श्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश 2021: ऑनलाइन पंजीकरण, labour.mp.gov.in श्रमिक कार्ड देखे

Shram Seva Portal Madhya Pradesh | श्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश ऑनलाइन पंजीकरण | श्रमिक कार्ड देखे | MP Shram Seva Portal Application Form

निर्माण श्रमिकों के जीवन स्तर में सुधार लाने के लिए एवं उनको आत्मनिर्भर और सशक्त बनाने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जाता है। ऐसी सभी योजनाओं का लाभ श्रमिकों तक पहुंचाने के लिए श्रमिकों का डेटाबेस तैयार किया जाता है जिसके लिए सरकार द्वारा एक पोर्टल लांच किया जाता है। इस पोर्टल पर श्रमिक पंजीकरण कर के विभिन्न योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। आज हम आपको मध्य प्रदेश सरकार द्वारा आरंभ किए गए ऐसे ही एक पोर्टल से संबंधित जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जिसका नाम श्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश है।। इस लेख के माध्यम से आपको इस पोर्टल से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी। जैसे कि इसका उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, महत्वपूर्ण दस्तावेज, पात्रता, पंजीकरण आदि।

Table of Contents

Shram Seva Portal Madhya Pradesh 2021

मध्य प्रदेश श्रम सेवा पोर्टल को मध्य प्रदेश सरकार द्वारा निर्माण श्रमिकों के लिए आरंभ किया गया है। इस पोर्टल के माध्यम से सभी श्रमिकों का एक डाटाबेस तैयार किया जाता है। इस डेटाबेस के माध्यम से सरकार द्वारा श्रमिकों के लिए आरंभ की हुई विभिन्न योजनाओं का लाभ पात्र श्रमिकों तक पहुंचाया जाता है। इन सभी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए श्रमिकों को इस पोर्टल पर पंजीकृत होना अनिवार्य है। इस पोर्टल के माध्यम से श्रमिकों को प्रसूति सहायता, विवाह हेतु सहायता, शिक्षा हेतु प्रोत्साहन राशि, मेधावी छात्र-छात्राओं को नकद पुरस्कार, चिकित्सा सहायता आदि जैसी योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाता है। जिसके माध्यम से श्रमिकों को आर्थिक एवं अन्य सहायता मुहैया कराई जाती है।

इन योजनाओं का लाभ केवल मध्य प्रदेश के स्थाई निवासियों द्वारा ही प्राप्त किया जा सकता है। सरकार द्वारा प्रत्येक योजना के लिए अलग-अलग पात्रता भी निर्धारित की गई है। यह पोर्टल श्रमिकों के जीवन स्तर सुधारने में कारगर साबित होगा। इसके अलावा इस पोर्टल के माध्यम से निर्माण श्रमिक आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सकेंगे। निर्माण श्रमिकों को इस पोर्टल के माध्यम से सामाजिक सुरक्षा भी प्राप्त होगी।

श्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश का उद्देश्य

इस पोर्टल का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के सभी श्रमिकों को विभिन्न प्रकार की सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाना है। इस पोर्टल के माध्यम से सभी श्रमिकों का डाटाबेस तैयार किया जाएगा। जिसके माध्यम से पात्र श्रमिकों को सरकार द्वारा आरंभ की गई योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाएगा। यह Shram Seva Portal श्रमिकों के जीवन स्तर को सुधारने में भी कारगर साबित होगा। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से श्रमिक आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनेंगे। अब श्रमिकों को अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए दूसरों पर निर्भर रहने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी क्योंकि मध्य प्रदेश सरकार द्वारा उनको विभिन्न प्रकार की योजनाओं के माध्यम से आर्थिक एवं अन्य सहायता प्रदान की जाएगी।

Key Highlights Of Shram Seva Portal

योजना का नामश्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश
किसने आरंभ कीमध्य प्रदेश सरकार
लाभार्थीप्रदेश के श्रमिक
उद्देश्यश्रमिकों को विभिन्न प्रकार की योजनाओं का लाभ प्रदान करना
अधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें
साल2021
राज्यमध्य प्रदेश
आवेदन का प्रकारऑनलाइन/ऑफलाइन

