(पंजीकरण) उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना: मजदूर भत्ता योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण:- कोरोना वायरस संक्रमण के कारण उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन लगा हुआ है। इस स्थिति में प्रदेश के श्रमिक अपना भरण-पोषण नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे सभी श्रमिकों के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना का आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश के श्रमिकों को अपना भरण-पोषण करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जैसे कि उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना क्या है?, इसके लाभ, विशेषताएं, उद्देश्य, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो दोस्तो यदि आप उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

मजदूर भत्ता योजना

उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना 2024

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं लॉकडाउन की स्थिति मे सभी श्रमिकों द्वारा अपना भरण-पोषण करना मुश्किल होता है। इसलिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना का आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश के श्रमिकों को ₹1000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इसी के साथ उत्तर प्रदेश के श्रमिकों को खाद धन से भी मदद प्रदान की जाएगी। उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना के माध्यम से प्रत्येक पंजीकृत मजदूर, नाविक, रिक्शा व ट्रॉली चालक, ठेला, खोमचा, रेहड़ी लगाने वाले दुकानदार, पल्लेदार, हलवाई, दिहाड़ी मजदूर आदि आवेदन कर सकते हैं।

  • यह धनराशि सीधे लाभार्थी के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से भेजी जाएगी। इसके अलावा सरकार द्वारा अंत्योदय एवं पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों को मुफ्त खाद्यान्न देने की भी घोषणा की गई है।
  • वह सभी कार्ड धारक जिनके पास राशन कार्ड नहीं है वह भी वरीयता से कार्ड बनवा कर राशन प्राप्त कर सकते है।

UP Berojgari Bhatta

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना मुख्य तथ्य

योजना का नाम मजदूर भत्ता योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा
लॉन्च की तारीक 21 मार्च
लाभार्थी राज्य के मजदूर परिवार
उद्देश्य राज्य के मजदूरों को भत्ता प्रदान करना
ऑफिशल वेबसाइटhttp://uplabour.gov.in/

उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना के लाभार्थी

  • रिक्शा चालक
  • पटरी व्यवसायियों
  • निर्माण श्रमिकों
  • अंत्योदय श्रेणी के लोगों
  • स्ट्रीट वेंडर
  • पल्लेदार
  • सड़क किनारे रेडी खोमचा लगाने वाले
  • रिक्शा और ठेला चालक
  • नाई
  • धोबी
  • दर्जी
  • मोची
  • फल और सब्जी विक्रेता
  • दिहाड़ी मजदूर
  • हलवाई आदि

उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूर घर वापसी पंजीकरण

योगी मजदूर योजना का उद्देश्य

जैसे की आप लोग जानते है जब से पूरे देश में कोरोना वायरस की वजह से हाहाकार मचा हुआ है जिससे लोग काफी डरे हुए है जिसकी वजह से मजदूर अपने कामो पर भी नहीं जा पा रहे है जिसकी वजह से पैसे न होने के कारण  मजदूर अपनी आर्थिक ज़रूरतों को पूरा नहीं कर पा रहे है और कोरोना वायरस की वजह से मंदी के भी आसार साफ दिखाई दे रहे है इन समस्याओ को देखे हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने इस उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना के शुरू किया है इस योजना के ज़रिये दिहाड़ी मजदूरों और निर्माण श्रमिको को राज्य सरकार द्वारा अपनी दैनिक ज़रूरतों को पूरा करने के लिए 1000 रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान करना ।जिसे मजदूरों को घर पर किसी तरह की खाने पीने में कोई परेशानी न हो ।

मजदूर भत्ता योजना का लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के गरीब दिहाड़ी मजदूर और निर्माण श्रमिक (रिक्शा वाले, खोमचे वाले, रेहड़ी वाले, फेरी वाले, निर्माण कार्य करने वाले) को यूपी सरकार द्वारा 1000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी ।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के 35 लाख मजदूरों को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी ।
  • योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य के बीपीएल परिवारों को 20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल सरकार मुफ्त में देगी। पीडीएस केंद्रों से ये लोगों को दिया जाएगा ।
  • यूपी मजदूर भत्ता योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के ही मजदूर लोगो को ही प्रदान किया जायेगा ।
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘हमने प्रदेश में आइसोलेशन वार्ड बनाए हैं। इस वायरस से घबराने की नहीं, चुनौतियों से लड़ने की जरूरत है।’ उन्होंने कहा कि मजदूरों, ठेला लगाने वालों आदि को तत्काल राशन उपलब्ध कराने का फैसला लिया है।
  • Uttar Pradesh Majdur Bhatta Yojana में उन मजदूरो को लिया जा रहा है जो श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत हैं।
  • इस योजना के तहत दिया जाने वाला लाभ सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट में सरकार दुआर ट्रांसफर किया जायेगा ।इसलिए  आवेदक का बैंक अकॉउंट होना अनिवार्य है और बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए ।

Uttar Pradesh Majdur Bhatta Yojana की पात्रता

  • श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत मजदूरों को इस योजना का लाभ मिलेगा ।
  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए ।
  • अगर आपके पास श्रम विभाग, नगर विकास या ग्राम सभाओं में से किसी का भी कोई पंजीकृत सर्टिफिकेट या दस्तावेज नहीं है तो आपको भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड

मजदूर भत्ता योजना में आवेदन कैसे करे?

