प्राण वायु देवता योजना के अंतर्गत पेड़ों की देखभाल करने वाले को मिलेंगे ₹2500

Haryana Pran Vayu Devta Yojana Kya Hai | प्राण वायु देवता योजना आवेदन फार्म | Pran Vayu Devta Scheme Form Pdf Download, लाभ एवं पात्रता जाने

पेड़ों की सुरक्षा के लिए भारत सरकार ने कई कानून बनाए हैं। और पेड़ों के संरक्षण के लिए भी केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है। इन योजनाओं का लाभ प्राप्त कर आप भी पर्यावरण संरक्षण का काम कर सकते हैं। और साथ ही पैसे कमा सकते हैं। ऐसी ही एक योजना की शुरुआत हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के द्वारा की गई है। जिसका नाम प्राण वायु देवता योजना है। इस योजना के माध्यम से राज्य में पुराने पेड़ों के संरक्षण के लिए सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।

Pran Vayu Devta Yojana से पेड़ों की कटाई को रोकने और लोगों को पेड़ों की रक्षा करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ, कौन होगा पात्र इन सभी जानकारी के लिए आपको यह आर्टिकल ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा। क्योंकि आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से वायु प्राण देवता योजना हरियाणा से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे। जैसे Haryana Pran Vayu Devta Scheme क्या है, इसके उद्देश्य, लाभ एवं विशेषताएं, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज एवं आवेदन प्रक्रिया आदि।

Pran Vayu Devta Yojana

Pran Vayu Devta Yojana 2022

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के द्वारा प्राण वायु देवता योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के तहत 70 साल या अधिक उम्र के पेड़ों की देखभाल के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। जिसके तहत छोटे किसान और गरीब मजदूरों को जोड़ा जाता है। ताकि वह अपने खाली समय में पेड़ों की देखभाल करके पर्यावरण संरक्षण में योगदान दे सके और इसके बदले में कुछ पैसे भी कमा सके। Pran Vayu Devta Yojana के तहत राज्य सरकार द्वारा 75 वर्ष या अधिक आयु के पेड़ों की देखभाल के लिए 2500 रुपए की आर्थिक सहायता हर महीने प्रदान की जाती है। जिससे पेड़ों के संरक्षण के साथ-साथ पेड़ की सेवा करने वाले व्यक्ति को भी रोजगार मिलता है। इस योजना की सहायता से पेड़ों की कटाई पर रोक लगेगी, साथ ही ज्यादा से ज्यादा लोग पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित होंगे। वृक्षारोपण को प्रोत्साहन मिलेगा और राज्य में चारों तरफ हरियाली का समावेश होगा।

हरियाणा कौशल रोजगार निगम

प्राण वायु देवता योजना Key Highlights

योजना का नामPran Vayu Devta Yojana
आरंभ की गईमुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के द्वारा
लाभार्थीराज्य के नागरिक
उद्देश्यपेड़ों की रक्षा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना
लाभ2500 रुपए
राज्यहरियाणा
साल2022
आवेदन प्रक्रियाऑफलाइन

Pran Vayu Devta Yojana का उद्देश्य

प्राण वायु देवता योजना हरियाणा को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में 75 साल या इससे अधिक पेड़ों की रक्षा करने वाले नागरिकों को सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान करना है। यह योजना ग्रामीण, छोटे किसान और मजदूरों के लिए काफी मददगार साबित हो रही है। क्योंकि खेती के साथ-साथ कुछ पैसा कमाने का भी मौका मिल रहा है। इस योजना के माध्यम से राज्य में पुराने पेड़ों के संरक्षण के लिए सरकार द्वारा हर महीने 2500 रुपए की आर्थिक मदद प्रदान की जाती है। लाभार्थियों को दी जाने वाली इस सहायता से 75 वर्ष से अधिक पुराने वृक्षों के रखरखाव के लिए प्रदान की जाती है। पेड़ों की कटाई को रोकने में इस योजना से सहायता मिलेगी और अधिक से अधिक लोग इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए प्रेरित होंगे। तथा पर्यावरण को भी सुरक्षित रखा जा सकेगा।

