मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना 2021-22: एप्लीकेशन फॉर्म, पात्रता व लाभ

Mukhyamantri Ghasyari Kalyan Yojana Online Registration | मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना ऑनलाइन आवेदन | मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना एप्लीकेशन फॉर्म

पौष्टिक एवं गुणवत्तायुक्त चारे की कमी के कारण दुग्ध उत्पादन में लगातार कमी आ रही है। जिसकी वजह से पर्वतीय कृषको कि पशुपालन में रुचि घटती जा रही है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड सरकार द्वारा मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से पशुपालकों को पौष्टिक पशु आहार उपलब्ध करवाया जाएगा। जिससे कि दुग्ध उत्पादन में वृद्धि हो सकेगी। इस लेख के माध्यम से आपको mukhyamantri ghasiyari Kalyan Yojana से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी। इसके अलावा आप इस लेख को पढ़कर इस योजना का लाभ, उद्देश्य, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन करने की प्रक्रिया आदि से संबंधित जानकारी भी प्राप्त कर सकेंगे। तो यदि आप मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

Mukhyamantri Ghasyari Kalyan Yojana 2021-22

उत्तराखंड सरकार द्वारा Mukhyamantri Ghasyari Kalyan Yojana का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से पशुपालकों को पशु आहार (साइलेज) के वैक्यूम बैग उपलब्ध करवाए जाएंगे। यह बैग 25 से 30 किलो के होंगे। प्रदेश के पशुपालकों को पशु आहार प्राप्त करने के लिए अब कहीं भी जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। क्योंकि सरकार द्वारा उनको पशु आहार उपलब्ध करवाया जाएगा। इस पशु आहार से दुधारू पशुओं के स्वास्थ्य में भी सुधार आएगा एवं दुग्ध उत्पादन में 15 से 20 फ़ीसदी की वृद्धि भी होगी। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से पशुपालकों के समय और श्रम की भी बचत होगी जिसे अन्य आय अर्जित करने वाले कार्यों में लगाया जा सकेगा।

इस योजना के माध्यम से पशुओं के लिए पौष्टिक एवं गुणवत्ता युक्त चारा उपलब्ध करवाया जाएगा। पर्वतीय क्षेत्र की कृषकों की पशुपालन में रूचि भी इस योजना के कारण बढ़ेगी। यह योजना पशुओं के स्वास्थ्य को सुधारने में भी कारगर साबित होगी। इसके अलावा पशुपालकों की आय में भी इस योजना के माध्यम से वृद्धि की जा सकेगी। मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के माध्यम से पशुपालकों के जीवन स्तर में भी सुधार आएगा। इसके अलावा यह योजना लगातार आ रही दुग्ध उत्पादन में कमी को दूर करने में भी कारगर साबित होगी।

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य पशुओं के लिए पौष्टिक और गुणवत्तायुक्त चारा उपलब्ध करवाना है। जिससे कि दुग्ध उत्पादन में बढ़ोतरी आ सके। इस योजना के माध्यम से पर्वतीय कृषक पशुपालन की तरफ आकर्षित हो सकेंगे। अब पशुपालकों को चारा लाने के लिए भी कहीं जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। क्योंकि सरकार द्वारा पशुओं के लिए चारा उपलब्ध करवाया जाएगा। इससे समय की भी बचत होगी। इसके अलावा पशुओं के स्वास्थ्य भी बेहतर हो सकेगा। मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना पशुपालकों के आय में वृद्धि करने में भी कारगर साबित होगी। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से पशुपालकों के जीवन स्तर में भी सुधार आएगा। यह योजना दुग्ध उत्पादन में लगातार आ रही कमी को दूर करने में भी कारगर साबित होगी।

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना

Key Highlights Of Mukhyamantri Ghasyari Kalyan Yojana 2021-22

योजना का नाममुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना
किसने आरंभ कीउत्तराखंड सरकार
लाभार्थीउत्तराखंड के नागरिक
उद्देश्यपशुओं के लिए पौष्टिक पशु आहार उपलब्ध करवाना।
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी
साल2021
राज्यउत्तराखंड
आवेदन का प्रकारऑनलाइन/ऑफलाइन

उत्तराखंड घस्यारी कल्याण योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • उत्तराखंड सरकार द्वारा मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का शुभारंभ किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से पशुपालकों को पशु आहार (साइलेज) के वैक्यूम बैग उपलब्ध करवाए जाएंगे।
  • यह बैग 25 से 30 किलो के होंगे।
  • अब उत्तराखंड के पशुपालकों को पशु आहार प्राप्त करने के लिए अब कहीं भी जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। क्योंकि सरकार द्वारा उनको पशु आहार उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • पशु आहार से दुधारू पशुओं के स्वास्थ्य में भी सुधार आएगा एवं दुग्ध उत्पादन में 15 से 20 फ़ीसदी की वृद्धि भी होगी।
  • इसके अलावा इस योजना के माध्यम से पशुपालकों के समय और श्रम की भी बचत होगी।
  • इस योजना के माध्यम से पशुओं के लिए पौष्टिक एवं गुणवत्ता युक्त चारा उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • पर्वतीय क्षेत्र की कृषकों की पशुपालन में रूचि भी इस योजना के कारण बढ़ेगी।
  • इस योजना के माध्यम से पशुओं के स्वास्थ्य को भी सुधारा जा सकेगा।
  • पशुपालकों की आय में भी इस योजना के माध्यम से वृद्धि होगी।
  • इस योजना के माध्यम से पशुपालकों के जीवन स्तर में भी सुधार आएगा।
  • यह योजना लगातार आ रही दुग्ध उत्पादन में कमी को दूर करने में भी कारगर साबित होगी।

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की पात्रता

  • आवेदक उत्तराखंड का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक पशुपालक होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक के पास दुधारू पशु होना चाहिए।

महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय का प्रमाण
  • आयु का प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

यदि आप मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको भी कुछ समय इंतजार करना होगा। अभी सरकार द्वारा केवल इस योजना को आरंभ करने की घोषणा की गई है। जल्द सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने से संबंधित जानकारी साझा की जाएगी। जैसे ही सरकार की ओर से इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने से संबंधित कोई भी जानकारी सार्वजनिक की जाती है हम आपको अपने लेख के माध्यम से जरूर बताएंगे। तो यदि आप मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से निवेदन है की आप हमारे इस लेख से जुड़े रहे।

Leave a Comment