेखो प्रमाणित प्रतिलिपि उपलब्ध कराता है |अब लोगो को विवाह प्रमाण पत्र लेने के लिए किसी भी कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

श्रमिक पंजीकरण यूपी

इस योजना का शुभारम्भ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा राज्य के श्रमिकों को लाभ पहुंचाने के लिए किया गया है।  राज्य सरकार इस राज्य सरकार राज्य के सभी मजदूर वर्ग को पंजीकृत होने की सुविधा प्रदान कर रही है इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत हुए मजदूरों को राज्य सरकार सभी सरकारी योजनाओं के लाभ प्रदान  किया जायेगा। इस उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण के ज़रिये राज्य सरकार मजदूर वर्ग के लोगो को आसानी से आर्थिक सहायता प्रदान कर सकेंगी | उत्तर प्रदेश के मजदूरों के लिए शुरू की गयी सभी सरकारी योजनाओ के तहत  प्रदान  की जाने वाली आर्थिक  सहायता सीधे मजदूरों के बैंक खाते में आसानी से पंहुचा दी जाएगी।

उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण आवेदन 

राज्य के जो मजदूर किसी निर्माण क्षेत्र में काम कर रहे है या दिहाड़ी मजदूर है वह लोग श्रम विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर  अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते है और वर्तमान तथा भविष्य में सरकार द्वारा मजदूरों के लिए चलायी जाने वाली सभी कल्याणकारी योजनाओ का लाभ  उठा सकते है |इन सभी योजनाओ का लाभ उठाने के लिए श्रमिकों को सबसे पहले अपना पंजीकरण करवाना होगा और अपना श्रमिक कार्ड बनवाना होगा | Shramik Pnjikaran 2020 करने के लिए आवेदक की आयु न्यूनतम 18 से 60 वर्ष के मध्य होनी चाहिए |

यूपी पेंशन योजना

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के वृद्धजनों ,विकलांग लोगो और विधवा महिलाओ को पेंशन प्रदान करने के लिए यूपी पेंशन योजना का शुभारम्भ किया है।  यूपी पेंशन योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार राज्य के वृद्धजनों ,विकलांग और विधवा महिलाओ को पेंशन धनराशि प्रदान करके आर्थिक  सहायता पंहुचा रही है जिससे वह किसी पर निर्भर न रहे और  अपनी आर्थिक ज़रूरतों को पूरा कर सके।इस योजना का लाभ उठाने के लिए सभी इच्छुक लाभार्थियों को इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करना होगा। राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते है  तो वह योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।   इस योजना के अंतर्गत तीन तरह की पेंशन योजना आती है। जिसकी पूरी जानकारी हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बतायेगे।

उत्तर प्रदेश पेंशन योजना के प्रकार

वृद्धावस्था पेंशन योजना

इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के वृद्धजनों को सरकार द्वारा प्रतिमाह 800 रूपये की पेंशन धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। वृद्धावस्था पेंशन योजना के तहत पहले बूढ़े लोगो को 750 रूपये की पेंशन दी जा रही थी जिसको सरकार द्वारा बढ़कर 800 रूपये महिला कर दिया गया है।  इस योजना के तहत पेंशन धनराशि प्राप्त करके सभी बूढ़े नागरिक अपनी वृद्धावस्था में अच्छे से जीवन यापन कर सकते है।

विधवा पेंशन योजना

विधवा पेंशन योजना विधवा महिलाओ के लिए है इस योजना के अंतर्गत राज्य की विधवा महिलाओ को यूपी सरकार द्वारा प्रतिमाह 500 रूपये की पेंशन धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। जिससे महिलाये अपना भरण पोषण आसानी से कर सकती है और उन्हें किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। इस योजना के कार्यान्वयन से समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग का विकास किया जाएगा।इस योजना के तहत राज्य की केवल उन विधवा  महिलाओ को पात्र माना जायेगा जिनकी स्थिति आर्थिक रूप से कमज़ोर है   इस योजना के तहत सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि सीधे लाभार्थी विधवा महिलाओ के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की जाएगी।