मध्य प्रदेश श्रम सेवा पोर्टल के लाभ तथा विशेषताएं

  • Shram Seva Portal को मध्य प्रदेश सरकार द्वारा निर्माण श्रमिकों के लिए आरंभ किया गया है।
  • इस पोर्टल के माध्यम से सभी श्रमिकों का एक डाटाबेस तैयार किया जाता है।
  • इस डेटाबेस के माध्यम से सरकार द्वारा श्रमिकों के लिए आरंभ की हुई विभिन्न योजनाओं का लाभ पहुंचाया जाता है।
  • इन सभी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए श्रमिकों को इस पोर्टल पर पंजीकृत होना अनिवार्य है।
  • इस पोर्टल के माध्यम से श्रमिकों को प्रसूति सहायता, विवाह हेतु सहायता, शिक्षा हेतु प्रोत्साहन राशि, मेधावी छात्र छात्रा को नकद पुरस्कार, चिकित्सा सहायता आदि जैसी योजनाओं का लाभ भी प्रदान किया जाता है।
  • जिसके माध्यम से श्रमिकों को आर्थिक एवं अन्य सहायता मुहैया कराई जाती है।
  • इन योजनाओं का लाभ केवल मध्य प्रदेश के स्थाई निवासी द्वारा ही प्राप्त किया जा सकता है।
  • सरकार द्वारा प्रत्येक योजना के लिए अलग-अलग पात्रता भी निर्धारित की गई है।
  • इन योजनाओं के माध्यम से श्रमिकों के जीवन स्तर में सुधार आ सकेगा।
  • इसके अलावा इस पोर्टल के माध्यम से श्रमिक आत्मनिर्भर एवं सशक्त भी बन सकेंगे।

श्रम सेवा मध्य प्रदेश पोर्टल के अंतर्गत योजनाओं के प्रकार

प्रसूति सहायता योजना-

प्रसूति सहायता योजना के माध्यम से प्रसूति की स्थिति में महिला श्रमिकों को 45 दिन का न्यूनतम वेतन प्रदान किया जाता है। इसके अलावा पोषण भत्ते के रूप में ग्रामीण क्षेत्र में ₹1400 एवं शहरी क्षेत्र में ₹1000 प्रदान किए जाते हैं। पंजीकृत पुरुष श्रमिक को 15 दिन का न्यूनतम वेतन प्रदान किया जाता है। इस योजना का लाभ अधिकतम 3 प्रस्तुति तक प्रदान किया जाता है। प्रतिवर्ष 1 अप्रैल को घोषित न्यूनतम वेतन के आधार पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। आवेदन प्रसूति के 60 दिवस के भीतर सिविल सर्जन या खंड चिकित्सा अधिकारी एवं स्वास्थ्य अधिकारी को प्रस्तुत किया जाना आवश्यक है।

चिकित्सा सहायता योजना-

चिकित्सा सहायता योजना के माध्यम से जननी सुरक्षा योजना, दीनदयाल अंत्योदय उपचार योजना, राज्य एवं जिला बीमारी सहायता निधि, गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले पंजीबद्ध असंगठित निर्माण श्रमिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना, शासन की अन्य कोई जीवन बीमा योजना, स्वास्थ्य सहायता योजना जिसमें पंजीबद्ध निर्माण श्रमिक की पात्रता आती हो, का लाभ प्रदान किया जाएगा।

विवाह सहायता योजना-

विवाह सहायता योजना के माध्यम से निर्माण श्रमिक की पुत्री को ₹25000 प्रति विवाह सहायता एवं सामूहिक विवाह के आयोजन की दशा में ₹23000 तथा ₹2000 आयोजक को प्रति विवाह प्रदान किए जाएंगे। आवेदिका द्वारा विवाह की प्रस्तावित तिथि से 1 दिन पहले आवेदन करना होगा। आवेदन पत्र पर निर्माण श्रमिक एवं उसकी पुत्री के हस्ताक्षर होना अनिवार्य है। यह आवेदन कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत एवं शहरी क्षेत्र में आयुक्त/मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पालिका निगम/नगर पालिका को जमा किया जा सकता है।

