यूपी मिशन शक्ति 3.0: Mission Shakti UP लाभ, विशेषता व कार्यान्वयन प्रक्रिया

UP Mission Shakti 3.0 Online Registration | यूपी मिशन शक्ति 3.0 कार्यान्वयन प्रक्रिया | UP Mission Shakti 3.0 Application Form | यूपी मिशन शक्ति 3.0 विशेषता

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं हमारे समाज में आज भी महिलाओं को लेकर नकारात्मक सोच रखी जाती है। इस सोच में बदलाव करने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार के जागरूकता अभियान का संचालन किया जाता है। इसके अलावा विभिन्न प्रकार की योजनाएं भी संचालित की जाती है। आज हम आपको उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आरंभ की गई ऐसी ही एक योजना से संबंधित जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं जिसका नाम यूपी मिशन शक्ति 3.0 है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण किया जाएगा। इस लेख को पढ़कर आपको इस योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी। जैसे कि इसका उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो दोस्तों यदि आप यूपी मिशन शक्ति 3.0 से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

UP Mission Shakti 3.0

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यूपी मिशन शक्ति अभियान का शुभारंभ सन 2020 में किया गया था। इस योजना को प्रदेश की महिलाओं एवं बेटियों को सवालंबी एवं सुरक्षित बनाने के लिए आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से विभिन्न प्रकार के जागरूकता एवं ट्रेनिंग प्रोग्राम का संचालन किया जाता है जिससे कि महिलाओं को उनके अधिकारों से संबंधित जानकारी पहुंचाई जा सके। उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में इस योजना को लांच किया गया था। इस योजना के पहले चरण को लांच करते समय इस योजना को दो भागों में विभाजित किया गया था। जोकि मिशन शक्ति एवं ऑपरेशन शक्ति था।

  • मिशन शक्ति अभियान का फोकस महिलाओं को उनके अधिकारों को लेकर जागरूक करने पर था एवं ऑपरेशन शक्ति का फोकस उन लोगों को सजा दिलाने पर था जिन्होंने महिलाओं के साथ कोई दुर्व्यवहार या अपराध किया है। अब सरकार द्वारा इस योजना का तीसरा चरण आरंभ किया जा रहा है। जिसका शुभारंभ 21 अगस्त 2021 को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान, लखनऊ में होगा।
  • इस मौके पर इस योजना के पहला एवं दूसरे चरण में उल्लेखनीय कार्य करने वाले 47 जिलों की 75 महिला अधिकारियों व कर्मचारियों को पुरस्कार भी प्रदान किया जाएगा। इस कार्यक्रम में प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण उपस्थित होंगी।
यूपी मिशन शक्ति 3.0

75000 महिलाओं को जोड़ा जाएगा उद्यमिता से

महिलाओं को स्वलंबित बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा एक नई मुहिम का आरंभ किया गया है। अब महिलाओं के अंतर्गत उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत 75 जिलों की 75000 महिलाओं को उद्यमिता से जोड़ने के लिए विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। यह प्रशिक्षण शिविरों के माध्यम से प्रदान किया जाएगा। इन शिविरों के माध्यम से महिलाओं को आत्मनिर्भर भी बनाया जा सकेगा। सभी प्रशिक्षणार्थियों को टूलकिट भी प्रदान की जाएगी। प्रशिक्षण समाप्त होने के पश्चात उद्यम स्थापित करने के लिए बैंकों से आसान किस्त पर लोन भी प्रदान कराया जाएगा। जिससे कि महिलाओं की वित्तीय जरूरतों को पूरा किया जा सके।

इसके अलावा महिला उद्यमियों के लिए हेल्प डेस्क, मोबाइल एप एवं वेबसाइट भी आरंभ की जाएगी। एक जनपद एक उत्पाद योजना के चिन्हित उत्पादको पर आधारित डाक टिकट और विशेष कवर का विमोचन भी इस अवसर पर किया जाएगा। मिशन शक्ति अभियान को महिलाओं एवं लड़कियों को जागरूक करने के उद्देश्य से आरंभ किया गया था। इसके अलावा महिलाओं के प्रति होने वाली हिंसा करने वाले लोगों की पहचान उजागर करना एवं महिलाओं को राज्य में सुरक्षित महसूस करवाना भी इस योजना का एक मुख्य उद्देश्य है।

