यूपी में मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना से होगा निराश्रित गोवंश का भरण पोषण

Gau Grass Seva Yojana:- गोवंश के संरक्षण के लिए उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के माध्यम से शहर से लेकर देहात तक गोवंश को गोद लिए जाने के लिए नगर निगम अभियान चलाया जाएगा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा छुट्टा गोवंशों के भरण पोषण के लिए दिशा निर्देश के अनुरूप अभिनव कदम उठाया गया है। राज्य के हर नागरिकों पर गोवंश के भरण पोषण करने की जिम्मेदारी होगी। जिसके लिए शासन ने मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना के तहत नई गाइडलाइन जारी कर अभियान चलाया जाएगा। ताकि गोवंश को गोद लिया जा सके। गो प्रेमियों को मासिक और सालाना शुल्क देना होगा। इन पैसों के माध्यम से गुड़, सेंधा नमक, चोकर और हरा चारा आदि खरीदा जाएगा।

अगर आप भी उत्तर प्रदेश के नागरिक है और गोवंश के भरण पोषण में योगदान देना चाहते हैं। तो आपको यह आर्टिकल विस्तार पूर्वक अंत तक पढ़ना होगा। क्योंकि आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Mukhymantri Gau Grass Seva Yojana 2024 से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे। तो आईए जानते हैं मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना के बारे में।

Mukhymantri Gau Grass Seva Yojana 2023

Mukhymantri Gau Grass Seva Yojana 2024

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा गोवंशो के भरण पोषण के लिए दिशा निर्देश के अनुरूप नवीन उपाय का पालन किया गया है। इस योजना के लिए शासन की नई गाइडलाइन तय कर अभियान चलाया जाएगा। नगर निगम खुद संसाधनों से गौशालाओं का संचालन करती है। और कुछ धन शासन से अनुदान राशि के रूप में लिया जाता है। लेकिन अब शासन गोवंश के भरण पोषण में हर नागरिक के योगदान को शामिल किया जाएगा। शहरों में रहने वाले सभी लोगों की गोवंश के भरण पोषण में जिम्मेदारी होगी। हर घर में बनने वाली पहली रोटी पहले आटे का चोकर गाय के नाम से निकाला जाएगा।

गोवंश की सेवा करने के लिए इस योजना के तहत गोवंश को गोद लिया जाएगा। जो भी लोग गोवंश को गोद लेंगे उन्हें मासिक या वार्षिक शुल्क देना होगा। मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना के माध्यम से प्राप्त  धन राशि से  गोवंशों के लिए गुड़, सेंधा, नमक, चोकर और हरा चारा खरीदा जाएगा। इस कार्य योजना के तहत अभियान चलाने और लोगों को जागरूक करने की तैयारी नगर निगम अधिकारी द्वारा शुरू हो गई है।

स्वदेशी गौ संवर्धन योजना

मुख्यमंत्री गौ-ग्रास सेवा योजना 2024 के बारे में जानकारी

योजना का नाम  Mukhyamantri Gau Grass Seva Yojana
शुरू की गई  उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
लाभार्थी  निराश्रित, बेसहारा गोवंश
उद्देश्य  गोवंश के प्रति क्रूरता को रोकने के लिए लोगों को जागरूक करना
राज्य  उत्तर प्रदेश 
साल  2024

Mukhyamantri Gau Grass Seva Yojana 2024 का उद्देश्य

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के नगरीय क्षेत्रों में सड़कों, सार्वजनिक स्थलों, निराश्रित, बेसहारा गोवंश की सुरक्षा और जन सामान्य को होने वाली असुविधा और गो वंश के प्रति क्रूरता को रोकने के लिए लोगों को जागरूक किया जाएगा ताकि गोवंश के भरण पोषण में शहर के हर नागरिक अपना योगदान दे सके। इसके लिए उत्तर प्रदेश में शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक गोवंश को गोद लेने के लिए नगर निगम अभियान चलाया जाएगा। जिससे नगर निकायों को गौशालाओं का संचालन करने के लिए कोई बाधा न उत्पन्न हो।

जनता  लेगी  गोवंश को गोद, चलेगा जागरूक अभियान

नगर निकायों पर गौशालाओं के संचालन का बोझ ना पड़े और गोवंश का भरण पोषण बिना किसी परेशानी के किया जा सके। इसके लिए शहर से लेकर देहात तक गोवंश को गोद लिए जाने के लिए गौ ग्रास सेवा योजना के तहत नगर निगम अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान से अधिक से अधिक लोगों को जोड़ा जाएगा। ताकि उन्हें गो वंश को गोद लेने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।

अभियान चलाने और लोगों को जागरूक करने की तैयारी नगर निगम अधिकारी ने शुरू कर दी है। उत्तर प्रदेश में शासन आदेश पर हर घर में बनने वाली पहली रोटी पहले आटे का चोकर गाय के नाम से निकाला जाएगा। इसके लिए नगर निगम के 80 वार्डों में अभियान की रूपरेखा तय होगी। जनता को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया जाएगा। जिससे गोवंश को गोद लेंने के लिए हर नागरिक को जागरूक किया जाएगा। मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना के इस अभियान के अंतर्गत शहरवासियों से रोटी और चोकर को गोवंश  के लिए  इकट्ठा किया जाएगा।

आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना

गोवंश को गोद लेंगे शहरवासी

मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना के तहत गो प्रेमियों को गोवंश को गोद देने का अभियान चलेगा। इस अभियान के तहत जो भी गो प्रेमी गौवंश को गोद लेगा उन्हें मासिक या वार्षिक शुल्क देना होगा। मासिक शुल्क 6,00 रुपए और वार्षिक शुल्क 7,200 रुपए निर्धारित किया गया है। प्राप्त  धन से गोवंश के लिए गुड़, सेंधा नमक, चोकर, हरा चारा और अन्य सामग्री खरीदी जाएगी। उत्तर प्रदेश के नगर निगम नदौसी में गौशाला का संचालन किया जा रहा है जिसमें 1130 गोवंश है। रोजाना इन गोवंशों को 318 कुंतल चार 687 कुंतल भूसा और 10 दिन में 2300 कुंतल चोकर खिलाया जाता है। जिस पर रोजाना नगर निगम 48 हजार रुपए खर्च करता है। नगर आयुक्त निधि गुप्ता ने बताया है कि गोवंश के भरण पोषण के लिए गौशाला में इंतजाम किए गए हैं।

मुख्यमंत्री गौ-ग्रास सेवा योजना 2024 के लाभ एवं विशेषताएं

  • उत्तर प्रदेश में गोवंश के संरक्षण के लिए मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना को शुरू किया गया है।
  • Mukhyamantri Gau Grass Seva Yojana के तहत गो वंश को शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक गोद लेने के लिए नगर निगम अभियान चलाएगा।
  • उत्तर प्रदेश के शहरी क्षेत्र से लेकर देहात में गोवंशों के भरण पोषण, स्वास्थ्य परीक्षण, उपचार और गौशाला की आय सृजन के लिए गोमय उत्पादों, बायोगैस कंपोस्ट खाद गोमूत्र आदि उत्पादन बिक्री करने कार्य योजना बनी है।
  • नगर निगम के 800 वार्ड में अभियान की योजना बनाई गई है।
  • पार्षदों से लेकर अन्य जन प्रतिनिधियों को इसकी जिम्मेदारी सौंप जाएगी।
  • जो भी गोप्रेमी को गोवंश को गोद लेगा उन्हें मासिक या वार्षिक शुल्क देना होगा।
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मासिक शुल्क 600 रुपए और वार्षिक शुल्क 7,200 रुपए निर्धारित किया गया है।
  • इस प्राप्त राशि के माध्यम से गोवंशों के लिए गुड़, सेंधा नमक, चोकर, हरा चारा और अन्य सामग्री खरीदी जाएगी।
  • यह योजना गोवंश के भरण पोषण के लिए राज्य के हर नागरिक को जागरूक करेगी।
  • अब गोवंश के भरण पोषण के लिए शहर के हर नागरिक अपना योगदान दे सकेंगे।
  • गौशालाओं के संचालन का बोझ नगर निकायों पर नहीं होगा। जिससे उन्हें गोवंश का भरण पोषण करने में कोई दिक्कत नहीं आएगी।
  • मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना के माध्यम से गोवंश को गोद लेने के लिए हर नागरिक को जागरूक किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से बेसहारा, निराश्रित गोवंश को सुरक्षा मिलेगी।
  • जन सामान्य को होने वाली असुविधा और गोवंश के प्रति क्रूरता को रोकने में यह योजना कारागार साबित होगी।    

Mukhyamantri Gau Grass Seva Yojana 2024 के लिए पात्रता

  • मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना के लिए केवल उत्तर प्रदेश के नागरिक ही पात्र होंगे।
  • इस योजना के तहत गो वंश को गोद लेने के लिए राज्य के सभी आय, वर्ग के लोग पात्र होंगे। 

मुख्यमंत्री कृषि विकास योजना

मुख्यमंत्री गौ-ग्रास सेवा योजना 2024 के तहत आवेदन कैसे करें?

Mukhyamantri Gau Grass Seva Yojana के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आप कहीं जाने की आवश्यकता नहीं होगी क्योंकि नगर निगम अभियान चलेगा। जहां आप अपना योगदान देकर गोवंश को गोद लेने के लिए मासिक या वार्षिक शुल्क दे सकते हैं। ताकि  इस प्राप्त राशि के माध्यम से गोवंश के लिए गुड़, सेंधा नमक, चोकर, हरा चारा और अन्य सामग्री खरीदी जा सके और गौशालाओं का संचालन करने में नगर निकायों को कोई बाधा न पड़े। 

Mukhyamantri Gau Grass Seva Yojana FAQs

मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना क्या है?

मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना के माध्यम से गोवंश के भरण पोषण में हर नागरिक के योगदान को शामिल किया जाएगा। जिसके लिए हर घर में बनने वाली पहली रोटी पहले आटे का चोकर गाय के नाम से निकल जाएगा।

Mukhyamantri Gau Grass Seva Yojana को किस राज्य में और  किसने शुरू किया है?

मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना को उत्तर प्रदेश राज्य में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा शुरू किया गया है।

Mukhymantri Gau Grass Seva Yojana के अंतर्गत गोवंश को गोद लेने के लिए कितना शुल्क देना होगा?

मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना के अंतर्गत गोवंश को गोद लेने के लिए 600 रुपए मासिक और 7200 रुपए वार्षिक शुल्क देना होगा।

मुख्यमंत्री गौ ग्रास सेवा योजना को शुरू करने का उद्देश्य क्या है?

Mukhyamantri Gau Grass Seva Yojana को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के लोगों को गोवंश के प्रति क्रूरता को रोकना और लोगों को जागरूक करना है। ताकि निराश्रित, बेसहारा गोवंश के भरण पोषण में हर नागरिक अपना योगदान दे सके।

Leave a Comment