शिक्षा हेतु प्रोत्साहन राशि योजना-

 इस योजना के माध्यम से निर्माण श्रमिक के संतान एवं पत्नी को प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है। यह प्रोत्साहन राशि ₹500 से लेकर ₹10000 तक की होती है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए छात्र शिक्षण संस्थान में नियमित अध्ययनरत विद्यार्थी होना अनिवार्य है। आवेदक को आवेदन पत्र जमा 31 मार्च तक जमा करना होगा। प्रोत्साहन की राशि स्वीकृत शासकीय विद्यालय या महाविद्यालय के प्राचार्य या संस्था प्रमुख द्वारा प्रदान की जाएगी।

मेधावी छात्र-छात्राओं को नकद पुरस्कार योजना-

 इस योजना के माध्यम से मेधावी छात्र छात्राओं को नकद पुरस्कार राशि प्रदान की जाएगी जो कि छात्रों के लिए ₹2000 से लेकर ₹10000 तक की होगी एवं छात्राओं के लिए ₹3000 से लेकर ₹12000 तक की होगी। नियमित रूप से अध्ययनरत छात्र-छात्राएं ही इस योजना का लाभ प्राप्त करने की पात्र है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक द्वारा निर्धारित प्रपत्र में आवेदन पत्र भरकर 31 मार्च तक जमा करना होगा। प्रोत्साहन की राशि स्वीकृत शासकीय विद्यालय/महाविद्यालय के प्राचार्य/संस्था प्रमुख के माध्यम से प्रदान की जाएगी।

मृत्यु की दशा में अंत्योष्टि सहायता योजना-

इस योजना को निर्माण श्रमिकों को आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करने एवं जीवन स्तर में सुधार लाने के उद्देश्य से आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से यदि निर्माण श्रमिक की मृत्यु सामान्य कारण वश होती है एवं उसकी आयु 45 वर्ष या फिर उससे कम होती है तो इस स्थिति में उसे ₹75000 प्रदान किए जाएंगे। यदि श्रमिक की आयु 45 वर्ष या फिर उससे अधिक होती है तो सामान्य मृत्यु की स्थिति में उसे ₹25000 प्रदान किए जाएंगे। दुर्घटना वश मृत्यु होने की स्थिति में ₹100000 की सहायता राशि प्रदान की जाएगी। यदि मृत्यु निर्माण कार्य के दौरान होती है तो इस स्थिति में श्रमिक को ₹200000 प्रदान किए जाएंगे।

निर्माण कार्य के कारण हुई स्थाई अपंगता की दशा में श्रमिक को ₹75000 की सहायता राशि प्रदान की जाएगी। इसके अलावा मृत्यु की दशा में ₹5000 की तत्कालीन अंत्योष्टी सहायता भी प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत आवेदन छह माह के भीतर प्रस्तुत करना होगा।

श्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश के अंतर्गत योजनाओं के लाभ

योजना का नामलाभ
प्रसूति सहायता योजना45 दिन का न्यूनतम वेतन पंजीकृत महिला श्रमिकों को एवं ₹1400 पोषण भत्ता ग्रामीण क्षेत्र में और ₹1000 पोषण भत्ता शहरी क्षेत्र में प्रदान किए जाएंगे। पंजीकृत पुरुष श्रमिक को 15 दिन का न्यूनतम वेतन प्रदान किया जाएगा।
चिकित्सा सहायता योजनाजननी सुरक्षा योजना, दीनदयाल अंत्योदय उपचार योजना, राज्य एवं जिला बीमारी सहायता निधि, गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले पंजीबद्ध असंगठित निर्माण श्रमिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना, शासन की अन्य कोई जीवन बीमा योजना, स्वास्थ्य सहायता योजना जिसमें पंजीबद्ध निर्माण श्रमिक की पात्रता आती हो का लाभ इस योजना के माध्यम से प्रदान किया जाएगा।
विवाह सहायता योजना₹25000 प्रति विवाह सहायता एवं सामूहिक विवाह के आयोजन की दशा में ₹23000 तथा ₹2000 आयोजक को प्रति विवाह प्रदान किए जाएंगे।
शिक्षा हेतु प्रोत्साहन राशि योजना₹500 से लेकर ₹10000 तक की राशि प्रदान की जाएगी।
मेधावी छात्र-छात्राओं को नकद पुरस्कार योजनाकक्षा 5 से स्नातक एवं स्नातकोत्तर एवं व्यवसायिक परीक्षा में चयन होने पर नकद पुरस्कार राशि प्रदान की जाएगी जो कि छात्रों के लिए ₹2000 से लेकर ₹10000 तक की होगी एवं छात्राओं के लिए ₹3000 से लेकर ₹12000 तक की होगी।
मृत्यु की दशा में अंत्योष्टि सहायता योजनासामान्य मृत्यु होने पर एवं श्रमिक की आयु 45 वर्ष या फिर उससे कम होने पर ₹75000, आयु 45 वर्ष से अधिक होने पर ₹25000 एवं दुर्घटना में मृत्यु होने पर ₹100000 की सहायता राशि प्रदान की जाएगी। यदि मृत्यु निर्माण कार्य में हुई दुर्घटना के कारण हुई है तो इस स्थिति में ₹200000 एवं निर्माण कार्य के दौरान स्थाई अपंगता की दशा में ₹75000 की सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