प्रदान किए जाएंगे आधारित विशेष कवर एवं डाक टिकट

मिशन शक्ति अभियान का उद्घाटन करते समय मुख्यमंत्री जी द्वारा कहा गया कि जिस तरह से ओडीओपी योजना पूरे देश में सराही जा रही है इसी तरह जल्द मिशन शक्ति अभियान भी सराहा जाएगा। इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक थाने में महिला हेल्प डेस्क भी स्थापित किया गया है। गांव में महिला शक्ति बूथ भी स्थापित किए गए हैं। इसके अलावा इस अभियान के तीसरे चरण में 20000 से अधिक महिला आरक्षिओ को बीट पुलिस के रूप में फील्ड की जिम्मेदारी भी प्रदान की गई है। यह सभी पुलिसकर्मी गांव गांव में महिलाओं को सुरक्षा एवं सम्मान सुनिश्चित करने का प्रयास कर रही हैं। इसके अलावा महिलाओं को शासन की योजनाओं से जोड़कर स्वालंबन प्रदान करने की राह भी दिखा रही हैं।

इस योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश की महिलाएं सुरक्षित, सफल और स्वावलंबी हो रही हैं। एक जनपद एक उत्पाद योजना के अंतर्गत शामिल सभी 75 जिलों के उत्पादों पर आधारित विशेष कवर एवं डाक टिकट का भी अनावरण किया जा रहा है। यह अनावरण मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत किया जा रहा है।

Key Highlights Of UP Mission Shakti 3.0

योजना का नाममिशन शक्ति अभियान 3.0
किसने आरंभ कीउत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थीउत्तर प्रदेश की महिलाएं
उद्देश्यमहिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाना
आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें
साल2021
राज्यउत्तर प्रदेश

महिलाओं को किया जाएगा उनके अधिकारों को लेकर जागरूक

प्रदेश की महिलाओं को जागरूक एवं सशक्त बनाने के लिए एवं उनको सरकार द्वारा आरंभ की गई विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ने के लिए यूपी मिशन शक्ति अभियान का शुभारंभ किया गया है। अब महिलाएं इस योजना के माध्यम से स्वालंबन की राह पर तेजी से बढ़ रही है। इस योजना के माध्यम से महिलाएं अपने अधिकारों के बारे में जागरूक हो रही है। वूमेन वेलफेयर डिपार्टमेंट द्वारा विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत किया जाता है। जिसके माध्यम से प्रदेश की महिलाओं को जागरूक किया जाता है।

सितंबर 2021 में इस योजना के माध्यम से प्रदेश की महिलाओं को उनके कानूनी अधिकार से संबंधित जागरूकता प्रदान की जाएगी। 21 सितंबर 2021 तक महिलाओं को हिंसा से कानून एवं प्रावधानों से संबंधित जानकारी प्रदान की जाएगी। ग्राम सभा स्तर पर जागरूकता अभियान का भी संचालन किया जाएगा। जिससे कि प्रदेश की महिलाएं अपने अधिकारों को लेकर जागरूक हो सके।

प्रदेश की महिलाएं कर सकेंगी महिला कल्याण योजनाओं के अंतर्गत आवेदन

मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत एक टीम का भी गठन किया जाएगा जो कि प्रत्येक ग्राम सभा के अलग-अलग ब्लॉक में जाकर महिलाओं को जागरुक करने का कार्य संपन्न करेगी। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा स्वावलंबन कैंप भी संचालित किए जा रहे हैं। इन कैंपों के माध्यम से प्रदेश की महिलाओं को विभिन्न प्रकार की योजनाओं के अंतर्गत पंजीकृत किया जा रहा है। इसके अलावा विभिन्न प्रकार की योजनाओं से संबंधित जानकारी प्रदान की जा रही है। इन योजनाओं में डेस्टिट्यूट वूमेन पेंशन स्कीम, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना आदि जैसी योजनाएं शामिल है। कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत इन कैंपों के माध्यम से 6314 आवेदन प्राप्त हुए हैं जिसमे से 4489 आवेदन स्वीकार कर लिए गए हैं। इसके अलावा डेस्टिट्यू वुमन पेंशन स्कीम के अंतर्गत 2002 आवेदन प्राप्त हुए है जिसमे से 1264 आवेदन स्वीकार कर लिए गए है।

  • मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत 399 आवेदन प्राप्त हुए हैं जिनमें से 187 आवेदन स्वीकार कर लिए गए हैं। इसके अलावा 169 जनरल आवेदन भी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत प्राप्त हुए हैं। स्वावलंबन कैंप 9 सितंबर 2021 को आयोजित किए जाएंगे।
  • इन कैंपों पर सत्यापन अधिकारी एवं अनुमोदन अधिकारी उपस्थित होगा। जिससे कि 1 दिन के अंदर अंदर ही अनुमोदन की प्रक्रिया पूरी हो सके। इसके अलावा राज्य में ग्रामसभा स्तर पर एक मेगा प्रोग्राम का भी आयोजन किया जाएगा।
  • प्रदेश की महिलाओं के अंतर्गत जागरूकता फैलाने के लिए विभिन्न प्रकार के नाटकों का भी आयोजन किया जाएगा। इन नाटकों के माध्यम से विभिन्न प्रकार की महिला कल्याण योजनाओं का प्रचार-प्रसार भी किया जाएगा।

मिशन शक्ति अभियान 3.0 में दिए जाने वाली कुछ मुख्य लाभ

UP Mission Shakti 3.0 के कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री निरीक्षक महिला पेंशन योजना के 29.68 लाख महिलाओं के खाते में 451 करोड रुपए की राशि हस्तांतरित की जाएगी। इसी के साथ 1.73 लाख से अधिक नए लाभार्थियों को भी इस योजना से जोड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला की 1.55 लाख बेटियों के खाते में इस कार्यक्रम में 30.12 करोड रुपए हस्तांतरित किया जाएंगे। इसके अलावा 59 ग्राम पंचायत भवनों में मिशन शक्ति कक्ष की शुरुआत भी की जाएगी। तीसरे चरण में महिलाओं को रोजगार की मुख्यधारा से जोड़ा जाएगा। इस कार्यक्रम में महिला बीट पुलिस अधिकारियों की तैनाती भी की जाएगी। इसके अलावा 84.79 करोड रुपए की लागत से 1286 थानों में पिंक टॉयलेट का निर्माण भी किया जाएगा। महिला बटालियन के लिए 2982 पदों पर विशेष भर्ती भी की जाएगी। इसके अलावा इस कार्यक्रम में सभी पुलिस लाइन में बालवाड़ी क्रोच की स्थापना भी की जाएगी।

75 महिलाओं को किया जाएगा सम्मानित

इस अभियान के तीसरे चरण में बालिनी दुग्ध उत्पादक कंपनी की तर्ज पर नई कंपनियां भी स्थापित की जाएगी। यह कंपनियां रायबरेली, सुल्तानपुर, अमेठी, सोनभद्र, चंदौली, मिर्जापुर, बलिया, गाजीपुर, गोरखपुर, देवरिया, महाराजगंज, कुशीनगर, बरेली, पीलीभीत, लखीमपुर खीरी और रामपुर जिले में स्थापित की जाएंगी। इस अभियान के अंतर्गत दिसंबर 2021 तक एक लाख नए स्वयं सहायता समूह बनाने का लक्ष्य भी निर्धारित किया गया है। प्रदेश के 75 जिलों में विभिन्न कार्यक्रम संचालित किए जाएंगे जिनकी गेस्ट ऑफ ऑनर महिला होंगी। करोना काल में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 75 महिलाओं को सम्मानित किया जाएगा जो चिकित्सा, स्वास्थ्य कर्मी, महिला स्वयं सहायता समूह, महिला स्वयंसेवी संगठन आदि के क्षेत्र से है। इस अभियान के तीसरे चरण के अंतर्गत पुलिस सेवाएं महिलाओं के डोरस्टेप तक पहुंचाई जाएंगी। इसके अलावा पुलिस स्टेशन में वुमन हेल्प डेस्क को स्थापना जाएगी जिसके माध्यम से एकल माओ को सहायता प्रदान की जाएगी।

