सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (एससीएसएस) 2024: ब्याज दर, पात्रता, लाभ

भारत सरकार द्वारा सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम बुजुर्गों के लिए शुरू की गई एक बचत योजना है। Senior Citizen Saving Scheme को बुजुर्गों के लिए सबसे अच्छी बचत योजना माना जाता है। क्योंकि इसमें सरकार बुजुर्गों को सबसे ज्यादा ब्याज देती है और सबसे ज्यादा टैक्स छूट भी दी जाती है। सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम को सरकारी योजना होने के कारण, नागरिकों को पैसा डूबने का खतरा भी नहीं रहता है। हिंदी में इस योजना को वरिष्ठ नागरिक बचत योजना भी कहा जाता है। 1 फरवरी 2023 को पेश किए गए केंद्रीय बजट में सरकार ने सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में जमा की अधिकतम सीमा राशि को बढ़ाकर 30 लाख रुपए कर दिया है।

अगर आप भी बुजुर्ग नागरिक है और अपना पैसा निवेश करने की सोच रहे हैं तो सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम आपके लिए काफी लाभदायक होगी। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Senior Citizen Saving Scheme से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएंगे। इसलिए आपको स्कीम से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए यह आर्टिकल विस्तार पूर्वक अंत तक होगा।

Senior Citizen Saving Scheme 2023

Post Office Senior Citizen Saving Scheme 2024

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम भारत सरकार द्वारा बुजुर्गों के लिए चलाई गई एक बचत योजना है। इस स्कीम में टैक्स से लेकर ब्याज तक का लाभ दिया जाता है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी 2023 को अपने बजट में वरिष्ठ नागरिकों के लिए Senior Citizen Saving Scheme के तहत जमा सीमा राशि को दुगना कर दिया है। वरिष्ठ नागरिक बचत योजना के लिए अधिकतम जमा सीमा राशि 15 लाख रुपए थी जिसे बढ़ाकर 30 लाख रुपए कर दिया गया है। हालांकि यह सुविधा व्रत वर्ष 2023 24 के प्रारंभ होने पर यानी 1 अप्रैल 2023 से लागू होगी। वरिष्ठ नागरिक इस योजना के तहत 30 लाख रुपए तक जमा कर सकते हैं। जिससे वरिष्ठ नागरिकों को इस स्कीम में ज्यादा सेविंग का लाभ प्राप्त होगा। 60 वर्ष का कोई भी नागरिक इस योजना में निवेश कर सकता है। हालांकि एनआरआई और एचयूएफ का कोई नागरिक इस योजना में निवेश नहीं कर सकता है। सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत कम से कम 1000 रूपए में अकाउंट खोला जा सकता है।

पोस्ट ऑफिस सेविंग स्कीम 

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में 1000 से लेकर 30 लाख रुपए तक निवेश कर सकते है

Senior Citizen Saving Scheme में कम से कम 1000 रुपए जमा करके अकाउंट खुलवाया जा सकता है। इस योजना में निवेशक अधिकतम 15 लाख रुपए तक जमा कर सकते थे। जिसे हाल ही में सरकार द्वारा 2023 के बजट में अधिकतम जमा राशि को बढ़ाकर 30 लाख रुपए कर दिया गया है। हालांकि यह लिमिट वित्त वर्ष 2023-24 के दौरान यानी कि 1 अप्रैल 2023 से लागू की जाएगी। अब इस योजना में वरिष्ठ नागरिक अधिकतम 30 लाख रूपए तक निवेश कर ज्यादा सेविंग का लाभ प्राप्त कर सकेंगे। रिटायरमेंट कर्मचारियों के लिए इस स्कीम में जमा की गई कुल रकम उस रकम से अधिक नहीं होनी चाहिए जो कि उन्हें नौकरी से रिटायरमेंट बेनिफिट के रूप में प्राप्त हुई है। इस योजना में केवल 1 लाख रुपए तक तब भी नगद पैसा जमा किया जा सकता है। अगर आप इससे अधिक पैसा जमा करना चाहते हैं तो आपको बैंक चेक के माध्यम से जमा करना होगा।

