प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म, PMKSY 2022

पीएम कृषि सिचांई स्कीम ऑनलाइन | PMKSY Application Form | कृषि सिंचाई योजना प्रधानमंत्री आवेदन | PMKSY 2022 In Hindi

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की शुरुआत हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा किसानो को लाभ पहुंचाने के लिए की गयी है ।इस योजना के अंतर्गत देश के किसानो को अपने खेतो की सिचाई के लिए उपकरणों के लिए सब्सिडी प्रदान की (Farmers of the country will be provided subsidy for equipment for irrigation of their fields.) जाएगी । यह सब्सिडी किसानों को उन सभी योजनाओं के लिए भी प्रदान की जायेगी। जिसमे पानी की बचत, कम महनत और साथ ही खर्चे की भी सही तरह से बचत हो सकेगी ।जिससे किसानों को अपने खेतो में सिंचाई करने में सुविधा होगी । आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से PMKSY 2022 से जुडी सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे है ।अतः हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े ।

Table of Contents

Pradhanmantri Krishi Sinchayee Yojana 2022

जैसे की आप लोग जानते है कि अनाज के लिए कृषि सबसे ज़रुरी है और कृषि तभी बेहतर होगी जब सिंचाई अच्छे से की जाएगी। खेतों में सिंचाई के लिए पानी की अधिक आवश्यकता होती है। अगर फसलों को अच्छे से पानी नहीं मिलेगा तो वह किसानो कि खेतो ख़राब हो जाएगी । इस PMKSY 2022 के तहत किसानो कि इस समस्या को दूर किया जायेगा और किसानो को उनके खेती के लिए पानी की व्यवस्था की जाएगी । इस योजना के तहत सेल्फ हेल्प ग्रुप्स, ट्रस्ट, सहकारी समिति, इंकॉर्पोरेटेड कंपनियां, उत्पादक कृषकों के समूहों के सदस्यो और अन्य पात्रता प्राप्त संस्थानों के सदस्यों को भी लाभ प्रदान किया जायेगा। Pradhanmantri Krishi Sinchayee Yojana 2022 के तहत केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत 50000 करोड़ रूपये की धनराशि निर्धारित की है ।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना

वर्ष 2026 तक किया जाएगा योजना का विस्तार

15 दिसंबर 2021 को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना को केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 5 वर्ष तक विस्तृत करके 2026 तक संचालित करने का निर्णय लिया गया है। जिस पर कुल खर्च 93068 करोड़ रुपए आने का अनुमान है। यह निर्णय आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति की बैठक में लिया गया। जिसके अध्यक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थे। इस निर्णय की जानकारी केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर और जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत द्वारा संवाददाताओं को प्रदान की गई। इस योजना के विस्तार से लगभग 22 लाख किसानों को लाभ पहुंचेगा जिसमें से 2.5 लाख अनुसूचित जाति एवं 2 लाख अनुसूचित जनजाति वर्ग से हैं।

इस योजना पर 93068 करोड़ रुपए के खर्च आने का अनुमान लगाया जा रहा है। जिसमें से 37454 करोड़ रुपए की सहायता केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी। इसके अलावा सीसीईए द्वारा राज्यों के लिए 37454 करोड़ रुपए की केंद्रीय सहायता के साथ एवं प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2016 के दौरान सिंचाई विकास करने के लिए भारत सरकार द्वारा लिए गए ऋण को चुकाने के लिए 20434.56 करोड़ रुपए मंजूर किए गए है।

उदयपुर के किसान कर सकते हैं 15 सितंबर 2021 तक आवेदन

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत ड्रिप प्लांट लगाने पर 70% सब्सिडी की राशि बागवानी किसानों को प्रदान की जाएगी एवं 50% सब्सिडी की राशि सीमांत किसानों को प्रदान की जाएगी। इस बात की जानकारी डिप्टी डायरेक्टर डॉ के एन सिंह द्वारा प्रदान की गई। इसके अलावा फाउंटेन प्लांट की खरीद पर 60% की सब्सिडी छोटे और सीमांत किसानों को प्रदान की जाएगी एवं 50% की सब्सिडी अन्य किसानों को प्रदान की जाएगी। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। यह ऑनलाइन आवेदन राज किसान साथी पोर्टल पर ई मित्र के माध्यम से किया जा सकता है।