मिशन शक्ति अभियान 3.0 का उद्देश्य

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य प्रदेश की महिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाना है। इस अभियान के माध्यम से विभिन्न प्रकार के जागरूकता एवं ट्रेनिंग प्रोग्राम का संचालन किया जाता है। जिससे कि प्रदेश की महिलाओं को उनके अधिकारों को लेकर जागरूक बनाया जा सके। इस अभियान को प्रदेश के 75 जिलों में आरंभ किया गया था। इस योजना की संचालन की अवधि 6 महीने निर्धारित की गई थी। जिसके अंतर्गत इस योजना के दो चरण में विभाजित किया गया है जो कि UP Mission Shakti 3.0 एवं ऑपरेशन शक्ति है। मिशन शक्ति अभियान का मुख्य उद्देश्य देश की महिलाओं को अपने अधिकारों को लेकर जागरूक करना है एवं ऑपरेशन शक्ति के अंतर्गत उन लोगों को सजा देने का प्रावधान है जिन्होंने महिलाओं के साथ किसी प्रकार का दुर्व्यवहार या अपराध किया है। अब इस योजना का तीसरा चरण लांच किया गया है।

UP Mission Shakti 3.0 के लाभ तथा विशेषताएं

  • यूपी मिशन शक्ति अभियान का शुभारंभ उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सन 2020 में किया गया था।
  • इस योजना को प्रदेश की महिलाओं एवं बेटियों को स्वलंबी एवं सुरक्षित बनाने के लिए आरंभ किया गया था।
  • इस योजना के माध्यम से विभिन्न प्रकार के जागरूकता एवं ट्रेनिंग प्रोग्राम का संचालन किया जाता है जिससे कि महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सुरक्षित रखा जा सके।
  • प्रदेश के सभी 75 जिलों में इस योजना को लांच किया गया था।
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अब इस योजना का तीसरा चरण आरंभ होने जा रहा है।
  • UP Mission Shakti 3.0 के तीसरे चरण का शुभारंभ 21 अगस्त 2021 को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान, लखनऊ में होगा।
  • इस मौके पर इस योजना के पहले एवं दूसरे चरण में उल्लेखनीय कार्य करने वाले 47 जिलों की 75 महिला अधिकारियों व कर्मचारियों को पुरस्कार भी प्रदान किए जाएंगे।
  • इस कार्यक्रम में प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी उपस्थित होंगी।
  • मिशन शक्ति अभियान 3.0 के कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री निरीक्षक पेंशन योजना की 29.68 लाख महिलाओं के खाते में ₹451 की राशि हस्तांतरित की जाएगी।
  • 1.73 लाख से अधिक नए लाभार्थियों को भी इस योजना से जोड़ा जाएगा।
  • मुख्यमंत्री सुमंगला योजना की 1.55 लाख बेटियों के खाते में इस कार्यक्रम के दौरान 30.12 करोड रुपए हस्तांतरित किए जाएंगे।
  • प्रदेश की 59 ग्राम पंचायत भवनों में मिशन शक्ति कक्ष की भी शुरुआत की जाएगी।
  • इस योजना के तीसरे चरण के माध्यम से रोजगार को मुख्यधारा से जोड़ा जाएगा।
  • इस कार्यक्रम में महिला बीट पुलिस अधिकारी की तैनाती भी की जाएगी।
  • 84.79 करोड़ रुपए की लागत से 1286 थानों में पिंक टॉयलेट का निर्माण भी किया जाएगा।

यूपी मिशन शक्ति 3.0 की पात्रता तथा महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक उत्तर प्रदेश की स्थाई निवासी होने चाहिए।
  • आवेदक महिला होनी चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

यूपी मिशन शक्ति 3.0 आवेदन प्रक्रिया

यदि आप यूपी मिशन शक्ति 3.0 के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको अभी कुछ समय इंतजार करना होगा। सरकार द्वारा अभी केवल इस योजना की घोषणा की गई है। जल्द सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया से संबंधित जानकारी प्रदान की जाएगी। जैसे ही सरकार द्वारा आवेदन से संबंधित कोई भी जानकारी प्रदान की जाएगी हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से जरूर बताएंगे। तो आप से निवेदन है कि आप हमारे इस लेख से जुड़े रहे।

Leave a Comment