हर 3 महीने पर मिलती है एक निश्चित आमदनी

Senior Citizen Saving Scheme में निवेशक को पैसा जमा करने पर अगले 5 साल तक हर तिमाही में एक निश्चित आमदनी की किस्त मिलती है। यह आमदनी तिमाही की पहली तारीख को लाभार्थी के सेविंग अकाउंट में भेज दी जाती है। यानी कि हर साल 1 अप्रैल, 1 जुलाई, 1 अक्टूबर और 1 जनवरी को निवेशक को ब्याज वाला पैसा मिल जाता है। यदि उस दिन बैंकिंग अवकाश होता है तो अगले कार्य दिवस पर निवेशक को पैसा मिल जाता है। 5 साल की अवधि पूरी होने पर जमा की गई पूरी राशि वापस कर दी जाती है। क्योंकि आपको इस स्कीम के तहत जो जमा राशि प्रदान की जाती है वह आपकी आमदनी यानी कि आपके द्वारा जमा पर ब्याज के रूप में होती है। इस प्रकार इस योजना में आपको पूरा पैसा मिल जाता है और योजना की अवधि के दौरान आपको नियमित आमदनी भी प्राप्त होती रहती है।

जमा राशि पर मिलेगी सालाना 8% ब्याज 

भारत सरकार द्वारा सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत 1 जनवरी 2023 से ब्याज दर को बढ़ाकर 8% कर दिया गया है। इससे पहले इस स्कीम पर केवल 7.6 % ब्याज प्राप्त होती थी। ब्याज की दर बढ़ने से अब यह योजना सबसे ज्यादा ब्याज देने वाली सरकारी योजना हो गई है। प्रत्येक वित्त वर्ष की तिमाही में सरकार द्वारा पहले सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम की नई ब्याज दर घोषित कर दी जाती है। पिछली तिमाहियों में सबसे ज्यादा वृद्धि इस योजना में की गई है। निवेशक द्वारा अकाउंट होने की तारीख से जो भी ब्याज दर होगी वह अगले 5 साल तक आपके अकाउंट पर लागू रहेगी। बीच में ब्याज दर बदलने का पहले से खुले अकाउंट पर कोई असर नहीं पड़ता है। Senior Citizen Saving Scheme में निवेश कर आप एक अच्छी ब्याज दर प्राप्त कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

Senior Citizen Saving Scheme की मैच्योरिटी अवधि

भारत सरकार की सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम एक छोटी अवधि वाली निवेश योजना है। इस योजना में मैच्योरिटी की समय सीमा 5 साल की होती है। अगर चाहे तो मैच्योरिटी के बाद 1 साल के अंदर निवेशक इसकी मैच्योरिटी अवधि को 3 साल के लिए आगे बढ़ा सकता है। साथी मेच्योरिटी के बाद पैसे निकालने पर किसी भी तरह का कोई भी चार्ज नहीं लिया जाता है। मैच्योरिटी की अवधि बढ़ाने के लिए 1 साल के भीतर खाता विस्तार के लिए आवेदन किया जा सकता है। अगर आप 3 साल का खाता विस्तार कर आते हैं तो उससे 1 साल पूरा होने के बाद आप कभी भी बंद करा सकते हैं उस स्थिति में आपकी जमा रकम में से कोई भी रकम नहीं काटी जाएगी।

मैच्योर होने से पहले पैसे निकालने के नियम

यदि आप सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के अंतर्गत समय से पहले पैसा निकालना चाहते हैं तो आपको खाता खोलना निकासी के बीच के समय के आधार पर दंड नियम लागू होते हैं। समय पूर्व निकासी के दंड नियम कुछ इस प्रकार है।

  • खाता खोलने की तारीख से 2 साल पूरा होने से पहले अकाउंट बंद करने पर जमा राशि का 5% जुर्माना के रूप में काटा जाता है।
  • सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में यदि निवेशक खाता खोलने से लेकर 2 से 5 साल के बीच पैसे निकालना चाहता है तो जमा राशि का 1% जुर्माने के रूप में काट लिया जाएगा।

