PM SVANidhi Yojana: स्वनिधि योजना ऑनलाइन आवेदन, स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि

PM Svanidhi Yojana Online Registration, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे, स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर Svanidhi Yojana 2023 Loan Online Apply का एप्लीकेशन स्टेटस, लाभ, हेल्पलाइन नंबर तथा विशेषता देखे |

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 1 जून को  केंद्रीय केबिनेट की बैठक में स्वनिधि योजना को शुरू करने का फैसला लिया है | SVANidhi Yojana के अंतर्गत  देश के रेहड़ी और पटरी वालों (छोटे सड़क विक्रेताओं) को अपना खुद का काम नए सिरे से शुरू करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा 10000 रूपये तक का लोन मुहैया कराया जायेगा | इस स्वनिधि योजना को प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्म निर्भर निधि के नाम से भी जाना जाता है | इस योजना का लाभ देश के सभी  छोटे सड़क विक्रेताओं को उपलब्ध कराया जायेगा | प्यारे दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस स्वनिधि योजना से जुड़ी सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया , पात्रता ,दस्तावेज़ आदि प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े |

स्वनिधि योजना

Table of Contents

SVANidhi Yojana 2023

देश में ग्रामीण और शहरी सड़को के किनारे  स्‍ट्रीट वेंडर जो फल, सब्जियाँ बेचते हैं या रेहड़ी पर छोटी-मोटी दुकान लगाते हैं वे इस SVANidhi Yojana के तहत सरकार द्वारा  10000 रूपये का लोन प्राप्त कर सकते है सरकार द्वारा लिया गया यह ऋण रेहड़ी पटरी वाले लोगो को एक साल के भीतर किस्त में लौटना होगा | इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा। देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा | स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में वेंडर, हॉकर, ठेले वाले, रेहड़ी वाले, ठेली फलवाले आदि सहित 50 लाख से अधिक लोगों को इस योजना से लाभ प्रदान किया जायेगा |

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट 

पीएम स्वनिधि योजना को दिसंबर 2024 तक बढ़ाया

केंद्र सरकार ने पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि (पीएम स्वनिधि) योजना को दिसंबर 2024 तक के लिए बढ़ा दिया है। गुरुवार को केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने लोकसभा में एक लिखित जवाब में कहा कि वेंडिंग जोन के निर्माण से संबंधित विषय स्ट्रीट वेंडर्स (आजीविका का संरक्षण और स्ट्रीट वेंडिंग का विनियम) अधिनियम 2014 के दायरे में आता है। जिसको संबंधित केंद्र शासित प्रदेशों और राज्यों के माध्यम से लागू किया जा रहा है। मंत्रालय ने कहा कि 42 लाख स्ट्रीट वेंडर्स को दिसंबर 2024 तक पीएम स्वनिधि योजना के तहत लाभ प्रदान किया जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार, 31.73 लाख स्ट्रीट वेंडर्स ने पहले 30 नवंबर तक 10 हजार रुपए के ऋण का लाभ उठाया है। जिनमें से 20 लाखों रुपए के ऋण का लाभ 5.81 लाख स्ट्रीट वेंडर्स ने उठाया है। वहीं 6926 रेहड़ी पटवारी वालों ने 50 हजार रुपए के तीसरे दिन का लाभ उठाया है।

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के लाभार्थियों का किया जा रहा है एक सर्वे

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना 2023 के लाभार्थियों एवं उनके परिवार को अब अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ भी प्रदान किया जाएगा। उत्तर प्रदेश के जनपद मिरजापुर में सरकार द्वारा एक सर्वे किया जा रहा है। इस सर्वे में अभी केवल 2500 लाभार्थियों का ही सर्वे हुआ है और 1500 से अधिक लाभार्थियों का सर्वे किया जाना बचा है। SVANidhi Yojana के तहत लाभार्थियों को अन्य योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए अपने आधार कार्ड, मोबाइल नंबर (ओटीपी प्राप्त करने के लिए) को नगरपालिका कार्यालय में लेकर जाना है। इसके बाद लाभार्थियों का रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। इस योजना के तहत जनपद के 3997 लक्ष्य प्राप्त हुए थे और लक्ष्य के सापेक्ष में 4100 से अधिक लोगों को इस योजना का लाभ दिया गया है।

 कर निर्धारण अधिकारी अरविंद यादव ने कहा है कि शहरी पथ विक्रेताओं के परिवार को अन्य योजनाओं का लाभ प्रदान करने के लिए सर्वे जारी है। जिसमें 63% लाभार्थियों का सर्वे किया जा चुका है और जल्द ही बचे हुए लाभार्थियों का सर्वे भी किया जाएगा। इसके बाद शासन को रिपोर्ट भेजी जाएगी। जिससे निश्चित तौर पर योजनाओं का लाभ लाभार्थियों तक पहुंचाया जाएगा।

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना

स्वनिधि योजना का किया गया विस्तार

केंद्र सरकार द्वारा स्वनिधि योजना की वैधता को बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। अब इस योजना को दिसंबर 2024 तक संचालित किया जाएगा। इस योजना की वैधता बढ़ाने की मंजूरी आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति द्वारा प्रदान की गई है। पहले इस योजना को मार्च 2022 तक के लिए लांच किया गया था। इस योजना के माध्यम से लगभग 8100 करोड रुपए का ऋण प्रदान किया जाएगा। पहले यह राशि 5000 करोड़ थी। यह बजट विक्रेताओं को कैशबैक सहित डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए बढ़ाया गया है। लगभग 1.2 करोड़ नागरिकों को इस योजना के माध्यम से लाभ प्राप्त होगा। 25 अप्रैल 2022 तक इस योजना के अंतर्गत 31.9 लाख ऋण को स्वीकृति प्रदान की गई है। जिसके अंतर्गत 2931 करोड़ रुपए की राशि 29.6 लाख लाभार्थियों के खाते में वितरित की गई है।

