मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना शुरू हुई, हफ्ते में 2 दिन मिलेगा बच्चों को दूध

Mukhyamantri Bal Gopal Yojana Kya Hai, राजस्थान मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना का लाभ कैसे प्राप्त करें, पात्रता क्या है, उद्देश्य एवं अन्य सभी जानकारी

ग्रामीण इलाकों के बच्चों को पर्याप्त पोषण युक्त भोजन ना मिल पाने के कारण उन में कुपोषण की कमी हो जाती है। यह समस्या अधिकतर प्राइमरी स्कूल में पढ़ रहे बच्चों में पाई जाती है। सरकार द्वारा मिड डे मील जैसी योजनाएं भी पोषण के लिए चालू की गई है। लेकिन अभी भी बच्चों में एनीमिया कैल्शियम आदि की कमी पाई जाती है। इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार द्वारा 2022-23 के बजट में मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना 2023 की शुरुआत की गई है। इस योजना का शुभारंभ राज्य स्तर पर मुख्यमंत्री द्वारा जयपुर में किया गया। Mukhyamantri Bal Gopal Yojana के तहत कक्षा एक से 8 तक के बच्चों को निशुल्क दूध उपलब्ध कराया जाएगा। आज हम आपको मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे। इसलिए आपको यह आर्टिकल विस्तार पूर्वक अंत तक पढ़ना होगा।

Mukhymantri Bal Gopal Yojana

Mukhyamantri Bal Gopal Yojana 2023

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना 2023 का शुभारंभ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 29 नवंबर 2022 को सिविल लाइन जयपुर में किया गया। पूरे राजस्थान में एक साथ योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों को मिड डे मील के अलावा दूध उपलब्ध कराया जाएगा। सप्ताह में दो बार अर्थात मंगलवार और शुक्रवार को बच्चों को दूध उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को 15 ग्राम पाउडर दूध से 150 मिलीमीटर दूध और कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के लिए 20 ग्राम पाउडर दूध से 200 मिलीमीटर दूध स्कूलों द्वारा पीने के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।

Mukhyamantri Bal Gopal Yojana के तहत मिड डे मील से जुड़े राज्य के विद्यालय, प्राइमरी विद्यालय, मदरसों, विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में राज्य सरकार द्वारा पाउडर वाला दूध उपलब्ध कराया जाएगा। राजस्थान कोऑपरेटिव डेयरी फाउंडेशन से पाउडर मिल्क की खरीद की जाएगी।

राजस्थान मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृति योजना

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना 2023 Key Highlights

योजना का नामMukhyamantri Bal Gopal Yojana
शुरू की गईमुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा
शुभारंभ29 नवंबर 2022
उद्देश्यछात्र-छात्राओं को पोषण प्रदान करने के लिए दूध का वितरण करना
लाभार्थीकक्षा 1 से 8 तक के बच्चे
राज्यराजस्थान
साल2023

राजस्थान स्कॉलरशिप योजना

Mukhyamantri Bal Gopal Yojana का उद्देश्य

राजस्थान सरकार द्वारा मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना को प्रारंभ करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के विद्यालय, प्राइमरी विद्यालय, मदरसों, विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को पोषण प्रदान करने के लिए दूध का वितरण करना है। मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों को कुपोषण से रोकने के लिए पाउडर मिल्क से तैयार दूध सप्ताह में दो बार उपलब्ध करवाया जाएगा। इस योजना के माध्यम से पाउडर मिल्क एवं आपूर्ति राजस्थान कोऑपरेटिव डेयरी फाउंडेशन लिमिटेड से किया जाएगा। प्रार्थना सभा के तुरंत बाद स्कूलों में बालों को को दूध पिलाया जाना है। निर्धारित दिन अवकाश होने पर अगले शिक्षक दिवस पर छात्र-छात्राओं को दूध पिलाया जाएगा। दूध से बच्चों के शारीरिक एवं मानसिक विकास में तीर गति होगी एवं बीमारियों से भी दूर रहेंगे। इस योजना के माध्यम से बच्चों को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन युक्त दूध मिलने से स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा।

Mukhyamantri Bal Gopal Yojana

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत दूध की मात्रा

राजस्थान मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों को मिड डे मील के साथ दूध भी उपलब्ध कराया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा सप्ताह में दो बार मंगलवार और शुक्रवार को बच्चों को दूध उपलब्ध कराया जाएगा। राजस्थान के कक्षा 1 से 8 तक के छात्र छात्राओं को निर्धारित मात्रा के अनुसार दूध उपलब्ध कराया जाएगा।

कक्षा स्तरपाउडर मिल्क की मात्रा (प्रति छात्र)तैयार दूध की मात्रा (प्रति छात्र)चीनी की मात्रा
प्राथमिक (कक्षा एक से 5 तक)15 ग्राम150 मिलीमीटर8.4 ग्राम
उच्च प्राथमिक (कक्षा 6 से 8 तक)  20 ग्राम200 मिलीमीटर10.2 ग्राम

Rajasthan Free Tablet Yojana

Mukhyamantri Bal Gopal Yojana के लाभ एवं विशेषताएं

  • बाल गोपाल योजना के माध्यम से मिड डे मील से जुड़े राजस्थान के विद्यालय, प्राइमरी विद्यालय, मदरसों, विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में छात्र छात्राओं को दूध उपलब्ध कराया जाएगा।
  • Mukhymantri Bal Gopal Yojana के तहत राजस्थान के कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों को सप्ताह में 2 दिन अर्थात मंगलवार एवं शुक्रवार को मिल्क पाउडर उपलब्ध कराया जाएगा।
  • यदि इन दिनों किसी कारणवश अवकाश होता है तो उसके अगले दिन दूध का वितरण किया जाएगा।
  • मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को 15 ग्राम पाउडर दूध से 150 मिलीमीटर दूध और कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के लिए 20 ग्राम पाउडर दूध से 200 मिलीमीटर दूध स्कूलों द्वारा पीने के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।
  • Mukhymantri Bal Gopal Yojana का वितरण मिड डे मील की सहायता से हर जिले में मिल्क पाउडर बांटा जाएगा एवं मिल्क पाउडर का वितरण आरसीडीएफ द्वारा प्रत्येक विद्यालय में जाकर किया जाएगा।
  • विद्यालय प्रबंधन की बच्चों को दूध देने की जिम्मेदारी होगी और दूध की गुणवत्ता को मापने की जिम्मेदारी विद्यालय प्रबंधन समिति तथा आरसीडीएफ की होगी।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त कर बच्चे मानसिक एवं शारीरिक रूप से मजबूत होंगे।
  • बाल गोपाल योजना के माध्यम से बच्चे स्कूल में दाखिला लेने के लिए प्रोत्साहित होंगे। जिससे शिक्षा ग्रहण करने में भी सुधार होगा।
  • इस योजना के माध्यम से राजस्थान के लगभग 60 लाख बच्चों को फायदा मिलेगा।
  • इस योजना के माध्यम से बच्चों को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन युक्त दूध मिलने से स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा।

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के लिए पात्रता

  • मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत मिड डे मील योजना से लाभान्वित प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों, मदरसों, स्पेशल ट्रेनिंग सेंटर में अध्ययनरत छात्र-छात्राएं पात्र होंगे।
  • इस योजना का लाभ केवल राजस्थान के कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों को प्रदान किया जाएगा।

Leave a Comment