मुख्यमंत्री प्रगतिशील किसान सम्मान योजना

Pran Vayu Devta Yojana की मुख्य विशेषताएं

  • पेड़ों की कटाई को रोकने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना।
  • राज्य में पर्यावरण को सुरक्षा प्रदान करना।
  • बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करना।
  • वायु गुणवत्ता में सुधार लाना।
  • किसानों की आय में वृद्धि करना।
  • पात्र लाभार्थियों को आत्मनिर्भर एवं बनाना।

प्राण वायु देवता योजना हरियाणा के तहत करनाल में ऑक्सी वैन

  • तपो वन (ध्यान का वन)
  • अंतरिक्ष वन (राशि चक्र का वन)
  • आरोग्य वन (उपचार/हर्बल वन)
  • पंचवटी (पांच पेड़)
  • स्मरण वन (यादों का जंगल)
  • चित वन (सौंदर्य का वन)
  • पाखी वन (पक्षियों का जंगल)
  • नीर वन (झरनो का जंगल)
  • ऋषि वन (सप्त ऋषि)
  • सुगन स्वास/सुगंध वन (सुगंध का वन)

Haryana Pran Vayu Devta Yojana के लाभ

  • हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के द्वारा प्राण वायु देवता योजना की शुरुआत की गई है।
  • इस योजना के तहत 70 साल या अधिक उम्र के पेड़ों की देखभाल के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।
  • जिसके तहत छोटे किसान और गरीब मजदूरों को जोड़ा जाता है। ताकि वह अपने खाली समय में पेड़ों की देखभाल करके पर्यावरण संरक्षण में योगदान दे सके और इसके बदले में कुछ पैसे भी कमा सके।
  • प्राण वायु देवता योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा 75 वर्ष या अधिक आयु के पेड़ों की देखभाल के लिए 2500 रुपए की आर्थिक सहायता हर महीने प्रदान की जाती है।
  • लाभार्थियों को दी जाने वाली आर्थिक सहायता की राशि सीधे उनके बैंक खाते में भेजी जाती है।
  • जिससे पेड़ों के संरक्षण के साथ-साथ पेड़ की सेवा करने वाले व्यक्ति को भी रोजगार मिलता है।
  • इस योजना की सहायता से पेड़ों की कटाई पर रोक लगेगी, साथ ही ज्यादा से ज्यादा लोग पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित होंगे।
  • राज्य में इस योजना के माध्यम से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
  • वृक्षारोपण को प्रोत्साहन मिलेगा और राज्य में चारों तरफ हरियाली का समावेश होगा।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना

Pran Vayu Devta Yojana Haryana के लिए पात्रता

  • Pran Vayu Devta Yojana Haryana  के लिए आवेदक को हरियाणा का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • प्राण वायु देवता योजना हरियाणा का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। तभी वह इस योजना के लिए पात्रता होगा।
  • राज्य का कोई भी नागरिक इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए पात्र होगा।

प्राण वायु देवता योजना हरियाणा के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र  
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर

Pran Vayu Devta Yojana के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • प्राण वायु देवता योजना हरियाणा में आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी वन विभाग कार्यालय में जाना होगा।
  • वहां जाकर आपको वन विभाग कार्यालय से Pran Vayu Devta Yojana Haryana हेतु आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • अब आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी आवश्यक जानकारी ध्यानपूर्वक दर्ज करनी होगी।
  • आवेदन फॉर्म में सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको मांगे गए सभी आवश्यक दस्तावेजों को आवेदन फॉर्म के साथ संलग्न करना होगा।
  • सभी प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपको अंत में यह फॉर्म वहीं जाकर जमा करना होगा। जहां से आपने प्राप्त किया था।
  • इस प्रकार आप सफलतापूर्वक प्राण वायु देवता योजना हरियाणा के तहत ऑफलाइन आवेदन कर सकेंगे।
  • संबंधित अधिकारी के द्वारा आपके दस्तावेजों की जांच की जाएगी। जिसके बाद आपको योजना का लाभ दिया जाएगा।

Leave a Comment