श्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश के अंतर्गत योजनाओं की पात्रता

योजना का नामपात्रता
प्रसूति सहायता योजनाआवेदक पंजीकृत निर्माण श्रमिक होना चाहिए।आवेदक द्वारा समय से पंजीयन का नवीकरण/वार्षिक अभिदाय जमा किया होना चाहिए।
चिकित्सा सहायता योजनाआवेदक पंजीकृत निर्माण श्रमिक होना चाहिए।आवेदक द्वारा समय से पंजीयन का नवीकरण/वार्षिक अभिदाय जमा किया होना चाहिए।इस योजना का लाभ केवल अंतरिक रोगियों द्वारा ही प्राप्त किया जा सकता है।
विवाह सहायता योजनामहिला श्रमिक द्वारा इस योजना का लाभ खुद के विवाह के लिए भी प्राप्त किया जा सकता है।इस योजना का लाभ एक परिवार की केवल दो पुत्रियों को ही प्रदान किया जाएगा।आवेदक श्रमिक के रूप में पंजीकृत होना अनिवार्य है।आवेदक द्वारा समय से पंजीयन का निम्नीकरण या वार्षिक अभिदाय जमा होना चाहिए।
शिक्षा हेतु प्रोत्साहन राशि योजनाआवेदक निर्माण श्रमिक के रूप में पंजीकृत होना चाहिए।आवेदक द्वारा समय से पंजीयन का निम्नीकरण एवं वार्षिक अभिदाए जमा किया होना चाहिए।पंजीकृत निर्माण श्रमिक की अधिकतम दो संतान एवं एक संतान तथा एक पत्नी को प्रोत्साहन पात्रता प्राप्त होगी।पत्नी की स्थिति में पत्नी की आयु 35 वर्ष या फिर उससे कम होनी चाहिए।शिक्षण संस्थान में नियमित अध्ययनरत रहना अनिवार्य है।किसी वर्ष के लिए सुसंगत परीक्षा उत्तीर्ण कर लेने के पश्चात इस योजना का लाभ प्राप्त किया जा सकता है।
मेधावी छात्र-छात्राओं को नकद पुरस्कार योजनाशिक्षण संस्थान में आवेदक कि संतान या पत्नी नियमित रूप से अध्ययनरत होना चाहिए।आवेदक निर्माण श्रमिक के रूप में पंजीकृत होना चाहिए।आवेदक द्वारा समय से पंजीयन का नवीकरण एवं वार्षिक अभिदाय जमा करना अनिवार्य है।निर्माण श्रमिक की अधिकतम दो संतान एवं एक संतान तथा एक पत्नी को इस योजना का लाभ प्रदान किया जा सकता है।यदि इस योजना का लाभ आवेदक की पत्नी को प्रदान किया जा रहा है तो इस स्थिति में पत्नी की आयु 35 वर्ष या फिर उससे कम होनी चाहिए।सुसंगत परीक्षा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण करने पर ही इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
मृत्यु की दशा में अंत्योष्टि सहायता योजनाआवेदक निर्माण श्रमिक के रूप में पंजीकृत होना चाहिए।आवेदन के समय पंजीयन का नवीनीकरण/वार्षिक अभिदाय जमा किया होना चाहिए।निर्माण श्रमिक की आयु 18 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए।आत्महत्या एवं मादक द्रव्य पदार्थों के सेवन के कारण हुई मृत्यु की दशा में इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा।मृत्यु की दिनांक से 6 माह के अंदर उत्तराधिकारी द्वारा आवेदन जमा करना अनिवार्य है।

महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय का प्रमाण
  • आयु का प्रमाण
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

योजनाओं के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको संबंधित विभाग में जाना होगा।
  • इसके पश्चात आपको आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • अब आप को आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करना होगा।
  • अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको यह आवेदन पत्र संबंधित विभाग में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार आप योजनाओं के अंतर्गत आवेदन कर सकेंगे।

पोर्टल पर लॉगइन करने की प्रक्रिया

श्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
श्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश
  • इसके पश्चात आपको अपना यूजर नेम पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • अब आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप पोर्टल पर लॉगिन कर सकेंगे।

निर्माण श्रमिक के रूप में पंजीकरण करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको श्रम सेवा पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको फॉर्म्स के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
Shram Seva Portal
Application Form
  • अब आपको डाउनलोड अटैचमेंट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके डिवाइस में फॉर्म डाउनलोड हो जाएगा।
  • आपको इस फॉर्म का प्रिंट निकालना होगा।
  • अब आपको इस फॉर्म में पूछी गई निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी:-
    • नाम
    • पिता या पति का नाम
    • माता का नाम
    • जाति
    • आयु
    • जन्मतिथि
    • विवाहित/अविवाहित
    • लिंग
    • मोबाइल नंबर
    • आधार यूनिक आईडी
    • समग्र परिवार आईडी
    • जिला
    • गांव या वार्ड
    • ट्रेड
    • कार्य का प्रकार
    • बैंक अकाउंट नंबर
    • आईएफएससी कोड
    • बैंक का नाम
    • ब्रांच का नाम
    • वर्तमान पता
    • स्थाई पता
    • परिवार के मुखिया का नाम एवं समग्र आईडी
    • परिवार का विवरण
    • नियोजन का विवरण आदि
  • इसके पश्चात आपको इस पत्र पर हस्ताक्षर करने होंगे।
  • अब आपको इस फॉर्म से सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज अटैच करने होंगे।
  • इसके बाद आपको यह फॉर्म श्रम विभाग में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार का पंजीकरण कर सकेंगे।

जेनरेटेड ePOs लिस्ट देखने की प्रक्रिया

जेनरेटेड ePOs लिस्ट देखने की प्रक्रिया
  • अब आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आप जेनरेटर ePOs लिस्ट देख सकते हैं।

उन ऑफिस की सूची देखने की प्रक्रिया जिन्होंने ePOs क्रिएट नहीं किया है

ऑफिस की सूची
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आप संबंधित जानकारी देख सकते हैं।

टॉप 100 ePOs देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको श्रम सेवा पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको रिपोर्ट्स के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको लेटेस्ट टॉप 100 ePOs के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
श्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश
  • संबंधित जानकारी आप की कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

श्रमिक कार्ड डिटेल देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको श्रम सेवा पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको पंजीकृत श्रमिक कार्ड के सेक्शन में श्रमिक कार्ड नंबर तथा नाम दर्ज करना होगा।
  • अब आपको व्यू डीटेल्स के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया

ग्रीवेंस दर्ज
  • अब आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा जिसमें आपको अपना नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, शिकायत का प्रकार, शिकायत का विषय एवं शिकायत दर्ज करनी होगी।
  • इसके पश्चात आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप ग्रीवेंस दर्ज कर सकेंगे।

ग्रीवेंस स्टेटस ट्रैक करने की प्रक्रिया

ग्रीवेंस स्टेटस ट्रैक
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको ग्रीवेंस रिक्वेस्ट कोड दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको शो स्टेटस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

फॉर्म्स डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको श्रम सेवा पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको फॉर्म्स के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
श्रम सेवा पोर्टल मध्य प्रदेश
  • अब आपके सामने एक सूची खुलकर आएगी।
  • आपको इस सूची में से अपनी आवश्यकता अनुसार फॉर्म के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको डाउनलोड अटैचमेंट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप फॉर्म डाउनलोड कर सकेंगे।

संपर्क विवरण

  • Address- मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल, आर-23 जोन -01,एम.पी नगर, भोपाल, मध्यप्रदेश
  • Phone No. 0755-2552663

Leave a Comment