आवेदन पत्र भरने के लिए जमाबंदी, ट्रेस माप, प्लांट कोटेशन, सॉइल वॉटर टेस्ट रिपोर्ट, बिजली का बिल, आधार कार्ड आदि होना अनिवार्य है। इस योजना का लाभ पहले आओ पहले पाओ के आधार पर प्रदान किया जाएगा। उदयपुर जिले में किसान इस योजना के अंतर्गत 15 सितंबर 2021 तक आवेदन कर सकते हैं।

हर खेत को पानी योजना के लिए आर्थिक सहायता

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना को केंद्र सरकार द्वारा आरंभ किया गया है। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य सिंचाई उपकरण खरीदने पर सब्सिडी मुहैया कराना है जिससे कि खेतों की सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध हो सके। यह योजना किसानों की आय में वृद्धि करने के लिए भी कारगर साबित होगी। इस योजना को देश के विभिन्न जिलों में होने वाली पानी की कमी को ध्यान में रखते हुए आरंभ किया गया है। जिससे की फसल की गुणवत्ता सुनिश्चित की जा सके। Pradhanmantri Krishi Sinchayee Yojana 2022 के अंतर्गत हर खेत को पानी योजना आरंभ की गई है।

हर खेत को पानी योजना के माध्यम से सरकार द्वारा सभी खेतों को पानी मुहैया कराया जाएगा। जिसके लिए कमांड क्षेत्र विकास एवं जल प्रबंधन मंत्रालय द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इस वित्तीय सहायता का उपयोग करके किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी जिससे कि उनके खेतों तक पानी पहुंच सके। अब इस योजना के माध्यम से खेती करने के लिए किसानों को पानी की कमी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

PMKSY 2022 Highlights

योजना का नाम प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी पीएम नरेंद्र मोदी जी
लॉन्च कि तारीक वर्ष 2015
लाभार्थी देश के किसान
ऑफिसियल वेबसाइट http://pmksy.gov.in/

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत 1706 करोड़ रुपए अप्रूव किया गए

PMKSY 2022 को सरकार द्वारा किसानों की सहायता करने के लिए आरंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत खेतों की सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में एक वर्चुअल केबिनेट मीटिंग 22 दिसंबर 2020 को संचालित की गई थी। इस मीटिंग में कैबिनेट ने प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के लिए 1706 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। मध्य प्रदेश का इसमें 682 करोड़ 40 लाख 40 हजार रुपए का शेयर है। इस योजना के अंतर्गत मध्यप्रदेश के मंडला, डिंडोरी, शहडोल, उमरिया तथा सिंगरौली जिले शामिल किए गए हैं। इन जिलों में बोरवेल का निर्माण किया जाएगा। जिससे कि किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। यह बोरवेल इरिगेशन फैसिलिटी प्रदान करने के लिए 62135 हेक्टेयर एरिया में बनवाई जाएगी।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 का उद्देश्य

जैसे की आप लोग जानते है कि अगर फसल को उचित मात्रा में पानी नहीं मिलेगा तो वह ख़राब हो जाती है । जिससे किसानो को भी बहुत ही नुकसान उठाना पड़ता है । भारत एक कृषि प्रधान देश है देश के सभी किसान कृषि कर ही निर्भर करते है लेकिन देश के किसानों को जमीन पर खेती करने की समस्या को देखते हुऐ सरकार नये-नये कदम उठा रही हैं। इस योजना के ज़रिये देश के हर खेत को पानी” पहुँचाना है। इस प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 के माध्यम से ज्यादा बल जल संसाधनों को अधिकतम उपयोग पर हैं, ताकि बाद और सूखे के आवेग से होने वाले नुकसान की रोकथाम की जा सके। ऐसा करने से उपलब्ध संसाधनों का कुशल उपयोग हो सकेगा और साथ ही किसानों को अधिक पैदावार मिलेगी। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 के ज़रिये किसानो कि आय में भी बढ़ोतरी होगी ।