इसके अलावा 2.3 लाख दूसरे ऋण भी स्वीकृत किए गए हैं। जिसमें से 1.9 लाख ऋण के माध्यम से 385 करोड रुपए की राशि लाभार्थियों के खाते में वितरित की गई है। लाभार्थी स्ट्रीट वेंडरों द्वारा 13.5 करोड़ से अधिक डिजिटल ट्रांजेक्शन किए गए हैं। जिसके माध्यम से उनको 10 करोड़ रुपए तक का कैशबैक प्रदान किया गया है। इसके अलावा ब्याज सब्सिडी के रूप में 51 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान भी किया जा चुका है।

Pradhanmantri SVANidhi Yojana Highlights

योजना का नाम स्वनिधि योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा
लॉन्च की तारीक 1 जून
लाभार्थी रेहड़ी पटरी वाले
 उद्देश्य लोन प्रदान करना

SVANidhi Yojana के लाभार्थियों को प्रदान किया जाएगा अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ

आवास एवं शहरी मामले मंत्रालय द्वारा 14 राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों के 126 शहरों में स्वनिधि से समृद्धि कार्यक्रम आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से देश के लाखों रेहड़ी पटरी वाले एवं उनके परिवारों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जाती है। जिससे कि उनका आजीविका का साधन बन सके। केरोनावायरस महामारी के कारण देश के स्ट्रीट वेंडर की आजीविका को हानि पहुंची है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा SVANidhi Yojana का शुभारंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से ₹10000 रुपए का ऋण प्रदान किया जाता है। 4 जनवरी को इस योजना को 125 शहरों में आरंभ किया गया था।

  • पहले चरण में इस योजना के माध्यम से लगभग 35 लाख स्ट्रीट वेंडर एवं उनके परिवारों को लाभ प्रदान किया गया था। इस योजना के दूसरे चरण को वित्त वर्ष 2022- 23 में संचालित किया गया है। जिसके माध्यम से 28 लाख स्ट्रीट वेंडर को लाभवंती किया गया है। SVANidhi Yojana के दूसरे चरण में भी 126 शहरों को चुना गया था। इस योजना का मुख्य उद्देश्य स्ट्रीट वेंडर को एक किफायती कार्यशील पूंजी ऋण प्रदान करना है।
  • इसके अलावा इस योजना के लाभार्थियों को भारत सरकार की अन्य कल्याणकारी योजनाओं से भी जोड़ा जाता है। इन योजनाओं में प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, पीएम सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जन धन योजना, भवन और अन्य निर्माण श्रमिकों के तहत पंजीकरण अधिनियम, प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना आदि शामिल है।

अब तक स्वीकृत किए गए कुल 30.75 लाख ऋण

केंद्र सरकार द्वारा अब तक स्वनिधि योजना के अंतर्गत 2714 करोड़ रुपए के 27.06 लाख ऋण वितरित किए गए हैं। 13 दिसंबर तक कुल 30.75 लाख ऋण स्वीकृत कर दिए गए हैं जिसके माध्यम से 3095 करोड़ रुपए की राशि प्रदान की जाएगी। इस बात की जानकारी आवास और शहरी मामले मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई है। 27.06 लाख ऋण अब तक लाभार्थियों को प्रदान किए जा चुके हैं। जिसके लिए सरकार द्वारा 2714 करोड़ रुपए की राशि मुहैया की गई है। कुल वितरित किए गए ऋण में से 41% लाभार्थियों की संख्या महिलाओं की है। महाराष्ट्र मै 224.24 करोड़ रुपए के 222714 ऋण स्वीकृत किए गए हैं और 188.21 करोड़ रुपए के 187502 ऋण वितरित किए गए हैं। झारखंड में 28.77 करोड रुपए के 28466 ऋण स्वीकृत किए गए हैं और 26.48 करोड़ रुपए के 26297 ऋण वितरित किए गए हैं।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा वितरित किए जाएंगे ऋण

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा 29 अगस्त को बालाघाट में SVANidhi Yojana के अंतर्गत ऋण वितरण किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी लाभार्थियों से संवाद भी करेंगे। कार्यक्रम में शहरी विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह भी उपस्थित होंगे। इस कार्यक्रम को विभिन्न मीडिया प्लेटफॉर्म एवं क्षेत्रीय टीवी समाचार में वेबकास्ट लिंक के माध्यम से प्रसारित किया जाएगा। इस अवसर पर मंत्रियों, सांसदों, विधायकों एवं अन्य जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया गया है। 1 जुलाई से मार्च 2022 तक SVANidhi Yojana के पहले चरण में कुल 402000 शहरी पथ विक्रेताओं को ऋण वितरित करने का लक्ष्य मध्य प्रदेश में निर्धारित किया गया था। इसके विपरीत 350000 विक्रेता लाभवंती हो चुके हैं। इस योजना के पहले चरण में मध्य प्रदेश इस योजना के कार्यान्वयन में दूसरे नंबर पर है।

दूसरे चरण के कार्यान्वयन में मध्य प्रदेश पहले स्थान पर

पूरे मध्य प्रदेश में 672000 शहरी पथ विक्रेताओं को पहचान पत्र जारी किए गए हैं। स्वनिधि योजना के पहले चरण में 12 मार्च तक 3 लाख विक्रेताओं को प्रति लाभार्थी ₹10000 की दर से 300 करोड़ रुपए का ऋण वितरित किए जा चुके हैं। इसके बाद अब तक 50000 नए शहरी रेहड़ी पटरी वाले को ₹10000 की दर से ₹50 करोड़ रुपए के ऋण दिए जा चुके हैं। वह सभी रेहड़ी पटरी वाले जो डिजिटल माध्यम से लेनदेन करते हैं उनको अब तक करीब 11 लाख रुपए का कैशबैक प्रदान किया जा चुका है।

इस योजना के अंतर्गत डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए लाभार्थियों को प्रतिमाह ₹100 का कैशबैक प्रदान किया जाता है। 18 अगस्त से इस योजना का दूसरा चरण आरंभ हो गया है। वह सभी लाभार्थी जिन्होंने पहले चरण के ₹10000 रुपए का ऋण पूरी तरह से चुका दिया है उनको दूसरे चरण में ₹20000 का ऋण प्रदान किया जाएगा। 600 रेहड़ी पटरी वालों को पहले ही ₹20000 का ऋण मिल चुका है। देश भर में कुल 1200 लाभार्थियों को दूसरे चरण के अंतर्गत ऋण वितरित किए जा चुके हैं। इस योजना के दूसरे चरण के कार्यान्वयन में मध्य प्रदेश देश में पहले स्थान पर है।