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए राज्य के लोगो को नगर निगम में जाकर आवेदन करना होगा इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के लोगो को पंजीकृत करने के लिए नगर निगम ,नगर पालिका , नगर निकाय द्वारा उक्त प्रपत्र जारी किया गया है उक्त प्रपत्र में ऐसी व्यक्तियों के बारे में भरा जायेगा । जो श्रम विभाग मे पजीकृत नहीं है। तथा मानरेगा कार्ड धारक नहीं है।
उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण
  • पटरी दुकानदार/ वेंडर, रिक्शा/ इक्का/ तांगा चालक, टेम्पो/ ऑटो/ ई रिक्शा चालक, दैनिक दिहाड़ी मजदूर/ मंडियो मे पल्लेदारी करने वाले / ठेलिया चलाने वाले, अन्य दैनिक कार्य करने वाले व्यक्ति आदि इस श्रेणी/वर्गों संबद्ध मे संलग्न प्रारूप पर उपलब्ध उकतानुसार वंचित संकलित सूचनाए ऑनलाइन फीड करने के लिए प्रतेयक नगर निगम मे नामित नोडल अधिकारी, नगर पालिका परिसद/ नगर पंचायत मे अधिशासी अधिकारी उत्तरदाई होंगे।
  • जिलाधिकारी गरीब लोगो की सूचनाओ को ऑनलाइन फीड करने हेतु अपर जिलाधिकारी स्तर के एक अधिकारी को जिला स्तर पर नोडल अधिकारी तथा तहसील स्तर पर एक अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित करेंगे।
  • नगर निगम स्तर से नगर आयुक्त एवं जिला स्तर पर अधिकारी द्वारा स्थानीय निकाय क्षेत्र में दैनिक जीवन यापन करने वाले व्यक्तियों के विषय में सूचना प्रपत्र भरा जायेगा ।
  • उपयुक्त प्रस्तर-2 मे अंकित श्रेणी के लिए नगरीय स्थानीय निकायो मे पंजीकृत/ सत्यापित पटरी दुकानदार/ वेन्द्र्स की उपलब्ध सूची, रिक्शा चालक/इक्का, तांगा चालक की नगरीय स्थानीय निकायो मे उपलब्ध पंजीकृत सूची का प्रयोग किया जा सकता है।
  • दिहाड़ी मजदूरों के लिए लेबर अड्डो पर एकत्र होने वाले व्यक्तियों से संपर्क करके सूचनाओ का संकलन किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त दैनिक रूप से जीवन यापन करने वाले अन्य व्यक्तियों के पंजीकृत संगठनो से भी संपर्क कर वांछित सूचनाए प्राप्त की जा सकती है।
  • उपयुक्त वंचित सूचनाएं अपलोड करने के लिए निर्देशक ,स्थानीय निकाय द्वारा ऑनलाइन पोर्टल जल्दी जारी कर ऑनलाइन ऑनलाइन पोर्टल पर यूज़र आईडी एवं पासवर्ड जल्दी सभी जनपदों के जिलाधिकारियों को उपलब्ध कराया जायेगा ।जो नोडल अधिकारीगण को पासवर्ड उपलब्ध करायेगे ।यह कार्यवाही आने वाली 15 दिनों में पूरी की जाएगी ।

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के तहत सरकार द्वारा लाभ प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे और योजना का लाभ उठाये ।

  • सबसे पहले आवेदक को Labour Department को ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा ।ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा ।
उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना
  • इस होम पेज पर आपको Online Registration and Renewal का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा ।विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज खुल जायेगा ।
उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना
  • इस पेज पर आपको लॉगिन फोम दिखाई देगा आपको इस लॉगिन में नीचे Registration Now का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा ।
मजदूर भत्ता योजना ऑनलाइन
  • विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने नया पृष्ट खुल जायेगा इस  पेज पर आपको सदस्य पंजीकरण’ अनुभाग के अंतर्गत “नया पंजीकरण” टैब पर क्लिक करना होगा ।
  • फिर आपको Nivesh मित्र पोर्टल पर पर भेज दिया जाएगा। इस पृष्ठ पर, यूपी योगी मजदूर भत्ता योजना ऑनलाइन आवेदन प्रपत्र खोलने के लिए Here एंटरप्रेन्योर लॉगिन ’सेक्शन के तहत“Register Here”लिंक पर क्लिक करना होगा ।
मजदूर भत्ता योजना ऑनलाइन
  • इसके बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा आपको इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे नाम , मोबाइल ,आधार नंबर आदि भरनी होगी ।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Register के बटन पर क्लिक करना होगा ।

Leave a Comment