प्रधानमंत्री अधिक फसल प्रति बूंद योजना

यह प्रधानमंत्री मुद्रा प्रति बूंद योजना पांच वर्षों में देश के खेती वाले क्षेत्र का विस्तार करेगी। यह Pradhanmantri Krishi Sinchayee Yojana देश में हर जगह पानी मुहैया कराएगी और देश के फसल राशन को बढ़ावा देगी। यह देश के किसानों के जीवन स्तर में सुधार करेगा। इस प्रधानमंत्री योजना के तहत प्रति फसल योजना के तहत अधिक फसल जल प्रबंधन प्रणाली का प्रबंधन करेगी। क्षमता निर्माण, प्रशिक्षण और जागरूकता अभियान जिसमें कम लागत वाले प्रकाशन, पिको प्रोजेक्टर का उपयोग और कम लागत वाली फिल्मों को सामुदायिक सिंचाई सहित तकनीकी, कृषि और प्रबंधन प्रथाओं के माध्यम से संभावित उपयोग के जल स्रोत को प्रोत्साहित करना।

पीएम कृषि सिंचाई योजना की विशेषताएं

  • सरकार द्वारा किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए एवं उनकी आय में वृद्धि करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जाता है।  प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना को भी किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए आरंभ की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से सभी खेतों में सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • सरकार इस योजना के अंतर्गत पानी के सोर्स जैसे कि जल संचयन, भूजल विकास आदि का निर्माण करवाएगी।
  • इसी के साथ यदि किसान द्वारा सिंचाई के उपकरण खरीदे जाते हैं तो उनको सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी।
  • Pradhanmantri Krishi Sinchayee Yojana के माध्यम से समय और पैसे दोनों की बचत होगी।
  • सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से ड्रिप सिंचाई, स्प्रिंकलर सिंचाई आदि को भी बढ़ावा दिया जाएगा।
  • यदि फसलों को सही प्रकार की सिंचाई प्राप्त होगी तो पैदावार में भी बढ़ोतरी होगी।
  • इस योजना का लाभ वह सभी किसान उठा सकते हैं जिनके पास खुद की खेती और जल का स्त्रोत है।
  • इसके अलावा वह किसान भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं जो कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग कर रहे हैं या सहकारी सदस्य हैं।
  • सेल्फ हेल्प ग्रुप भी प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।
  • सरकार द्वारा सिंचाई के उपकरण खरीदने पर इस योजना के अंतर्गत 80% से 90% तक का अनुदान प्रदान किया जाएगा।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 के लाभ

  • इस योजना के तहत देश खेती करने वाले किसानो को अपने खेतो में सिचाई के लिए उचित मात्रा में पानी उपलब्ध करना और उसके लिए सरकार सिचाई उपकरणों के लिए सब्सिडी प्रदान की जाएगी ।
  • पानी की इसी कमी को पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की शुरुआत की गई है। जिससे किसानों को सिंचाई करने में सुविधा होगी ।
  • जो ज़मीन कृषि के योग्य होगी उस ज़मीन तक इस योजना को पहुँचाया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ देश के उन किसानो को पहुंचाया जायेगा जिनके पास अपनी खुद की कृषि योग्य भूमि होगी और जल संसाधन होगा ।
  • Pradhanmantri Krishi Sinchayee Yojana 2022 के माध्यम से कृषि में विस्तार होगा, उत्पादकता में वृद्धि होगी जिससे अर्थव्यवस्था का पूर्ण विकास होगा।
  • योजना के लिए केंद्र द्वारा 75% अनुदान दिया जाएगा और 25% जो खर्चा रहेगा वह राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा।
  • इससे ड्रिप/ स्प्रिंकलर जैसी सिंचाई योजना का फायदा भी किसानों को प्राप्त होता है।
  • नये उपकरणों की प्रणाली के इस्तेमाल से 40-50 प्रतिशत पानी की बचत हो पायेगी और उसके साथ ही 35-40 प्रतिशत कृषि उत्पादन में बढ़ोतरी एवं उपज के गुणवत्ता में तेज़ी आएगी।
  • 2018 – 2019 के दौरान, केंद्र सरकार लगभग 2000 करोड़ खर्च करेगी, और अगले वित्तीय वर्ष में इस योजना पर अन्य 3000 करोड़ खर्च होंगे।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के कॉम्पोनेंट्स