SVANidhi Yojana के अंतर्गत प्राप्त होने वाली सब्सिडी

SVANidhi Yojana के माध्यम से देश की रेहड़ी पटरी वाले विक्रेताओं को ₹10000 का ऋण उपलब्ध करवाया जाता है। इस योजना को कोरोनावायरस महामारी को ध्यान में रखते हुए आरंभ किया गया है। वह सभी नागरिक जो सड़क पर छोटे-मोटे सामान की बिक्री करके अपना उद्योग आरंभ करना चाहते हैं उनको इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा  इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को 7% की दर से ब्याज सब्सिडी प्रदान की जाएगी। सब्सिडी की राशि ऋण प्राप्त करने वाले लाभार्थी के खाते में हर तिमाही में जमा की जाएगी। 30 जून को सभी लाभार्थियों के खाते में ऋण दाताओं द्वारा सब्सिडी जमा की गई है। अब अगली सब्सिडी 30 दिसंबर को जमा की जाएगी।

PM SVANidhi Yojana के अंतर्गत प्रदान किए गए 26 से अधिक ऋण

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना को 2 जुलाई को आरंभ किया गया था। इस योजना को करोना महामारी के दौरान व्यवसाय में संकट का सामना कर रहे रेहड़ी पटरी वालों की मदद करने के लिए आरंभ किया गया था। SVANidhi Yojana के माध्यम से रेहड़ी पटरी वालों को ₹10000 तक का ऋण उपलब्ध करवाया जाता है। यह ऋण गारंटी मुक्त होता है। लाभार्थी को इस योजना के अंतर्गत प्राप्त हुई राशि का भुगतान 1 साल की अवधि के भीतर करना होता है। अब तक इस योजना के माध्यम से 26 लाख से अधिक लाभार्थियों को लोन मुहैया कराया जा चुका है।

इस योजना के माध्यम से सूक्ष्म वित्तीय सुविधाओं में बढ़ोतरी हो रही है एवं उद्यमिता एवं आत्मनिर्भर भारत का संकल्प भी पूरा हो रहा है। यह योजना रेहड़ी पटरी वाले नागरिकों को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाने में कारगर साबित होगी।

सार्वजनिक डोमेन पर करा जाएगा डाटा उपलब्ध

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं SVANidhi Yojana के माध्यम से रेहड़ी पटरी वालों को ₹10000 का ऋण मुहैया करवाया जाता है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सरकार द्वारा सभी लाभार्थियों के लिए एक पात्रता निर्धारित की गई है। इस पात्रता के अनुसार सभी नागरिकों का चयन किया जाएगा। चयन करने के पश्चात राज्य संघ राज्य क्षेत्र यूएलबी वार्ड द्वारा पहचान किए गए स्ट्रीट वेंडर की सूची मंत्रालय द्वारा राज्य सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध करवाई जाएगी। इस सूची के माध्यम से सभी नागरिक अपना नाम देख सकेंगे। इस योजना के माध्यम से प्रदान की जाने वाली राशि डिजिटल माध्यम से लाभार्थियों के खाते में वितरित की जाएगी।

उत्तर प्रदेश में SVANidhi Yojana के अंतर्गत प्रदान किए गए 58629 लाभार्थियों को ऋण

SVANidhi Yojana को हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 1 जून को आरंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से रेहड़ी और पटरी विक्रेताओं को ₹10000 का ऋण मुहैया करवाया जाता है। इस योजना का लाभ देश के सभी पात्र लाभार्थी उठा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के रेहड़ी और पटरी विक्रेताओं को भी इस योजना का लाभ प्रदान किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के 17 नगर निगमों सहित समस्त नगर निकाय में इस योजना का कार्यान्वयन किया जा रहा है। अब तक इस योजना के अंतर्गत लगभग 9,47,000 शहरी पथ विक्रेताओं का डाटा वितरण योजना के पोर्टल पर उपलब्ध करवाया गया है।

स्वनिधि योजना के माध्यम से नगर निकायों के 9,55,870 ऑनलाइन आवेदन प्राप्त हुए हैं इनमें से 6,30,473 लाभार्थियों को स्वीकृति प्रदान कर दी गई है और 5,68,629 लाभार्थियों के ऋण अब तक वितरित किए जा चुके हैं। इसके अलावा प्रदेश के 17 नगर निगमों में अब तक 4,83,373 पंजीकरण प्राप्त हुए है। जिनमें से 2,99,223 लाभार्थियों को स्वीकृति प्रदान कर दी गई है एवं 2,65,474 ऋण हस्तांतरित किए जा चुके हैं। इस बात की जानकारी उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन जी के द्वारा प्रदान की गई है। उत्तर प्रदेश में 7 जून तक कुल 568629 लाभार्थियों को लाभ प्रदान किया जा चुका है। यदि लाभार्थियों द्वारा इस योजना के अंतर्गत प्राप्त हुए ऋण का भुगतान समय से कर दिया जाता है तो सरकार द्वारा 7% की ब्याज सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी।

SVANidhi Yojana: जम्मू कश्मीर में 72 रेहड़ी वालों को लोन प्रदान किया गया

लॉकडाउन के कारण रेहड़ी और पटरी वालों ने आर्थिक नुकसान का सामना किया है। इस नुकसान से उभरने के लिए तथा अपना व्यवसाय दुबारा से आरंभ करने के लिए सरकार द्वारा स्वनिधि योजना का आरंभ किया गया था। इस योजना के अंतर्गत सभी रेहड़ी और पटरी वालों को ₹10000 का लोन प्रदान किया जा रहा है। जम्मू कश्मीर बैंक के सहयोग से बड़ी-ब्राह्मणा नगर पालिका समिति द्वारा एक दो दिवसीय जागरूकता शिविर आयोजित किया गया था। इस शिविर के अंतर्गत 72 रेहड़ी और पटरी वालों को लोन प्रदान किया गया है।

