Krishi Sakhi Yojana 2024: कृषि सखी बनने के लिए आवेदन कैसे करें, पात्रता

Krishi Sakhi Yojana

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि आज के समय में महिलाएं प्रत्येक क्षेत्र में आगे है इसलिए अब उन्हें आधुनिक कृषि तकनीकों और बेहतर खेती के तरीकों के बारे में ट्रेनिंग देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा Krishi Sakhi Yojana का शुभारंभ किया गया है। मंगलवार 15 जून 2024 को वाराणसी में इस योजना को शुरू करते हुए पीएम मोदी द्वारा कृषि सखियों को सर्टिफिकेट का वितरण भी किया गया। इस योजना के माध्यम से देश की ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने के लिए कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी। जिससे उनके जीवन स्तर में सुधार हो सके। तो आईए जानते हैं कि कृषि सखी योजना क्या है? इस योजना के माध्यम से किसानों को क्या लाभ होगा और कितनी ग्रामीण सखियों को मिलेगा प्रशिक्षण? इन सभी से जुड़ी जानकारी के लिए आपको यह आर्टिकल विस्तार पूर्वक अंत तक पढ़ना होगा।

Krishi Sakhi Yojana 2024 Kya Hai ?

भारत सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र में सुधार करने और किसानों को बेहतर जीवन प्रदान करने के लिए कृषि सखी योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को कृषि से जुड़े विभिन्न कार्यों जैसे मृदा परीक्षण, बीज प्रसंस्करण, जैविक खाद निर्माण, फसल संरक्षण कटाई आदि के बारे में ट्रेनिंग दी जाएगी। इस ट्रेनिंग के माध्यम से न केवल महिलाएं किसानों की मदद करेगी बल्कि कृषि क्षेत्र में अच्छा ज्ञान प्राप्त कर उचित आय प्राप्त करने में भी सक्षम होंगी। ट्रेनिंग के बाद महिलाएं कृषि सखी गांवों में कृषि उद्यमी बन सकती है। जिससे न केवल अन्य किसानों को सलाह देगी बल्कि अपना खुद का कृषि शुरू कर अच्छी आमदनी कर सकती है।

Lakhpati Didi Yojana

कृषि सखी योजना 2024 के बारे में जानकारी

योजना का नामKrishi Sakhi Yojana
शुरू की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा  
संबंधित विभागकृषि और ग्रामीण विकास मंत्रालय  
लाभार्थीदेश की महिलाएं  
उद्देश्यकिसानों को तकनीकी ज्ञान और समर्थन प्रदान करना
लाभग्रामीण इलाकों की बहनों को प्रशिक्षण देकर कृषि सखी तैयार करना
आवेदन प्रक्रियाऑफलाइन  
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च होगी।  

Krishi Sakhi Yojana का उद्देश्य

भारत सरकार द्वारा कृषि सखी योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य किसानों को तकनीकी ज्ञान और समर्थन प्रदान करना है। जिसके लिए किसानों की सहायता हेतु कई बहनों को प्रशिक्षण देकर कृषि सखी के रूप में तैयार किया जाएगा। जिससे वह खेती में अलग-अलग कामों के माध्यम से किसानों का सहयोग कर सकेंगी। और लगभग सालाना 60 से 80 हजार रुपए अतिरिक्त कमाई कर सकेंगी। यह योजना कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाएगी। जिससे महिलाएं आत्मनिर्भर एवं सशक्त होकर अपना जीवन यापन कर सकेगी। 

किसानों की मददगार के साथ कमाई भी

कृषि सखी योजना के माध्यम से किसानों को कृषि विशेषज्ञता की उपलब्ध कराना है जिसके लिए ग्रामीण महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जा रहा है इससे एक तरफ महिलाओं का खेती में दखल बढ़ेगा तो दूसरी और ग्रामीण रोजगार में महिलाओं को भी रोजगार उपलब्ध होगा। साथ ही इस योजना के माध्यम से किसान परिवारों की आय में बढ़ोतरी होगी। क्योंकि इस योजना के तहत कृषि सखी के लिए उन महिलाओं को चयनित किया जाएगा जिन्हें खेती की समझ है। इस योजना के माध्यम से कृषि सखियों को विभिन्न कृषि पद्धतियों के बारे में व्यापक प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिससे किसानों को प्रभावित ढंग से सहायता और मार्गदर्शन देने के लिए अच्छी तरह से सुसज्जित होगी।

कृषि मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी अनुसार महिलाएं 1 वर्ष में 60 हजार से 80 हजार रुपए तक की कमाई कर सकती है। आपको बता दें कि अब तक 70,000 में से 34,000 कृषि सखियों को पैरा एक्सटेंशन एक्टिविस्ट के तौर पर सर्टिफिकेट दिया जा चुका है। 

PM Matru Vandana Yojana

पहले चरण में इन राज्यों में शुरू होगी कृषि सखी योजना

केंद्र सरकार का लक्ष्य देश की तीन करोड़ महिलाओं को सरकारी योजनाओं के माध्यम से लखपति बनना है जिनमें से एक करोड़ महिलाओं का लक्ष्य प्राप्त किया जा चुका है बाकी 2 करोड़ महिलाओं को कृषि सखी योजना के माध्यम से सशक्त और स्वतंत्र बनाया जाएगा। महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए कृषि और ग्रामीण मंत्रालय मिलकर इस योजना को चलाएंगे। एक समझौता ज्ञापन पर भी इन दोनों मंत्रालय ने हस्ताक्षर किया है। देश के 12 राज्यों में कृषि सखी योजना का पहला चरण शुरू कर दिया गया है। जोकि निम्नलिखित हैं।