विकलांग पेंशन योजना

इस योजना के तहत राज्य के विकलांग नागरिको को राज्य सरकार द्वारा प्रतिमाह 500 रूपये की धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। इस धनराशि के माध्यम से विकलांग लोग अपना जीवन यापन अच्छे से कर सकेंगे । इस विकलांगता पेंशन योजना के तहत, 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी विकलांग व्यक्तियों और जिसका नाम अखिल भारतीय अंतिम बीपीएल सूची BPL List) में दिखाई देता है, उन्हें प्रति माह 500 रुपये दिए जायेगे। इस UP Viklang Pension के तहत आवेदन करने वाले  व्यक्ति कम से कम 40 % विकलांग होने चाहिए |

यूपी भूलेख

राज्य के नागरिको के लिए उत्तर प्रदेश सरकार यूपी भूलेख की सभी जानकारी ऑनलाइन कर दी है।  राज्य के लोग अब अपनी भूमि से जुडी सभी जानकारी जैसे मि अभिलेख ,खेत के कागज़ात ,खेत का नक्शा ,भूमि का ब्यौरा ,खाता आदि आसानी से ऑनलाइन देख सकते है।  यूपी भूलेख का मतलब है कि भूमि से सम्बंधित लिखित रूप से जानकारी।  इस उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल की सुविधा से पहले राज्य के लोगो को अपनी भूमि कि जमाबंदी ,खसरा ,खतौनी ,भूमि का नक्शा  तथा अन्य सभी जानकारी प्राप्त करने के लिए परवरखाने जाना पड़ता था और बहुत सी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था लेकिन अब राज्य के लोग घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल पर सरलता से ऑनलाइन देख सकते है।

गन्ना पर्ची कैलेंडर

गन्ना पर्ची कैलेंडर देखने के लिए राज्य सरकार गन्ने की खेती करने वाले किसानो को ऑनलाइन पोर्टल की सुविधा प्रदान कर रही है | इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से उत्तर प्रदेश के सभी किसान घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन  अपनी गन्ना सप्लाई से सम्बंधित सभी जानकारी आसानी से  प्राप्त कर सकते है। अब राज्य के किसानो को कही जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इस सुविधा से किसानो के समय की बचत के साथ  साथ धन व्यय नहीं होगा |उत्तर प्रदेश में गन्ने की खेती करने वाले किसान ऑनलाइन  पोर्टल के माध्यम से अपनी चीनी मील से सम्बंधित सर्वे ,पर्ची निर्गमन ,तौल भुगतान एवं विकास सम्बन्धी समस्त जानकारी प्राप्त कर सकते है। राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी गन्ना पर्ची कैलेंडर देखने के लिए इस सुविधा का लाभ उठाना चाहते है तो वह ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर देखा सकते है।

Yogi Yojana List

योगी योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

  • राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी Yogi Yojana का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें  योजनाओ से सम्बंधित आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको आवेदन करे के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जायेगा।
  • आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी को भरना होगा। और फिर सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।

Yogi Yojana लाभार्थियों की सूची कैसे देखे ?

  • राज्य के जिन नागरिको ने Yogi Yojana का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया है और वह लाभार्थियों की सूची में अपना नाम देखना चाहते है
  • तो वह विभिन्न प्रकार की योजनाओ से सम्बंधित विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। और उसके बाद आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर लाभार्थी सूची के अपना नाम देख सकते है।
  • जिन लोगो का नाम इस सूची में आएगा। उन्हें ही Yogi Yojana का लाभ प्राप्त कर सकते है।

Contact Number CM

  • राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी से संपर्क करना चाहते है तो उन्हें जनसुनवाई पोर्टल पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको नीचे संपर्क करे के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
Yogi Yojana
  • इस पेज पर आपको कांटेक्ट नंबर दिखाई देगा आप इस पर संपर्क कर सकते है। राज्य के जो लोग को किसी प्रकार की कोई शिकायत है तो वह  जनसुनवाई पोर्टल पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है। और समस्याओ का समाधान प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment