मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना: ऑनलाइन आवेदन करें और पाएं 3500 का मुआवजा

Jharkhand Mukhymantri Sukhad Rahat Yojana Apply Online @ msry.jharkhand.gov.in , मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें, पात्रता एवं लाभ जाने

सूखे से प्रभावित हुए किसान परिवारों को राहत देने के लिए झारखंड सरकार द्वारा मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के तहत किसानों को 3500 रुपए की प्रारंभिक सूखा राहत राशि देने का ऐलान किया है। झारखंड मुख्यमंत्री सूखाड़ राहत योजना के माध्यम से 30 लाख प्रभावित किसान परिवारों को लाभ दिया जाएगा। कृषि विभाग द्वारा सुखाड़ का आकलन प्रतिवेदन के अनुसार राज्य में 22 जिलों के 226 प्रखंडों सूखे की चपेट में है। सूखे की स्थिति को देखते हुए इस योजना की शुरुआत की गई है तथा जल्द ही किसान परिवारों को यह राशि उपलब्ध कराई जाएगी।

Mukhymantri Sukhad Rahat Yojana के तहत आप कैसे आवेदन कर सकते हैं आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से योजन से संबंधित सभी जानकारी उपलब्ध कराएंगे। जैसे मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना का उद्देश्य लाभ एवं विशेषताएं पात्रता आवश्यक दस्तावेज एवं आवेदन प्रक्रिया आदि। इसलिए आपको आर्टिकल विस्तारपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा।

Mukhymantri Sukhad Rahat Yojana

Table of Contents

Jharkhand Mukhymantri Sukhad Rahat Yojana 2023

झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना का आरंभ किया गया है। राज्य के 22 जिलों (पूर्वी सिंहभूम एवं सिमडेगा छोड़कर) के 226 प्रखंडों को सरकार द्वारा 29 अक्टूबर को सूखा घोषित किया गया है। राज्य में सूखे की स्थिति को देखते हुए 22 जिलों के 226 प्रखंडों के प्रति किसान परिवार को Mukhymantri Sukhad Rahat Yojana के तहत तत्काल सूखा राहत हेतु 3500 रुपए की धन राशि प्रदान की जाएगी। सभी प्रभावित इन 226 प्रखंडों के किसान परिवारों को शीघ्र ही यह धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी। सुखाड़ का आकलन कृषि विभाग द्वारा प्रतिवेदन के अनुसार राज्य में 22 जिलों के 226 प्रखंड सूखे की चपेट में है। ऐसी स्थिति में राज्य सरकार का नैतिक उत्तरदायित्व है कि तत्काल प्रभावित किसान परिवारों को सूखा राहत राशि उपलब्ध कराई जाए।

झारखंड के लगभग 30 लाख से अधिक किसान परिवार सूखे की चपेट में है। जिन्हें इस योजना का लाभ मिल सकेगा। मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के माध्यम से किसानों को मुआवजा प्राप्त होगा। किसान इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आपदा प्रबंधन प्राधिकारी आवेदन को स्वीकृत कर DBT के लिए भेज दिए जाएंगे।

झारखंड किसान कर्ज माफी लिस्ट

मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना के तहत 31 जनवरी तक किया जाएगा आवेदनों का सत्यापन

मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना के तहत निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत लाभार्थियों को शत प्रतिशत लाभ प्रदान करने का निर्देश जारी किया गया है। उपायुक्त रमेश घोलाप की अध्यक्षता में अनुमंडल पदाधिकारियों, जिला कल्याण पदाधिकारी और अंचल अधिकारियों के साथ हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस योजना की समीक्षा की गई। जिसमें कैटेगरी ‘ए’ और ‘सी’ के अंतर्गत आने वाले किसानों की सूची का शत प्रतिशत सत्यापन करते हुए 31 जनवरी 2023 तक भुगतान प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश दिया गया है। कैटेगरी ए के तहत आवेदन करने वाले राज्य के किसानों की 33% फसल का नुकसान हुआ है। उन किसानों के आवेदन का सत्यापन करने के बाद 5 दिनों के अंदर ही भुगतान प्रक्रिया चालू करने के निर्देश दिए गए। इस योजना के तहत कैटेगरी ए के तहत 1 लाख 35 हजार ऑनलाइन आवेदन प्राप्त किए गए थे। जिनमें से 13 हजार 942 आवेदनों को अस्वीकृत किया गया है। इसके अलावा कागजात मिसिंग के कारण 9136 आवेदनों को सुधार के लिए वापस कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत 890 करोड रुपए लाभुकों को किए गए हस्तांतरित