  • गुजरात
  • उत्तर प्रदेश
  • मध्य प्रदेश
  • छत्तीसगढ़
  • कर्नाटक
  • महाराष्ट्र
  • तमिलनाडु
  • ओडिशा
  • राजस्थान
  • मेघालय
  • आंध्र प्रदेश
  • झारखंड

90,000 महिलाओं को दिया जाएगा कृषि प्रशिक्षण

देश के 12 राज्यों में इस योजना को लागू किया जाएगा। इसके पहले चरण में 90 हजार महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी। यह ट्रेनिंग कृषि विज्ञान केंद्र और कृषि विभागों द्वारा दी जाएगी। अब तक कृषि सखी कार्यक्रम के तहत 34,000 से अधिक कृषि सखियों को पैरा एक्सटेंशन कर्मी के रूप में प्रमाणित किया जा चुका है। इन कृषि सखियों को कृषि पैरा विस्तार कार्यकर्ताओं के रूप में इसलिए चुना गया है क्योंकि उन्हें खेती की अच्छी समझ होती है। कृषि पैरा एक्सटेंशन में शामिल होने के बाद महिलाओं को 56 दिनों की ट्रेनिंग दी जाएगी। जिसमें उन्हें भूमि की तैयारी से लेकर फसल काटने तक इकोलॉजिकल प्रैक्टिस कराई जाएगी। 

Krishi Sakhi Yojana 2024 के लाभ एवं विशेषताएं

  • किसानों की सहायता के लिए ग्रामीण इलाके की बहनों को प्रशिक्षण देकर कृषि सखी के रूप में तैयार किया जाएगा।
  • खेती में अलग-अलग कामों के माध्यम से किसानों का सहयोग कर कृषि सखी 60 से 80 हजार रुपए तक की सालाना अतिरिक्त आय अर्जित करने में सक्षम होगी।
  • Krishi Sakhi को प्रतिमाह संसाधन शुल्क भी मिलेगा।
  • इस योजना को पहले चरण में देश के 12 राज्यों में लागू किया जाएगा। 
  • कृषि सखी योजना के तहत पहले चरण में लगभग 90,000 महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी।
  • किसान फील्ड स्कूलों का आयोजन, बीज बैंक की स्थापना और मैनेजमेंट, मृदा स्वास्थ्य, एकीकृत कृषि प्रणाली, पशुधन प्रबंधन की मूल बातें, बायो इनपुट की तैयारी उपयोग एवं बायो इनपुट दुकानों की स्थापना और बुनियादी संचार कौशल के बारे में बताया जाएगा।
  • यह योजना ग्रामीण महिलाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध करेंगी।
  • इस योजना के माध्यम से ग्रामीण महिलाओं के कौशल को बढ़ावा मिलेगा।
  • कृषि सखी योजना के माध्यम से खेती में महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी। 

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना

कृषि सखी योजना 2024 के लिए पात्रता

  • कृषि सखी योजना का लाभ केवल भारतीय महिलाएं ही प्राप्त कर सकेंगी।
  • देश की गरीब और निम्न आय वर्ग की महिलाएं इस योजना के लिए पात्र होगी।
  • आवेदक महिला की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। 
  • कृषि सखी योजना के लिए ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं पात्र होगी।
  • इस योजना को देश के 12 राज्यों में लागू किया गया है।

Krishi Sakhi Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

कृषि सखी योजना के अंतर्गत आवेदन महिलाओं के पास निम्नलिखित दस्तावेजों का होना आवश्यक है।

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र 
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक खाता पासबुक 

कृषि सखी योजना 2024 के तहत आवेदन कैसे करें?

  • कृषि शक्ति योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी कृषि विभाग कार्यालय जाना होगा।
  • वहां जाकर आपको कृषि सखी योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको उसमें पूछी गई जानकारी को दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको आवेदन फॉर्म में मांगे गए दस्तावेजों को संलग्न करना होगा।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको आवेदन फॉर्म सहित दस्तावेजों को वापस वही जमा कर देना होगा जहां से अपने प्राप्त किया था। 
  • आवेदन पत्र जमा करते समय आपको एक रसीद दी जाएगी।
  • जिसे आपको अपने पास सुरक्षित रखना होगा।
  • संबंधित अधिकारी द्वारा आपके आवेदन फॉर्म की जांच हो जाएगी। सही पाए जाने पर आपको कृषि सखी के रूप में चयनित किया जाएगा।  

FAQs

कृषि सखी योजना की शुरुआत कब की गई?

कृषि सखी योजना की शुरुआत 15 जून 2024 को की गई। 

Krishi Sakhi Yojana का उद्देश्य क्या है?

Krishi Sakhi Yojana का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाना है ताकि उनके जीवन में सुधार हो सकें।

कृषि सखी योजना के तहत कितनी महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी?

कृषि सखी योजना के तहत आधुनिक कृषि तकनीक और बेहतर खेती के तरीकों के बारे में 90,000 महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी। 

Leave a Comment