मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन कैसे करें, लाभ, पात्रता

बिहार सरकार द्वारा अपने राज्य में मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना को आरंभ किया गया हैं। Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana के माध्यम से किसानों को मत्स्य पालन करने के लिए तालाब निर्माण करवाने पर 70 फ़ीसदी तक अनुदान दिया जाएगा। मत्स्य विभाग द्वारा यह अनुदान दिया जाएगा। सरकार ने प्रदेश के चौर जल क्षेत्र भूमि में पड़ी बेकार या बंजर भूमि पर तालाब बनाने के लिए इस प्रोजेक्ट की पहल की है। । आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana 2022 से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियां जैसे-उद्देश्य, लाभ एवं विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, एवं आवेदन प्रक्रिया इत्यादि के बारे में बताने जा रहे हैं। यदि आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आप हमारे इस लेख को जरूर पढ़ें।

Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana

Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana 2022

बिहार राज्य में मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना के माध्यम से बड़े पैमाने पर उपलब्ध निजी चौर जल क्षेत्र भूमि में मत्स्य (मछली) पालन के लिए तालाब निर्माण करवाए जाएंगे। मत्स्य पालन के साथ-साथ कृषि, बागवानी व कृषि वानिकी को भी विकसित किया जाएगा। सरकार तालाबों के निर्माण पर अनुदान देने के साथ-साथ कृषि, बागवानी व कृषि वानिकी पर अलग से अनुदान देगी। Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana के माध्यम से बड़े पैमाने पर रोजगार सर्जन होगा। ‌अभी फिलहाल पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग ने इस योजना को पायलट के रूप में सीवान सहित छह जिलों में शुरू किया है। 50 हेक्टेयर में तालाब निर्माण को लेकर विभाग ने 2.48 करोड़ रुपए अनुदान देने का लक्ष्य निर्धारण किया है। चौर विकास के लिए तीन तरहां का मॉडल तैयार किया गया है। जिनमें एक हेक्टेयर में दो तालाब, चार तालाब और एक तालाब का निर्माण एवं भूमि विकास की योजना बनाई गई है। Mukhymantri Samekit Chaur Vikas Yojana 2022 के तहत मत्स्य पालन करने के लिए तालाब निर्माण पर लाभार्थी को 70% तक अनुदान की राशि दी जाएगी।

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana 

मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना 2022 का अवलोकन

योजना का नामMukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana
शुरू की गईबिहार सरकार द्वारा
लाभार्थीबिहार के लोग
उद्देश्यमछली पालन को बढ़ावा देने के लिए निजी चौर जल क्षेत्रों में तालाब निर्माण हेतु अनुदान प्रदान करना।
अनुदान70% तक
साल2022
श्रेणीबिहार सरकारी योजना
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
अधिकारिक वेबसाइटhttp://fisheries.bihar.gov.in/

Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana 2022 के आवेदन से जुड़ी महत्वपूर्ण तिथि

सरकार द्वारा इस योजना के तहत इच्छुक नागरिकों से आवेदन मांगे गए हैं। आवेदन की तिथि से जुड़ी जानकारी नीचे इस प्रकार है।

  • अधिकारिक सूचना जारी होने की तिथि– 9 सितंबर सन 2022
  • आवेदन करने की अंतिम तिथि- 18 अगस्त सन 2022

कृषि इनपुट अनुदान योजना

Samekit Chaur Vikas Yojana 2022 के तहत प्रदान किए जाने वाला लाभ

इस योजना के तहत परंपरागत मछुआरों को प्राथमिकता दी जाएगी। योजना के तहत चयनित लाभार्थियों को चौर भूमि के समेकित विकास के लिए तीन मॉडल तैयार किए गए हैं। जो एक हेक्टेयर में दो तालाब, चार तालाब और एक तालाब का निर्माण एवं भूमि विकास के मॉडल है। मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना 2022 के तहत 1 हेक्टेयर रकवा में दो तालाब बनाने में 8.80 लाख/हेक्टेयर, एक हेक्टेयर रकवा में चार तालाब बनाने में 7.32 लाख/हेक्टेयर और एक हेक्टेयर रकवा में एक तालाब का निर्माण और भूमि विकास में 9.69 लाख/हेक्टेयर की लागत आएगी। इसमें सरकार अन्य वर्ग के लाभार्थियों को 50% का अनुदान देगी। अत्यंत पिछड़ा वर्ग/अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के लिए 70% और उद्यमी आधारित 30% अनुदान दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना का उद्देश्य

Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana का मुख्य उद्देश्य राज्य के चौर अधिकता वाले जिलों में मछली पालन को बढ़ावा देने के लिए लाभार्थियों को तालाब निर्माण करने पर अनुदान देना है। ताकि राज्य में बड़े पैमाने पर मछली पालन का रोजगार सर्जन हो और दूसरे प्रांतों से आने वाली मछली की आयात कम हो। यह योजना निजी चौर जल क्षेत्र के ग्रामीणों की आर्थिक स्थिति सुधारने और बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करेंगी। मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना 2022 के माध्यम से कृषि, बागवानी और कृषि वानिकी को विकसित करने पर भी जोर दिया जा रहा है। इस योजना के तहत चौर विकास के लिए “लाभुक आधारित चौर विकास” और “उद्यमी आधारित चौर विकास”‌किया जाएगा।

Bihar Aaksmik Fasal Yojana 

Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana के तहत पात्रता एवं आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदकों को बिहार का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • व्यक्तिगत/ समूह में आवेदन किया जा सकता है।
  • समूह में न्यूनतम 5 सदस्य होने जरूरी हैं।
  • आधार कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • जीएसटी
  • भूस्वामित्व प्रमाण पत्र
  • लीज एकरारनामा
  • समूह में कार्य करने की सहमति
  • व्यक्तिगत /समूह लाभुको के द्वारा स्व-अभिप्रमाणित दो पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • उद्यमी लाभुको के द्वारा स्व अभिप्रमाणित निबंधन प्रमाण पत्र
  • विगत तीन वर्षो का अंकेक्षण एवं आयकर रिटर्न

मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना 2022 के तहत आवेदन कैसे करें।

  • सबसे पहले आपको इस योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको मत्स्य योजनाओं हेतु आवेदन के विकल्प  पर क्लिक करना है।
  • यहां पर आपको दो विकल्प मत्स्य योजनाओं में आवेदन हेतु पंजीकरण करें और दूसरा पहले से पंजीकृत है तो लॉगिन करें के विकल्प दिखाई देंगे।
  • यदि आप पंजीकृत नहीं है तो आप मत्स्य योजनाओं में आवेदन हेतु पंजीकरण करेंके लिंक पर क्लिक करके अपना पंजीकरण कर ले और फिर जाकर पहले से पंजीकृत है तो लॉगिन करें के विकल्प पर क्लिक कर दें।
  • अब आप अपना रजिस्ट्रेशन एवं पासवर्ड नंबर दर्ज करके लॉगइन के विकल्प पर क्लिक कर दे।
  • इसके बाद आप इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Leave a Comment