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सरकार के गुरुवार को 3 वर्ष पूरे होने के अवसर पर प्रोजेक्ट भवन सभागार में राजकीय समारोह का आयोजन किया गया। इस समारोह के दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत 890 करोड़ रुपए की धनराशि लाभुकों को वितरित की गई। यह धनराशि डीबीटी के माध्यम से लाभुकों के बैंक खातों में हस्तांतरित की गई। कुछ लाभुकों को मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर अपने हाथों से योजनाओं का लाभ भी प्रदान किया। वहीं विभिन्न जिलों के लाभुकों के साथ ऑनलाइन बातचीत भी की। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आज हमारी सरकार के 3 वर्ष पूरे हो रहे हैं। इस दौरान हमने कई उतार-चढ़ाव देखे। पिछले 20 वर्षों में झारखंड अलग राज्य बनने के बाद किसी भी सरकार को ऐसी चुनौतियों का सामना नहीं करना पड़ा जैसा कि हमारी सरकार को करना पड़ा। और कहा कि झारखंड को विकसित और समृद्ध राज्य बनाना है। सरकार जिस सोच और उद्देश्य के साथ काम कर रही है उससे यहां के लोग भी वृद्धि करेंगे और राज्य भी आगे बढ़ेगा।

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना पोर्टल पर जारी रहेगा रजिस्ट्रेशन

झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि जब तक  से प्रभावित अंतिम किसान को मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना का लाभ प्राप्त नहीं हो जाता, तब तक किसानों का रजिस्ट्रेशन मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना पोर्टल पर जारी रहेगा। अधिकारियों को भूमि दस्तावेजों के सत्यापन में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। राज्य में अब तक मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत 17 लाख 50 हजार 814 लाभुकों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। किसानों की आर्थिक स्वालंबन के लिए झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन राज्य की सरकार कटिबद्ध है। मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के माध्यम से लगातार प्रभावित किसानों से सरकार राहत देने के लिए आवेदन प्राप्त कर रही है।

मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के आवेदन कर्ताओं के लिए खुशखबरी

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत किसानों को लाभ दिलाने के लिए आयोजित 3 दिन विशेष शिविर (28,29 और 30 नवंबर 2022) नेटवर्क खराब होने की भेंट चढ़ गए। सिस्टम नाकाम होने के कारण प्रज्ञा केंद्रों पर शिविर के आखिरी दिन भी वंचित किसानों का नया निबंधन नहीं हो सका। केंद्र संचालकों के मुताबिक सर्वर डाउन होने के कारण सिर्फ यथासंभव किसानों के खाते का ई-केवाईसी किया गया। प्रज्ञा केंद्र पहुंचे किसानों को अपना निबंधन कराने शिविर के अंतिम दिन बुधवार को भी निराश लौटना पड़ा। सरकार द्वारा आयोजित विशेष शिविर को निराश और हताश किसानों ने जनता के साथ छलावा करार दिया। 5198 बारवाडीह में फसल से प्रभावित किसान ई- केवाईसी नहीं करा पाए। किसानों के बैंक खाते में ई- केवाईसी के अभाव में सुखाड़ राहत की राशि आने की संभावना नहीं है।

प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी अनुज कुमार शरण ने बताया कि 11255 किसानों ने झारखंड राज्य फसल राहत योजना के तहत ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया था। जिनमें से 8787 किसानों ने बारिश के अभाव में फसल ना होने के कारण और राहत राशि के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था। उनमें से सिर्फ ई- केवाईसी 3589 किसानों ने कराया है। जिनके बैंक खाते में राहत राशि आने का रास्ता साफ हो गया है। 2468 किसानों ने फसल नुकसान होने से संबंधित आवेदन जमा नहीं किया। उन्होंने बताया कि जिन किसानों ने फसल राहत के तहत फसल नुकसान से संबंधित ऑनलाइन आवेदन किया है, उन किसानों के आवेदन मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना में कन्वर्ट हो जाएंगे।

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना 2023 Key Highlights

योजना का नामMukhymantri Sukhad Rahat Yojana
आरंभ की गईमुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा
उद्देश्यफसल नुकसान होने पर आर्थिक सहायता प्रदान करना
विभागकृषि विभाग
लाभार्थीझारखंड के किसान परिवार
राज्यझारखंड
साल2023
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटhttps://msry.jharkhand.gov.in/

Mukhymantri Sukhad Rahat Yojana का उद्देश्य

झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के किसान परिवारों को फसल नुकसान होने पर आर्थिक सहायता प्रदान करना है। राज्य के किसानों को सूखा राहत हेतु 3500 रुपए की धनराशि प्रदान की जाएगी। जल्द ही प्रभावित किसानों को प्रारंभिक राहत राशि वितरित करने के लिए गांव और पंचायत स्तर पर शिविर आयोजित किए जाएंगे। इस योजना के माध्यम से राज्य के लगभग 30 लाख से अधिक किसान परिवारों को लाभ प्रदान किया जाएगा। मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के लिए राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से आर्थिक मदद की मांग की है। ताकि राज्य के किसानों को इस योजना के तहत लाभान्वित किया जा सके।