  • इस शिविर का आयोजन अर्बन लोकल बॉडीज जम्मू के डायरेक्टर असगर हुसैन के निर्देश पर किया गया था। स्वनिधि योजना के अंतर्गत लाभार्थियों का पंजीकरण किया गया और फिर इन पंजीकृत लाभार्थियों में से 72 लाभार्थियों को अपना रोजगार चलाने के लिए लोन प्रदान किया गया। बाकी प्राप्त पंजीकरण पर विचार किया जा रहा है। संबंधित बैंक के साथ विचार करके बाकी लोगों को भी लोन प्रदान किया जाएगा।
  • सरकार द्वारा सभी रेहड़ी और पटरी वालों से निवेदन किया गया है कि वह जल्द से जल्द स्वनिधि योजना के अंतर्गत अपना आवेदन करवाएं और इस योजना का लाभ उठाएं।

विक्रेताओं द्वारा डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा

SVANidhi Yojana के माध्यम से कैशबैक सुविधा प्रदान करके विक्रेताओं को डिजिटल लेनदेन में प्रोत्साहित किया जाएगा। डिजिटल माध्यम से किए गए लेनदेन के माध्यम से विक्रेताओं के क्रेडिट स्कोर में भी बढ़ोतरी होगी। जिससे कि उन्हें भविष्य में लोन प्राप्त करने में आसानी होगी। गूगल पे, अमेजॉन पे, भारत पे आदि जैसे डिजिटल भुगतान एग्रीगेटर नेटवर्क का इस्तेमाल स्ट्रीट वेंडर के अंतर्गत डिजिटल लेनदेन को प्रोत्साहित करने के लिए किया जाएगा। सभी ऑनबोर्ड विक्रेताओं को ₹50 से ₹100 तक का कैशबैक प्रदान किया जाएगा। एक माह में 50 एलिजिबल ट्रांजैक्शन करने पर ₹50 का कैशबैक, इसके बाद अगले 50 ट्रांजैक्शन करने पर ₹25 और उसके बाद अगले ₹100 या उससे ज्यादा ट्रांजैक्शन करने पर ₹25 प्रदान किए जाएंगे। कुल मिलाकर विक्रेताओं को ₹100 का कैशबैक एक माह में प्रदान किया जाएगा।

स्वनिधि योजना आवेदन

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं स्वनिधि योजना का आरंभ कोरोना वायरस के संकट को देखते हुए स्ट्रीट वेंडर्स को आर्थिक सहायता प्रदान करने लिए किया गया था। इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक लाभार्थी को ₹10000 की आर्थिक सहायता सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी। यह आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए स्ट्रीट वेंडर्स को आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। अब तक स्वनिधि योजना के अंतर्गत 27.33 लाख आवेदन प्राप्त हो चुके हैं। इस योजना के अंतर्गत 14.34 आवेदनों को मंजूरी दे दी गई है। स्वनिधि योजना के अंतर्गत ₹7.88 लाख रुपए का कर्ज वितरित अब तक कर दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए बैंक से भी आवेदन पत्र प्राप्त किया जा सकता है।

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत कौन कौन लोन दे सकता है

  • शेड्यूल्ड कमर्शियल बैंक
  • रीजनल रूरल बैंक्स
  • स्मॉल फाइनेंस बैंक
  • कोऑपरेटिव बैंक
  • नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनीज
  • माइक्रोफाइनेंस इंस्टीट्यूशन
  • सेल्फ हेल्प ग्रुप बैंक्स
  • स्त्री निधि आदि

SVANidhi Yojana: एकीकृत आईटी प्लेटफार्म तथा कार्यान्वयन

SVANidhi Yojana के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए प्रशासन द्वारा एक एकीकृत प्लेटफार्म विकसित किया जाएगा। यह एकीकृत प्लेटफार्म प्रशासन को वन स्टॉप सॉल्यूशन प्रदान करेगा। मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स एल एवं अर्बन अर्बन लोकल बॉडी के माध्यम से इस योजना का कार्यान्वयन किया जाएगा। अर्बन लोकल बॉडी द्वारा ही लाभार्थी का सत्यापन इस योजना के अंतर्गत किया जाएगा। सत्यापन के लिए लाभार्थी के मोबाइल पर एक ओटीपी भेजा जाएगा जिसको प्रदान करके लाभार्थियों अपना सत्यापन करवा सकेगा। इस योजना। इस योजना के कार्यान्वयन के लिए स्मॉल इंडस्टरीज डेवलपमेंट बैंक ऑफ़ इंडिया इंप्लीमेंटेशन पार्टनर होंगी।

SVANidhi Yojana 3 लाख वेंडर को लोन

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं स्वनिधि योजना के अंतर्गत फुटपाथ पर दुकान लगाने वाले स्ट्रीट वेंडरों की आर्थिक सहायता की जा रही है। इसके लिए आत्मनिर्भर भारत पैकेज में 50 हजार करोड़ रूपये का पैकेज भी निर्धारित किया गया था। अब सरकार द्वारा यह घोषणा की गई है कि मंगलवार को होने वाले कार्यक्रम में हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी तीन लाख स्ट्रीट बेंडर को ₹10000 का लोन बाटेंगे। इस लोन को प्राप्त करने के लिए स्ट्रीट वेंडर के पास निगम द्वारा जारी किया गया पहचान पत्र होना अनिवार्य है पर यदि स्ट्रीट वेंडर्स पंजीकृत नहीं है तो भी वह स्वनिधि योजना के अंतर्गत ऑनलाइन तथा ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत प्राप्त हुए लोन को लाभार्थियों को 1 साल के अंदर आसान किस्तों में तथा कम ब्याज दर में अदा करना होगा।

आपको बता दें कि इस योजना के अंतर्गत 7% का ब्याज अनुदान भी प्रदान किया जाएगा। इसका मतलब यह है कि इससे ज्यादा का ब्याज सरकार भरेगी। पीएम स्वनिधि योजना के माध्यम से छोटे छोटे व्यापार करने वाले वेंडर की आर्थिक मदद होगी जिससे वह अपना काम जारी रख सकेंगे।

Aatmnirbhar Nidhi Yojana (Steet Vender ) New Update

आत्मनिर्भर निधि योजना के अंतर्गत रेहड़ी, पटरी लगाने वाले छोटे कारोबारी को 10,000 रुपये तक का कर्ज देशभर में फैले 3.8 लाख साझा सेवा केन्द्रों (सीएससी) केन्द्रों के जरिये प्रदान किया जायेगा। सरकार की डिजिटल और ई- गवर्नेंस सेवा इकाई सीएससी ई- गवर्नेंस सविर्सिज इंडिया लिमिटेड ने बुधवार को यह कहा है कि प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना पूरी तरह से आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा वित्तपोषित है इस योजना के तहत कर्ज लेने वाले इन उद्यमियों को कर्ज का नियमित रूप से भुगतान करने के लिए प्रोत्साहन भी दिया जायेगा और डिजिटल लेनदेन पर पुरस्कृत भी किया जायेगा। सीएससी योजना के तहत इन छोटे कारोबारियों का पंजीकरण करने में मदद करेगी अब तक इस योजना के तहत दो लाख आवेदन प्राप्त हुये हैं जबकि 50 हजार कारोबारियों को कर्ज मंजूर किया गया है।

SVANidhi Yojana: स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि का उद्देश्य

जैसे की आप सभी लोग जानते है कि पूरे देश में कोरोना वायरस महामारी का सक्रमण चल रहा है इस संक्रमण से लोगो को बचाने के लिए  प्रधानमंत्री द्वारा पूरे देश में 30 जून तक लॉक डाउन कर दिया है  इसी वजह से देश के  रेहड़ी-पटरी वालों ,और ठेले पर सामान बेचने वाले  अपना जीवन यापन करने के लिए काम नहीं कर पा रहे है | जिसकी वजह से उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है इस समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने इस योजना को शुरू करने की घोषणा की है | स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत रेहड़ी पटरी वालो को अपना काम दोबारा से शुरू करने के लिए सरकार द्वारा लोन मुहैया कराना | इस योजना के ज़रिये रेहड़ी पटरी वालो को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना और गरीब लोगो की स्थिति में सुधार करना |

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सोमवार 26th अक्टूबर को ट्वीट करते हुए कहा कि वह उत्तर प्रदेश के भाइयों और बहनों से बातचीत करेंगे जो सड़क पर सामान बेचते हैं। जिससे कि वह यह जान पाए कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत उन्हें लाभ मिल रहा है या नहीं। इस योजना के अंतर्गत अब तक 24 लाख एप्लीकेशन सरकार द्वारा प्राप्त की गई हैं। जिसमें से 557000 एप्लीकेशन उत्तर प्रदेश से प्राप्त की गई हैं। इन 557000 एप्लीकेशन में से 3.27 लाख एप्लीकेशन सरकार द्वारा अप्रूव कर दी गई है। जिसके लिए 1.87 लाख रुपए स्ट्रीट वेंडर को प्रदान किए गए हैं। कुल 24 लाख प्राप्त एप्लीकेशन में से 12 लाख एप्लीकेशन ऐप्रोव कर दी गई है। जिसके लिए 5.35 लाख का लोन प्रदान कर दिया गया है।

स्वनिधि योजना में अब तक कितने लोगो को लाभ दिया गया

SVANidhi Yojana के अंतर्गत 2 जुलाई को ऋण देने की प्रक्रिया शुरू होने के बाद, राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों में 1.54 लाख से अधिक सड़क विक्रेताओं ने कार्यशील पूंजी ऋण के लिए आवेदन किया है। स्ट्रीट वेंडरों से प्राप्त इन ऋण आवेदनों में से, 48,000 से अधिक को पहले से ही पीएम स्ट्रीट वेंडर की आत्मनिर्भर  निधि योजना के तहत ऋण स्वीकृत किया गया है। इस योजना के शुरू होने से लेकर अब तक आय आवेदनों की संख्या 5 लाख का आंकड़ा पार कर चुकी है। पीएम स्वनिधि योजना में 41 दिनों के अंदर ही 1 लाख से अधिक लोन मंजूर कर दिए गए हैं। PM स्वनिधि स्कीम को आवास व शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा आत्मनिर्भर भारत अभियान के हिस्से के रूप में लॉन्च किया गया है।

SVANidhi Yojana Statistics

Total applications28,45,870
Sanctioned15,26,313
Disbursed10,07,536
Number of branches onboarded1,46,966
Sanctioned amountRs 1,521.56 crore
Disbursed amountRs 989.37 crore
Number of SVs accepting digital payment10,07,536
Total cashback paid to SVsRs 56,050
Total interest subsidy paidRs 0
Number of LoR application received11,43,547
Number of LoR applications approved8,42,107
Number of LoR applications rejected34, 422
Average days to sanction24
Average age of the applicant in years40

SVANidhi Yojana मुख्य तथ्य

  • स्वनिधि योजना के अंतर्गत केवल उन्हीं राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के स्पीड वेंडर भाग ले सकते हैं जहां स्ट्रीट वेंडर अधिनियम 2014 के अंतर्गत नियमों और योजनाओं की अधिसूचना है।
  • इस योजना के अंतर्गत उन सभी स्ट्रीट वेंडर को पात्र माना जाएगा जो वेंडिंग के काम में 24 मार्च से पहले से हैं।
  • सभी स्ट्रीट वेंडर को लगभग ₹10000 का ऋण 1 वर्ष के लिए उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • इस लोन पर किसी प्रकार की सिक्योरिटी नहीं देनी होगी।
  • इस लोन को 1 साल की अवधि के अंदर अंदर मासिक किस्त के माध्यम से वापस करना होगा।
  • यदि लाभार्थी द्वारा समय पूरा होने से पहले या फिर समय पर पूरा पैसे चुका दिया जाए तो लाभार्थी को ₹10000 से ज्यादा का लोन अगले वर्ष प्रदान किया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को ब्याज अनुदान भी प्रदान किया जाएगा। यह ब्याज अनुदान 7% का होगा। जो कि हर 4 महीने में लाभार्थी के खाते में भेजा जाएगा। यह अनुदान 31 मार्च तक प्रदान किया जाएगा।

