मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना शुरू हुई, निराश्रित बच्चों को 4000 रूपये हर महीने मिलेंगे

Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana:- हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के अनाथ बच्चों को लाभान्वित करने के लिए योजना की शुरुआत की गई है जिसका नाम मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना है। इस योजना के माध्यम से राज्य के 6000 अनाथ बच्चों को सरकार द्वारा गोद लिया जाएगा। सरकार द्वारा गोद लेकर उन बच्चों का भरण पोषण किया जाएगा। साथ ही उनकी पढ़ाई का खर्च, घर और शादी सभी तरह की सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी। मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के अंतर्गत पात्र बच्चों को हर महीने आर्थिक सहायता भी दी जाएगी। अगर आप मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना से जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको यह  आर्टिकल विस्तारपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा। क्योंकि आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Mukhyamantari Sukh Aashraya Yojana से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे।

Mukhymantari Sukh Aashray Yojana 2023

Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana 2024

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू जी द्वारा 16 फरवरी 2023 को मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना की शुरु  करने की घोषणा की गई है। इस योजना के माध्यम से राज्य के 6000 से अधिक अनाथ बच्चों को राज्य सरकार द्वारा चिल्ड्रन ऑफ स्टेट के रूप में अपनाया जाएगा। उन बच्चों की पढ़ाई लिखाई से लेकर पालनहार जैसी सभी सुविधाएं सरकार द्वारा वहन की जाएगी। इस योजना के तहत बच्चों को घर, शिक्षा और शादी सभी का लाभ सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा। Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana के अंतर्गत अनाथ और विशेष रूप से असक्षम बच्चों, निराश्रित महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों को भी शामिल किया जाएगा। इस योजना के संचालन की सरकार द्वारा 101 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। 

हिमाचल प्रदेश सहारा योजना

04th Oct Update:- मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने निराश्रित बच्चों को 4.68 करोड़ रुपए की राशि वितरित की

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने निराश्रित बच्चों को 3 अक्टूबर शिमला के रिज मैदान में मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के तहत राज्य भर के 2,466 निराश्रित बच्चों को 4.68 करोड़ रुपए की राशि वितरित की गई। इस कार्यक्रम में लगभग 900 बच्चों ने हिस्सा लिया। शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान में आयोजित समारोह में सीएम ने कहा कि हिमाचल प्रदेश अनाथ बच्चों एवं अन्य वंचित वर्गों की मदद के लिए कानून बनाने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि सरकार इन बच्चों को इनका अधिकार दे रही है। मुख्यमंत्री द्वारा इस कार्यक्रम में 30 बच्चों को एडवांस लैपटॉप भी वितरित किए गए। और कहा कि राज्य भर के अन्य 298 निराश्रित बच्चे जो 11वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं उन्हें भी 3 से 4 दिन में लैपटॉप उपलब्ध करवाए जाएंगे। 

मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना की पूरी जानकारी

योजना का नाम  Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana
घोषणा की गई  मुख्यमंत्री ठाकुर सुख विंदर सिंह सुक्खू जी द्वारा
कब शुरू हुई16 फरवरी 2023  
लाभार्थी  राज्य के अनाथ बच्चे, निराश्रित महिलाएं और वरिष्ठ नागरिक
उद्देश्य  राज्य के अनाथ बच्चों, निराश्रित महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करना
योजना  का बजट101 करोड़ रुपए  
राज्य  हिमाचल प्रदेश
साल  2024
आवेदन प्रक्रिया  अभी उपलब्ध नहीं
अधिकारिक वेबसाइट  जल्द लॉन्च होगी

Himachal Pradesh Sukh Aashraya Yojana का उद्देश्य

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के अनाथ बच्चों, निराश्रित महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है। ताकि उन्हें अपना जीवन व्यतीत करने के लिए किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े। इस योजना के माध्यम से अनाथ बच्चों को 27 साल की आयु तक सरकार द्वारा उनके खाने-पीने से लेकर रहने और शिक्षा से संबंधित सभी प्रकार की सुविधाओं का लाभ प्रदान किया जाएगा। मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के माध्यम से निराश्रित बच्चों के जीवन में सुधार हो सकेगा। जिससे उनके भविष्य को उज्जवल बनाने में मदद की जा सकेगी। और उन्हें सशक्त एवं आत्म निर्भर बनाया जा सकेगा।  

हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना

मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना में कितना पैसा मिलेगा

मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के अंतर्गत अलग-अलग सुविधाओं के अनुसार बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत निम्नलिखित सुविधाओं के लिए आर्थिक सहायता दी जाएगी। जिसका विवरण नीचे दिया गया है।

  • Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana 2024 के अंतर्गत संस्थानों में रहने वाले अनाथ बच्चों और निराश्रित महिलाओं का आवर्ती खाता खोला जाएगा।
  • 0 से 14 वर्ष की आयु के बच्चों को हर महीने सरकार द्वारा 1000 धनराशि सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी। वहीं 14 से 18 वर्ष की आयु के अनाथ बच्चों और एकल महिलाओं को हर महीने 2500 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत 18 वर्ष से अधिक आयु के बच्चों को कोचिंग और छात्रावास शुल्क के रूप में हर साल 1 लाख रुपए की धनराशि दी जाएगी।
  • इसके अलावा अनाथ बच्चों को कोचिंग के समय आवास के लिए हर महीने 4-4 हजार रुपए की छात्रवृत्ति दी जाएगी।
  • बच्चों के समग्र विकास के लिए हर महीने पिकनिक भी आयोजित किया जाएगा।
  • मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के तहत ऐसे अनाथ बच्चों को जिनके पास रहने के लिए घर नहीं है उन्हें सरकार द्वारा 3 बिस्वा जमीन और घर बनाने के लिए 3 लाख रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • जो अनाथ बच्चे शादी के योग्य होंगे उन बच्चों को सरकार द्वारा शादी के लिए 2 लाखों रुपए की अनुदान राशि दी जाएगी।
  • ऐसे अनाथ बच्चे जो अपना खुद का स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं उन्हें इस योजना के तहत सरकार द्वारा 2 लाख रुपए की एकमुश्त राशि दी जाएगी।
  • अनाथ आश्रम में रहने वाले बच्चों को हर साल सरकार द्वारा सभी त्योहारों पर त्यौहार मनाने के लिए 500 रुपए दिए जाएंगे। ताकि बच्चे त्यौहार पर अपनी जरूरत की चीजों को खरीद सके।

HP Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana 2024 के लाभ एवं विशेषताएं

  • हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू जी द्वारा 16 फरवरी 2023 को राज्य के अनाथ बच्चों के लिए मुख्यमंत्री योजना को शुरू करने की घोषणा की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से 6000 से अधिक अनाथ बच्चों को लाभान्वित किया जाएगा।
  • राज्य सरकार द्वारा अनाथ बच्चों को चिल्ड्रन ऑफ स्टेट के रूप में अपनाया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत अनाथ और विशेष रूप से असक्षम बच्चों, निराश्रित महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों को भी शामिल किया जाएगा।
  • मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के अंतर्गत अनाथ बच्चों को रहने के लिए आवास, भूमिहीन बच्चों को 3 बिस्वा जमीन, विवाह के लिए 2 लाख रुपए का अनुदान दिया जाएगा।
  • इस योजना के लिए सरकार द्वारा 101 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।
  • अनाथ बच्चों को उत्तम शिक्षा प्रदान करने के लिए निशुल्क कोचिंग की सुविधा के साथ-साथ जरूरी अध्ययन सामग्री भी सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत महिलाओं एवं वृद्ध जनों के लिए एकीकृत परिसरों का निर्माण किया जाएगा।
  • अनाथ आश्रम में रहने वाले बच्चों के लिए म्यूजिक रूम, बाथरूम, आधुनिक क्लासरूम, इनडोर और आउटडोर गेम्स के लिए मैदान आदि की व्यवस्था की जाएगी।
  • 18 वर्ष से अधिक अनाथ बच्चों को 27 वर्ष की आयु तक आफ्टर केयर इंस्टिट्यूशन में रहने और खाने-पीने की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ प्रदान कर अनाथ बच्चों का भविष्य उज्जवल बनाया जा सकेगा।

हिमाचल प्रदेश बालिका जन्म उपहार योजना 

मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के लिए पात्रता

  • Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana के लिए आवेदक को हिमाचल प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए। तभी आप इस योजना के लिए पात्र होंगे।
  • केवल राज्य के अनाथ बच्चे ही इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र होंगे।
  • निराश्रित महिलाएं और वरिष्ठ नागरिक भी इस योजना के लिए पात्र होगे।
Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बच्चे के माता पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • निराश्रित महिलाओं का शपथ पत्र
  • उत्तीर्ण कक्षा की मार्कशीट
  • कोचिंग की सुविधा के लिए छात्रावास की रसीद
  • भूमिहीन होने का शपथ पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर 

मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना 2024 के तहत आवेदन कैसे करें?

Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana का लाभ प्राप्त करने के लिए अभी आपको थोड़ा इंतजार करना होगा। क्योंकि मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना को केवल अभी शुरू करने की घोषणा की गई है। सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई है। जैसे ही सरकार द्वारा इस योजना के तहत आवेदन करने से संबंधित जानकारी प्रदान की जाएगी। तो हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से सूचित कर देंगे ताकि आप इस योजना के तहत आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सके। 

Leave a Comment