झारखण्ड फसल राहत योजना

लैंड पजेशन सर्टिफिकेट की बाध्यता खत्म

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि राज्य के किसानों की उदासी को सभी अधिकारी अवसर में बदलने का प्रयास करें। मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत राज्य सरकार ने केंद्र सरकार को आर्थिक मदद को लेकर मेमोरेंडम ऑफ फाइनेंस समर्पित किया है। और आशा है कि इस संकट की घड़ी में केंद्र सरकार आवश्यक सहयोग करेगी। झारखंड सरकार ने केंद्र को मेमोरेंडम ऑफ फाइनेंस के तहत 9682 करोड़ के राहत सहायता की मांग की हैं। और कहा कि हर किसान परिवार या खेतिहर मजदूर उन सब को जो राज्य का राशन कार्ड धारी हो मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत लाभ दिया जाएगा।

विभागीय सचिव से कहा कि मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के लिए जिन दस्तावेजों को अपलोड किया जाता है उनमें से लैंड पजेशन सर्टिफिकेट की बाध्यता को समाप्त किया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि जिसका नाम राशन कार्ड में दर्ज है हर एक किसान को मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना का लाभ दिया जाए।

Mukhymantri Sukhad Rahat Yojana के लाभ एवं विशेषताएं

  • झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना का आरंभ किया गया है।
  • राज्य में सूखे की स्थिति को देखते हुए 22 जिलों के 226 प्रखंडों के प्रति किसान परिवार को मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत तत्काल सूखा राहत हेतु 3500 रुपए की धन राशि प्रदान की जाएगी।
  • सभी प्रभावित इन 226 प्रखंडों के किसान परिवारों को शीघ्र ही यह धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी।
  • किसानों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल पर नुकसान होने की स्थिति में आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के स्थान पर झारखंड सरकार द्वारा आरंभ किया गया है।
  • राज्य के किसानों को नुकसान की राशि पंजीकृत किसानों को बीमा कंपनी द्वारा इस योजना के अंतर्गत प्रदान की जाएगी।
  • जल्द ही प्रभावित किसानों को प्रारंभिक राहत राशि वितरित करने के लिए गांव और पंचायत स्तर पर शिविर आयोजित किए जाएंगे।
  • इस योजना का लाभ ऐसे किसानों को मिलेगा जिन्होंने इस साल बुवाई नहीं की है या जिसकी फसल 33% से ज्यादा क्षति हो गई है।
  • जो भी किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवाना होगा।
  • मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना के माध्यम से किसानों का आत्मनिर्भर बढ़ेगा।
  • झारखंड सरकार ने केंद्र को मेमोरेंडम ऑफ फाइनेंस के तहत 9682 करोड़ के राहत सहायता की मांग की हैं।
  • राज्य के किसानों को इस योजना के तहत लाभान्वित किया जा सके।

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के लिए पात्रता

  • झारखंड मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के लिए आवेदक को झारखंड का मूल निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत केवल राज्य के किसान ही पात्र होंगे।
  • राज्य के सभी किसान इस योजना के पात्र होंगे जो पहले से किसी अन्य बीमा योजना का लाभ नहीं ले रहे हैं।

झारखण्ड गोधन न्याय योजना

Sukhad Rahat Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • किसान आईडी कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • निवास प्रमाण पत्र
  • खेत का खाता नंबर
  • खसरा नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत पंजीकरण कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको पंजीकरण करें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना
  • इस पेज पर आपको यूजरनेम और ईमेल आईडी एवं पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • अब आप को दिया गया कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • अंत में आपको SIGN IN के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

Mukhymantri Sukhad Rahat Yojana के तहत लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको आवेदक लॉग इन करें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने लॉगइन पेज खुल जाएगा।
Mukhymantri Sukhad Rahat Yojana
  • इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर पासवर्ड एवं कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • यह सब दर्ज करने के बाद आपको Login के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आप आसानी से मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत लॉगइन कर सकते हैं।

Mukhyamantri Sukhad Rahat Yojana eKYC कैसे करें

  • सबसे पहले आपको मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको eKYC के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
Mukhyamantri Sukhad Rahat Yojana eKYC
  • इस पेज पर आपको अपना आधार कार्ड नंबर दर्ज करना है
  • इसके बाद आपको प्रोसीड टू ईकेवाईसी के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • अब आपके आधार रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा
  • आपको यह ओटीपी यहां एप्लीकेशन फॉर्म के बॉक्स में दर्ज करना है
  • इसके बाद आप की डिटेल्स खुल जाएंगी
  • अपनी डिटेल चेक करके वेरीफाई के ऑप्शन पर क्लिक करें

Leave a Comment