SVANidhi Yojana के लाभ

  • इस योजना का लाभ सड़क के किनारे रेहड़ी पटरी वालो को प्रदान किया जायेगा |
  • स्वनिधि योजना के अंतर्गत शहरी / ग्रामीण क्षेत्रों के आस-पास सड़क पर माल बेचने वाले विक्रेताओं को इसमें लाभार्थी बनाया गया है।
  • देश के स्ट्रीट वेंडर सीधा 10,000 रुपये तक की कार्यशील पूंजी ऋण का लाभ उठा सकते हैं। जिसे वे एक वर्ष में मासिक किस्तों में चुका सकते हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत 50 लाख से अधिक लोगो को लाभ पहुंचाया जायेगा |
  • इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा।
  • SVANidhi Yojana के तहत जुर्माने का कोई प्रावधान नहीं है।
  • यह प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए लोगों की क्षमता को बढ़ाने और कोरोना संकट के समय कारोबार को नए सिरे से खड़ा कर आत्मनिर्भर भारत अभियान को सफल बनाने का काम करेगी।
  • लोगों को पीएम स्ट्रीट आत्मनिर्भर निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट (लॉन्च की जाने वाली) पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा या प्रारंभिक कार्यशील पूंजी ऋण प्राप्त करने के लिए बैंकों में ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • इससे ये लोग कोरोना संकट के समय अपने कारोबार को नए सिरे से खड़ा कर आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति देंगे.’
  • इस योजना के तहत आपको खाते में पूरा पैसा तीन बार में आएगा यानी हर तीन महीने पर एक किश्त मिलेगी। यह लोन आपको सात फीसदी ब्याज पर मिलेगा।
स्वनिधि योजना

स्वनिधि योजना के पात्र लाभार्थी कौन कौन है

  • नाई की दुकानें
  • जूता गांठने वाले (मोची)
  • पान की दूकानें (पनवाड़ी)
  • कपड़े धोने की दूकानें (धोबी)
  • सब्जियां बेचने वाले
  • फल बेचने वाले
  • रेडी-टू-ईट स्ट्रीट फूड
  • चाय का ठेला या खोखा लगाने वाले
  • ब्रेड, पकौड़े व अंडे बेचने वाले
  • फेरीवाले जो वस्त्र बेचते हैं
  • किताबें/स्टेशनरी लगाने वाले
  • कारीगर उत्पाद

पीएम स्वनिधि योजना स्टेटस

1st टर्म लोन

Total applications4496849
Sanctioned2690294
Disbursed2442062
Returned by banks736931
Ineligible653534
Loans repaid66666

2nd टर्म लोन

Total application5474
Sanctioned2711
Disbursed1158

कौन देगा लोन

  • अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • स्मॉल फाइनेंस बैंक
  • सहकारी बैंक
  • नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां
  • माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूंशंस और एसएचजी बैंक

SVANidhi Yojana की पात्रता

  • वह स्ट्रीट बेंडर इस योजना का लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं जिनके पास वेंडिंग का सर्टिफिकेट या फिर आईडेंटिटी कार्ड है।
  • वह विक्रेता जिनकी सर्वेक्षण में पहचान की गई है लेकिन उन्हें वेंडिंग या फिर पहचान का प्रमाण जारी नहीं किया गया है।
  • ऐसे सभी विक्रेताओं के लिए एक आईडी आधारित प्लेटफार्म के माध्यम से अंतिम वेंडिंग प्रमाण पत्र तैयार किया जाएगा।
  • सरकार द्वारा यूएलबी को भी प्रोत्साहित किया जाता है कि वह ऐसे विक्रेताओं को एक महीने की अवधि के भीतर तत्काल और सकारात्मक रूप से वेंडिंग और पहचान पत्र का स्थाई प्रमाण पत्र जारी करें।
  • वह स्ट्रीट बेंडर जो यूएलबी पहचान सर्वेक्षण से बाहर हो गए हैं या उन्होंने सर्वेक्षण पूरा होने के बाद वेंडिंग आरंभ की है और यूएलबी या टाउन वेंडिंग कमेटी द्वारा इस आशय का सिफारिश पत्र जारी किया गया है।
  • वह विक्रेता जो शहरी स्थानीय निकाय की भौगोलिक सीमाओं में बिक्री करते हैं। और उनको यूएलबी या फिर टीवीसी द्वारा इस आशय का सिफारिश पत्र जारी किया गया है।

स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना के दस्तावेज़

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

स्वनिधि योजना में आवेदन कैसे करे ?

देश के जो इच्छुक  रेहड़ी और पटरी वाले लाभार्थी स्वनिधि योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा लाभ प्राप्त करना चाहते है तो उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा इन सभी कार्यक्रमों के साथ मिल कर सभी हितधारकों और आईईसी गतिविधियों की क्षमता निर्माण के लिए वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम का पूरे देश में जून में शुभारंभ होगा और जुलाई के महीने में लोन मिलना शुरू हो जाएगा। प्रारंभिक कार्यशील पूंजी ऋण प्राप्त करने के लिए बैंकों में ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे।

  • सर्वप्रथम आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • Official Website पर जाने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर होम पेज खुल जायेगा।
स्वनिधि योजना - SVANidhi Yojana
  • इस होम पेज पर आपको Planning to Apply for Loan का ऑप्शन दिखाई देगा ।  जिसके बाद Planning to Apply for Loan के सेक्शन सभी 3 स्टेप्स को ध्यान से पढ़ कर आगे बढ़ना है और View More के बटन पर क्लिक करना होगा ।
  • इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा। इस पेज पर आपको View / Download Form के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। जिसके बाद आपके सामने स्वनिधि योजना के फॉर्म की पीडीएफ  खुल जायेगा।
स्वनिधि योजना
  • आप इस योजना की पीडीएफ को डाउनलोड कर सकते है। एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करने के बाद आपको इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी भरनी होगी। सभी जानकारी भरने के बाद आपको एप्लीकेशन के साथ अपने सभी जरुरी दस्तावेज़ों को अटैच करना होगा।
  • इसके बाद आपके एप्लीकेशन फॉर्म को नीचे बताये  गए संस्थानों में जाकर जमा करना होगा। नीचे संस्थानों की सूची दिखाई गयी है |