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में निवेश करने के लाभ

  • सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में निवेश करने पर वरिष्ठ नागरिकों को सबसे सुरक्षित और विश्वसनीय निवेश विकल्प प्राप्त होता है।
  • वरिष्ठ नागरिक बचत योजना में आप कम से कम 1000 रुपए में अकाउंट खुलवा सकते हैं।
  • 60 वर्ष का कोई भी नागरिक इस योजना में निवेश कर सकता है।
  • अधिकतम जमा राशि 30 लाख या रिटायरमेंट पर प्राप्त राशि जो भी कम हो निवेश कर सकते हैं।
  • 5 साल की अवधि पूरी होने पर जमा की गई पूरी राशि वापस कर दी जाती है।
  • इस योजना में प्रतिवर्ष 8% ब्याज दर का लाभ प्राप्त होता है। जो विशेष रूप से एफडी और बचत खाते जैसे पारंपारिक निवेश ऑप्शन की तुलना में सबसे अधिक है।
  • Senior Citizen Saving Scheme में ब्याज राशि का भुगतान ट्रैमासिक किया जाता है जो निवेश में अवधि के भुगतान को सुनिश्चित करता है। यानी हर 3 माह के बाद आपको ब्याज राशि का लाभ प्राप्त होता रहेगा।
  • आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में निवेश करने पर निवेशक को 1.5 लाख रुपए प्रति वर्ष टैक्स छूट का लाभ प्राप्त होता है।
  • इस योजना के अंतर्गत निवेश करने की प्रक्रिया काफी सरल है।
  • भारत के किसी भी अधिकृत बैंक के किसी भी डाकघर में वरिष्ठ नागरिक बचत खाता खुलवाया जा सकता है।

महिला सम्मान बचत पत्र

उन बैंकों के नाम जहां Senior Citizen Saving Scheme के तहत खाता खोल सकते हैं।

  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • कारपोरेशन बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
  • आंध्रा बैंक
  • विजया बैंक
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • सिंडिकेट बैंक
  • यूको बैंक
  • केनरा बैंक
  • ICICI बैंक
  • इलाहाबाद बैंक
  • देना बैंक
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • केनरा बैंक
  • IDBI बैंक

Senior Citizen Saving Scheme के लिए पात्रता

  • भारत का कोई भी नागरिक सीनियर सिटीजन सेविंग अकाउंट खुलवा सकता है।
  • 60 साल की उम्र पूरी कर चुके सामान्य नागरिक अकाउंट को खुलवा सकते हैं।
  • रिटायरमेंट या VRS लेने वाले कर्मचारी, 50 साल की उम्र में सीनियर सिटीजन सेविंग अकाउंट खुलवाने के लिए पात्र होंगे।
  • 60 साल की उम्र के पहले अकाउंट खुलवाने की सुविधा ऐसे कर्मचारियों को इस शर्त पर मिलती है कि वह रिटायरमेंट बेनिफिट प्राप्त करने के 1 माह के भीतर ही अकाउंट खुलवा ले।
  • विदेशी नागरिक या किसी दूसरे देश की नागरिकता प्राप्त कर चुके भारतीयों को सीनियर सिटीजन सेविंग खाता खुलवाने की अनुमति नहीं है।
  • इस अकाउंट में पति या पत्नी के साथ संयुक्त खाता खोलने की अनुमति दी गई है।
  • संयुक्त खाता खोलने पर सिर्फ मुख्य खाताधारक पर ही न्यूनतम उम्र की शर्त लागू होगी। दूसरे खाताधारक (पति या पत्नी) की उम्र चाहे जितनी भी हो उसे संयुक्त खाता खोलने के लिए शामिल किया जा सकता है।

Post Office PPF Account

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • पहचान पत्र
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी

Senior Citizen Saving Scheme के तहत खाता खोलने की प्रक्रिया 

  • सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत अकाउंट खोलने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी बैंक या डाकघर जाना होगा।
  • वहां जाकर आपको सीनियर सिटीजन सेविंग अकाउंट खोलने के लिए फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको फॉर्म में मांगी गई सभी आवश्यक जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको केवाईसी दस्तावेजों की फोटो कॉपी के साथ फॉर्म को संलग्न करना होगा। जिसमें पहचान पत्र, निवास प्रमाण पत्र उम्र का प्रमाण और दो पासपोर्ट साइज फोटो सम्मिलित होगी।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको आवेदन फॉर्म को वापस वहीं जमा कर देना है जहां से आप ने प्राप्त किया था।
  • इस प्रकार आप सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत खोल सकते हैं।

Leave a Comment