प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना 2022: लाभ, विशेषता व कार्यान्वयन प्रक्रिया

Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana Apply | प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना 2022 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना कार्यान्वयन प्रक्रिया | PM Poshan Shakti Nirman Yojana Aplication Form

हमारे देश में आज भी कई बच्चे ऐसे हैं जो कुपोषण का शिकार है। सरकार द्वारा कुपोषण को दूर करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जाता है। जिससे कि देश के बच्चों को पोषण युक्त भोजन प्राप्त हो सके। आज हम आपको केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई ऐसी ही योजना से संबंधित जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जिसका नाम प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना है। इस योजना के माध्यम से देश के सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के प्राथमिक कक्षाओं के छात्रों को पोषण युक्त भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा। इस लेख को पढ़कर आपको इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी जैसे कि इसका उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो दोस्तो यदि आप प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ें।

Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana

Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana 2022

केंद्र सरकार द्वारा Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से प्राथमिक कक्षाओं में स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को पोषण युक्त भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा। अब तक सरकार द्वारा मिड डे भोजन योजना संचालित की जा रही थी। जिसके माध्यम से बच्चों को भोजन उपलब्ध करवाया जाता था। अब इस योजना को प्रधानमंत्री शक्ति निर्माण योजना में समाहित किया जाएगा। 29 सितंबर 2021 को इस योजना को मंजूरी प्रदान कर दी गई है। इस योजना के माध्यम से स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को केवल भोजन देने के स्थान पर पोषक तत्वों से भरपूर भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा। जिसके लिए हरी सब्जियां एवं प्रोटीन युक्त भोजन मेनू में शामिल किया जाएगा।

इस योजना को आरंभ करने का निर्णय केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में 28 सितंबर 2021 को लिया गया। इस योजना के माध्यम से देश के 11.2 लाख सरकारी एवं सहायता प्राप्त स्कूलों के 11.8 करोड़ बच्चों को आने वाले 5 वर्षो तक पोषण युक्त भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा।

समग्र शिक्षा अभियान

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना का बजट

पोषण शक्ति निर्माण योजना के संचालन पर 1.31 लाख करोड रुपए खर्च किए जाएंगे। केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के संचालन के लिए 54061.73 करोड़ रुपए प्रदान किए जाएंगे एवं राज्यों का योगदान 31733.17 करोड़ रुपए का होगा। केंद्र पोषक अनाज खरीदने के लिए अतिरिक्त 45,000 करोड़ों प्रदान करेगा। इसके अलावा पहाड़ी राज्यों में इस योजना के संचालन के लिए 90% खर्च केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जाएगा एवं 10% खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से देश भर में सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में प्राथमिक कक्षाओं के छात्रों को भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा।

Nipun Bharat Mission

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना

इस योजना को वर्ष 2021-22 से 2025-26 तक संचालित किया जाएगा। राज्य सरकारों से भी यह आग्रह किया गया है कि रसोइयों, खाना पकाने वाले सहायकों को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से मानदेय प्रदान किया जाए। स्कूलों को भी डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से राशि उपलब्ध करवाई जाएगी

Key Highlights Of Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana 2022

योजना का नामप्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना
किसने आरंभ कीकेंद्र सरकार
लाभार्थीसरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र
लाभार्थियों की संख्या11.8 करोड़
स्कूलों की संख्या11.2 करोड़
उद्देश्यबच्चों को पोषण युक्त भोजन उपलब्ध करवाना।
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी
साल2022
बजट1.31 लाख करोड़

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ाई कर रहे बच्चों को पोषण युक्त भोजन उपलब्ध करवाना है। यह योजना कुपोषण को दूर करने के उद्देश्य से आरंभ की गई है। इस योजना के माध्यम से बच्चों को पोषण युक्त भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा जिससे कि बच्चे कुपोषण का शिकार होने से बच सकेंगे। लगभग 11.8 करोड़ बच्चे इस योजना का लाभ उठा सकेंगे। पर होने वाला खर्च केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। अब देश के बच्चों को पोषण युक्त भोजन प्राप्त करने के लिए किसी पर भी निर्भर रहने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। क्योंकि सरकार द्वारा उनको पोषण युक्त भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा।

Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana 2022 के लाभ तथा विशेषताएं

  • केंद्र सरकार द्वारा Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana 2022 का शुभारंभ किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से प्राथमिक कक्षाओं में स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को पोषण युक्त भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • सरकार द्वारा अब तक मिडडे भोजन योजना संचालित की जा रही थी।
  • मिड डे मील योजना के माध्यम से बच्चों को भोजन उपलब्ध करवाया जाता था।
  • अब इस योजना को प्रधानमंत्री शक्ति निर्माण योजना में समाहित किया गया है।
  • इस योजना को मंजूरी 29 सितंबर 2021 को प्रदान की गई।
  • Poshan Shakti Nirman Yojana के माध्यम से स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों केवल भोजन देने के स्थान पर पोषक तत्वों से भरपूर भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • इस योजना को आरंभ करने का निर्णय केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में 28 सितंबर 2021 को लिया गया।
  • देश के 11.2 लाख सरकारी एवं सहायता प्राप्त स्कूलों के 11.8 करोड़ बच्चों को आने वाले 5 वर्षो तक पोषण युक्त भोजन इस योजना के माध्यम से उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • इस योजना के संचालन पर 1.31 लाख करोड़ रुपए का खर्च आएगा।
  • केंद्र सरकार द्वारा 54061.73 करोड़ रुपए का खर्च वहन किया जाएगा।
  • राज्य सरकार द्वारा 31733.17 करोड़ रुपए का खर्च वहन किया जाएगा।
  • केंद्र पोशाक अनाज खरीदने के लिए अतिरिक्त 45000 करोड़ प्रदान करेगा।
  • पहाड़ी राज्यों में इस योजना के संचालन के लिए 90% खर्च केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जाएगा एवं 10% खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

PM SHRI Yojana

पोषण शक्ति निर्माण योजना की पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के माध्यम से इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय का प्रमाण
  • आयु का प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • यदि आप प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको कोई आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है।
  • इस योजना का लाभ आपको आपके विद्यालय के माध्यम से प्रदान किया जाएगा।
  • जिससे कि देश का प्रत्येक बच्चा पोषण युक्त भोजन प्राप्त कर सके।
  • यह योजना बच्चों के जीवन स्तर में सुधार लाने में भी कारगर साबित होगी।

Leave a Comment