स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना के अंतर्गत लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको पीएम स्वनिधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आप के सामने होम पेज खोलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Login के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आप अपनी कैटेगरी के अनुसार लिंक पर क्लिक करना होगा जोगी कुछ इस प्रकार है।
    • एप्लीकेंट
    •  लेंडर
    • मिनिस्ट्री/स्टेटस/यूएलबी
    • सीएससी कनेक्ट
    • सिटी नोडल ऑफिसर
  • अब आपके सामने एक नया फॉर्म खुल कर आएगा जिस में आपको अपना यूजरनेम तथा पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • अब आपको लॉगिन के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप लॉगिन कर पाएंगे।

SVANidhi Yojana: एप्लीकेशन स्टेटस चेक करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको स्वनिधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको नो योर एप्लीकेशन स्टेटस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
SVANidhi Yojana एप्लीकेशन स्टेटस चेक
  • अब आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपका एप्लीकेशन नंबर, मोबाइल नंबर तथा ओटीपी दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको सर्च के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • आपका एप्लीकेशन स्टेटस आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगा।

SVANidhi Yojana: लोन देने वाले संस्थानों की सूची कैसे देखे ?

  • सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा। 
  • इस होम पेज पर आपको नीचे View More के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा। इस पेज पर आपको Lenders List का विकल्प दिखाई देगा।
SVANidhi Yojana
  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगले पेज पर आपके सामने बैंक की सूची खुल जाएगी।
  • इस सूची को देखने के बाद आप जिसमे चाहे वहाँ जाकर अपना एप्लीकेशन फॉर्म जमा कर सकते है।

अपनी सर्वेक्षण स्थिति / सड़क विक्रेता सर्वेक्षण खोज की जाँच करें?

  • सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा। इस होम पेज पर आपको नीचे view more के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज खुल जायेगा।  इस पेज पर आपको Vendor Survey List का विकल्प दिखाई देगा |
SVANidhi Yojana
  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक करने के बाद एक फॉर्म खुलकर आ जायेगा।  आपको इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे राज्य का नाम, शहरी स्थानीय निकायों (ULB), Street Vendor यानि अपना नाम, पिता / पत्नी / पति का नाम, मोबाइल नंबर, certificate of vending no. आदि भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Search  के बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद अपनी सर्वेक्षण स्थिति / सड़क विक्रेता सर्वेक्षण खोज की जाँच कर सकते है।

SVANidhi Yojana: पीएम स्वनिधि ऐप की विशेषताएं

  • सर्वेक्षण के आंकड़ों में विक्रेता की खोज
  • आवेदकों का ई-केवाईसी
  • ऋण आवेदनों का प्रसंस्करण
  • वास्तविक समय में निगरानी

पीएम स्वनिधि मोबाइल ऍप डाउनलोड कैसे करे?

जैसे की आप सभी लोग जानते है कि आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने 29 जून को http://pmsvanidhi.mohua.gov.in/ वेबसाइट को पहले ही लॉन्च कर दिया है। अब MoHUA ने PM Svanidhi मोबाइल ऐप लॉन्च किया है। देश के  रेहड़ी और पटरी वाले ,छोटे सड़क विक्रेता लोग अब डायरेक्ट लिंक के माध्यम से अपने स्मार्टफोन पर पीएम Svanidhi Mobile App को अपने स्मार्टफोन पर डाउनलोड और इंस्टॉल कर सकते हैं और इस योजना के अंतर्गत अपना खुद का रोजगार शुरू करने के लिए आसानी आवेदन कर सकते है।मोबाइल ऍप डाउनलोड करने की पूरी जानकारी हमने नीचे दी हुई है।

  • देश के लोग इस मोबाइल ऍप डाउनलोड करने के लिए आपको सबसे पहले अपने एनरोइड मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर पर जाना होगा।
  • गूगल प्ले स्टोर पर जाने के बाद आपको सर्च बार में पीएम स्वनिधि ऍप को सर्च करना होगा और फिर आपको  इन्टॉल के बटन पर क्लिक करना होगा। 
  • Google Play Store से PM Svanidhi Mobile App डाउनलोड करने का सीधा लिंक जल्द ही यहां अपडेट किया जाएगा। उसके बाद आप बड़ी ही आसानी से इस योजना का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।

SVANidhi Yojana: Payment Aggregator

  • सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको Planning to APPLY for Loan के नीचे view more के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
    ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आपको Payment Aggregator के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको बहुत सारी ऑप्शन दिखाई देगा। आप इनमे से किसी से भी भुगतान एग्रीगेटर कर सकते है।

लेटर आफ रिकमेंडेशन के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको पीएम स्वनिधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आप के सामने होम पेज खोलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको अप्लाई फॉर एल ओ आर के लिंक पर क्लिक करना होगा।
लेटर आफ रिकमेंडेशन
  • अब आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा जिसमें आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको रिक्वेस्ट ओटीपी के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके मोबाइल पर आपको एक ओटीपी प्राप्त होगा जो आपको ओटीपी बॉक्स में भरना होगा।
  • इसके बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक फॉर्म खुलकर आएगा जिसमें पूछी गई सभी जानकारी आपको ध्यान से भरनी होगी।
  • इसके बाद आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना होगा।
  • अब आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप लेटर आफ रिकमेंडेशन के लिए आवेदन कर पाएंगे।

PMS डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको पीएम स्वनिधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको PMS डैशबोर्ड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
SVANidhi Yojana PMS डैशबोर्ड
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप पीएमएस डैशबोर्ड देख सकते हैं।