  • कन्वर्जेंस विद मनरेगा
  • वाटर शेड
  • पर ड्रॉप मोर क्रॉप अदर इंटरवेंशंस
  • पर ड्रॉप मोर क्रॉप माइक्रो इरिगेशन
  • हर खेत को पानी
  • AIBP

पीएम कृषि सिचांई स्कीम 2022 की पात्रता

  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानो के पास कृषि योग्य भूमि होनी चाहिए ।
  • इस योजना इस योजना के पात्र लाभार्थी देश के सभी वर्ग के किसान होंगे ।
  • PM Krishi Sinchai Yojana के तहत सेल्फ हेल्प ग्रुप्स, ट्रस्ट, सहकारी समिति, इंकॉर्पोरेटेड कंपनियां, उत्पादक कृषकों के समूहों के सदस्यो और अन्य पात्रता प्राप्त संस्थानों के सदस्यों को भी लाभ प्रदान किया जायेगा।
  • पीएम कृषि सिचांई स्कीम 2022 का लाभ उन संस्थानों और लाभार्थियों को  मिलेगा जो न्यूनतम सात वर्षों से Lease Agreement के तहत उस भूमि पर खेती करते हो। कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग से भी यह पात्रता प्राप्त की जा सकती है।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 के दस्तावेज़

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • किसानो की ज़मीन के कागज़ात
  • जमीन की जमा बंदी (खेत कि नकल)
  • बैंक अकाउंट  पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 में आवेदन कैसे करे ?

योजना की जानकारी हर किसान तक पहुंचाने के लिए आधिकारिक पोर्टल स्थापित किया गया है ।यहाँ पर योजना से सम्बंधित हर जानकारी विस्तारपूर्वक तरीके से बताई गई है । पंजीकरण या आवेदन के लिए राज्य सरकारें अपने अपने प्रदेश के कृषि विभाग की वेबसाइट पर आवेदन ले सकती हैं । अगर आप योजना में आवेदन के इच्छुक हैं तो अपने प्रदेश की कृषि विभाग की वेबसाइट पर जाकर आवेदन सम्बंधित जानकारी ले सकते है ।

एमआईएस रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

डॉक्यूमेंट/प्लान देखने की प्रक्रिया

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर पीडीएफ फाइल खुल कर आएगी।
  • इस फाइल में आप संबंधित जानकारी देख सकते हैं।

सर्कुलर डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको सर्कुलर के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
सर्कुलर डाउनलोड
  • अब आपकी स्क्रीन पर एक सूची खुलकर आएगी।
  • आपको सूची में से अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपकी स्क्रीन पर एक पीडीएफ फाइल खुल कर आएगी।
  • अब आपको डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप सर्कुलर डाउनलोड कर सकेंगे।

कांटेक्ट डिटेल देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको कांटेक्ट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
कांटेक्ट डिटेल
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप कांटेक्ट डिटेल देख सकते हैं।

Contact Information

हमने अपनी इस लेख के माध्यम से आपको प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कर दी है। यदि आप अभी भी किसी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके या फिर ईमेल लिखकर अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर तथा ईमेल आईडी से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Comment