SVANidhi Yojana: 20k के लोन के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको पीएम स्वनिधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको अप्लाई लोन 20k के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
SVANidhi Yojana 20k के लोन के लिए आवेदन
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर या फिर आधार नंबर दर्ज करके लॉगइन करना होगा।
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल कर आएगा।
  • आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इसके पश्चात आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • अब आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप लोन के लिए आवेदन कर पाएंगे।

SVANidhi Yojana: असम तथा मेघालय में लोन के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको पीएम स्वनिधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको अप्लाई लोन (असम मेघालय) के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
svanidhi yojana
  • इसके पश्चात आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करके लॉगइन करना होगा।
  • अब आपके सामने आवेदन पत्र खुल कर आएगा।
  • आप को आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करना होगा।
  • अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • इसके बाद आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप आसाम तथा मेघालय में लोन के लिए अप्लाई कर पाएंगे।

आधार से लिंक मोबाइल नंबर बदलने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको पीएम स्वनिधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको If you want to change your mobile number, please click here and login with Aadhar and change your mobile number के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
आधार से लिंक मोबाइल नंबर बदलने की प्रक्रिया
  • अब आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • आपको इस पेज पर अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको गेट ओटीपी के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको प्राप्त हुआ ओटीपी को ओटीपी बॉक्स में दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आप को वेरीफाई आधार के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल पर आएगा।
  • आपको इस पेज पर पूछे गए सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप अपना मोबाइल नंबर चेंज कर पाएंगे।

SVANidhi Yojana: वेंडर सर्वे लिस्ट देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको पीएम स्वनिधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको स्कीम इंस्ट्रक्शंस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको वेंडर सर्वे लिस्ट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
SVANidhi Yojana वेंडर सर्वे लिस्ट
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी।
    • स्टेट
    • ULB नेम
    • वेंडर आईडी कार्ड नंबर
    • सर्टिफिकेट ऑफ वेंडिंग नंबर
    • नेम ऑफ स्ट्रीट वेंडर
    • फादर्स नेम/स्पाउज नेम
    • मोबाइल नंबर
  • इसके पश्चात आपको सर्च कर विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

SVANidhi Yojana: नोटिफाइड स्टेट एवं यूनियन टेरिटरी की सूची देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको SVANidhi Yojana की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको नोटिफाइड स्टेट/यूटी के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
SVANidhi Yojana नोटिफाइड स्टेट एवं यूनियन टेरिटरी की सूची
  • अब आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आप नोटिफाइड स्टेट एवं यूनियन टेरिटरी की सूची देख सकेंगे।

अर्बन लोकल बॉडी की सूची देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको SVANidhi Yojana की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको स्कीम इंस्ट्रक्शंस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अर्बन लोकल बॉडी के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
SVANidhi Yojana अर्बन लोकल बॉडी की सूची
  • अब आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • अर्बन लोकल बॉडी की सूची आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

सभी राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों का डिसबर्समेंट टारगेट देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको SVANidhi Yojana की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको स्कीम इंस्ट्रक्शंस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको डिसबर्समेंट टारगेट ऑफ स्टेट एंड यूटी के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
SVANidhi Yojana
  • जैसे ही आप इस विकल्प पर क्लिक करेंगे संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

SVANidhi Yojana: स्पेशल ड्राइव से संबंधित जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको स्वनिधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको स्कीम इंस्ट्रक्शंस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको स्पेशल ड्राइव्स के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
SVANidhi Yojana
  • अब आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आप स्पेशल ड्राइव से संबंधित जानकारी देख सकेंगे।

कुछ महत्वपूर्ण डाउनलोड

स्कीम गाइडलाइनयह क्लिक करे
प्री एप्लीकेशन स्टेपयह क्लिक करे
वेंडर सर्वे लिस्टयह क्लिक करे
अर्बन लोकल बॉडीयह क्लिक करे
लेंडर लिस्टयह क्लिक करे
नोटिफाइड स्टेट/यूटीयह क्लिक करे
लेंडर इंस्ट्रक्शनयह क्लिक करे
यूजर मैनुअलयह क्लिक करे
पेमेंट एग्रीगेटरयह क्लिक करे
डिसबर्समेंट टारगेट ऑफ स्टेट एंड यूटीयह क्लिक करे
स्पेशल ड्राइवयह क्लिक करे

Contact us

  • इस योजना के तहत देश के लोग और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है या उन्हें आवेदन करने में कोई परेशानी हो रही है तो वह कांटेक्ट नंबर कर संपर्क कर सकते है।
  • सबसे पहले लाभार्थी को योजना की Official Website पर जाना होगा।
  • Official Website पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको contact us का विकल्प दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
SVANidhi Yojana
  • इस पेज पर आपको कांटेक्ट नंबर दिखाई देंगे।

केबिनेट की बैठक में की गयी अन्य घोषणाएं

  • MSME सेक्टर के लिए इक्विटी स्कीम को कैबिनेट की मंजूरी – संकटग्रस्त छोटे और मध्यम उद्योगों को लाभ मिलेगा, साथ ही रोजगार के अपार अवसर सृजित होंगे | केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि MSMEs के लिए 50 हजार करोड़ रुपये के इक्विटी निवेश (Equity investment) की घोषणा की गई है।
  • 14 फसलों की एमएसपी तय – ‘जय किसान‘ के मंत्र को आगे बढ़ाते हुए कैबिनेट ने अन्नदाताओं के हक में बड़े फैसले किए हैं. इनमें खरीफ की 14 फसलों के लिए लागत का कम से कम डेढ़ गुना एमएसपी देना सुनिश्चित किया गया है. साथ ही 3 लाख रुपये तक के शॉर्ट टर्म लोन चुकाने की अवधि भी बढ़ा दी गई है|
  • कृषि ऋण पर ब्याज छूट का लाभ अब 31 अगस्त तक मिलेगा
  • एमएसएमई में शेयर लेकर अपनी भागीदारी देगी सरकार
  • सैलून, पान की दुकान और मोची को भी मिलेगा लाभ

Leave a Comment