झारखण्ड मजदूर रोजगार योजना: 6 लाख प्रवासी मजदूरों के लिए तीन नई योजना ऑनलाइन आवेदन

झारखण्ड मजदूर रोजगार योजना का शुभारम्भ राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा  प्रवासी मजदूरों को लाभ प्रदान करने के लिए गया है | इस योजना के तहत राज्य के जो प्रवासी मजदूर लॉक डाउन की वजह से दूसरे राज्य में फसे हुए है और वह अपने घर वापस आ रहे है  उन मजदूरों को रोजगार राज्य सरकार द्वारा रोजगार प्रदान किया जायेगा | ग्रामीण क्षेत्रो के वापस आये प्रवासी मजदूरों को रोजगार प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री ने तीन नई योजनाए शुरू की है ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत बिरसा हरित ग्राम योजना, नीलाम्बर पीताम्बर जल-समृद्धि योजना और वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस Jharkhand Majdur Rojgar Yojana से जुडी सभी जानकारी प्रदान करने जा रहे है |

झारखण्ड मजदूर रोजगार योजना 2024

झारखण्ड मजदूर रोजगार योजना के अंतर्गत पौधे लगाए जायेगे और सरकार सड़क किनारे, सरकारी भूमि, व्यक्तिगत या गैर मजरुआ भूमि पर फलदार पौधा लगायेगी। इन पौधों की देखभाल की जिम्मेवारी ग्रामीणों की होगी। उन्हें पौधों का पट्टा दिया जाएगा, जिससे वे फलों से आमदनी मिले सकेंगी तो लोगों को अपने ही गांव और पंचायत में बड़े पैमाने पर रोजगार मिल सकेगा. इससे ना सिर्फ लोगों को रोजगार मिलेगा, बल्कि आर्थिक गतिविधियों को भी बढ़ावा मिलेगा | इस रोजगार में ग्रामीण क्षेत्रो के मजदूर 50 हजार रूपये की  सालाना आमदनी कर सकते है | राज्य के जो इच्छुक प्रवासी मजदूर इस योजना के तहत रोजगार प्राप्त करना चाहते है तो वह इस बिरसा हरित ग्राम योजना के लिए आवेदन कर सकते है |

झारखंड प्रवासी मजदूर घर वापसी

झारखण्ड मजदूर रोजगार योजना

Jharkhand Majdur Rojgar Yojana Highlights

योजना का नाम झारखण्ड मजदूर रोजगार योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन
लाभार्थी राज्य के प्रवासी मजदूर
उद्देश्य प्रवासी मजदूरों को रोजगार प्रदान करना

झारखण्ड कोरोना सहायता

नीलाम्बर पीताम्बर जल-समृद्धि योजना

इस योजना के तहत राज्य की वार्षिक जल संरक्षण क्षमता में पांच लाख करोड़ लीटर की वृद्धि की जाएगी | इस योजना के अंतर्गत गढ़वा, पलामू, लातेहार जैसे सूखाग्रस्त जिलों में पानी की उपलब्धता सुनिश्चित की सकेंगी |इस नीलाम्बर पीताम्बर जल-समृद्धि योजना के माध्यम से राज्य के बंजर भूमि को खेती योग्य बनाया  जायेगा |  इससे मजदूर लोग खेती करके रोजगार प्राप्त कर सकेंगे और जीवन यापन करने हेतु अच्छी आमदनी अर्जित कर सकेंगे | मनरेगा के तहत 10 करोड़ मानव दिवस का सृजन एवं पांच लाख एकड़ बंजर भूमि का संवर्धन किया जायेगा | मुख्यमंत्री जी का कहना है की राज्य सरकार  इस कार्य में पूरी तरह सफल साबित होगी और ना सिर्फ झारखण्ड के लोगों को रोजगार मिलेगा, बल्कि दूसरे राज्यों से भी काम करने के लिए यहां मजदूर आयेंगे |

वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना

इस योजना के अंतर्गत झारखण्ड  सरकार हर पंचायत में पांच हजार खेल का मैदान तैयार करेगी | इस योजना के तहत राज्य के युवक एवं युवतियों के लिए खेल सामग्री की व्यवस्था करेगी और  राज्य सरकार सभी खिलाड़ियों की प्रतिभा  को निखारा जायेगा  जिससे लोगो को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे | राज्य में खेल कोटा से आरक्षण के माध्यम से नौकरी का प्रावधान किया जाएगा  | वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना के अंतर्गत प्रखंड एवं जिला स्तर पर सुसज्जित प्रशिक्षण केंद्रों का संचालन, खिलाड़ियों के लिए सरकारी नौकरी में विशेष आरक्षण एवं मनरेगा के तहत एक करोड़ मानव दिवस का सृजन  राज्य सरकार किया जायेगा | जो लोग इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो वह इस योजना से जुडी सभी जानकारी विस्तारपूर्वक पढ़े |

झारखण्ड मजदूर रोजगार योजना का उद्देश्य

  • जैसे की आप लोग जानते है झारखण्ड राज्य के जो मजदूर अन्य किसी राज्य में फसे हुए थे और वह अपने अपने गांव  वापस आ रहे है वापस आने के बाद उनके  पास कोई रोजगार नहीं है |ऐसे में उनको रोजगार उपलब्ध कराना सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती है इसलिए लिए राज्य सरकार ने 6 लाख प्रवासी मजदूरों रोजगार के अवसर प्रदान करने  के लिए तीन नई योजना शुरू की है
  • इस योजना के तहत रोजगार के क्षेत्र में वैल्यू एडिशन का आकलन सरकार कर रही है और उसी के हिसाब से रोजगार के अवसर लोगों को उपलब्ध कराये जायेंगे |
  • Jharkhand Majdur  Rojgar Yojana  ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को लाह की खेती से जोड़ा जाये और इसके लिए सभी संसाधन उपलब्ध करायी जायेगी |
  • इस योजना के ज़रिये प्रवासी मजदूरों को अपने और अपने परिवार के जीवन यापन के लिए रोजगार के अवसर प्रदान करना और उन्हें आत्मनिर्भर बनाना |

झारखण्ड मजदूर रोजगार योजना के लाभ

  • इन सभी योजना का लाभ झारखण्ड राज्य के ग्रामीण क्षेत्रो के प्रवासी मजदूर जो अन्य दूसरे राज्य में फसे हुए है और वह वापस अपने गांव आ रहे है उन्हें रोजगार के अवसर प्रदान करना |
  • झारखण्ड मजदूर रोजगार योजना के तहत झारखण्ड राज्य के 6 लाख प्रवासी मजदूरों के लिए तीन नई योजना शुरू की गयी है जिसमे  मजदूरों को रोजगार मिलेगा  |
  • मुख्यमंत्री जी ने  आयोजित कार्यक्रम में कहा है  कि इन तीनो योजनाओं की मदद से करीब 25 करोड़ मानव कार्य दिवस का इंतजाम होगा। अगले पांच वर्षों में लाखों मजदूरों के खाते में 20 हजार करोड़ का भुगतान होगा। इससे ग्रामीण क्षेत्रो की अर्थव्यवस्था में सुधार होगा |
  • इस योजना के ज़रिये ग्रामीण क्षेत्रो का विस्तार होगा | और रोजगार में वृद्धि होगी |
  • बिरसा हरित ग्राम योजना के अंतर्गत एक मजदुर परिवार की 50 हजार सालाना आमदनी होगी |
  • नीलाम्बर पीताम्बर जल-समृद्धि योजना के तहत हर साल पांच लाख करोड़ लीटर वर्षा जल का भंडारण होगा |
  • वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रो  में पांच हजार खेल के मैदान बनेंगे और नौकरी में खेल कोटा आरक्षण  भी दिया जायेगा |

Jharkhand Majdur Rojgar Yojana की पात्रता

  • आवेदक झारखण्ड राज्य का निवासी होना चाहिए |
  • इस योजना के तहत झारखण्ड के ग्रामीण क्षेत्रो के उन मजदूरों को लाभांवित किया जायेगा जो अन्य किसी राज्य में फसे हुए है और अपने गांव वापस आ रहे है |

झारखण्ड मजदूर रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

झारखण्ड राज्य के जो ग्रामीण क्षेत्रो के मजदूर अन्य राज्यों में फसे हुए है और वापस अपने गांव आ रहे है और वह रोजगार प्राप्त करना चाहते है तो उन्हें इस Jharkhand Majdur Rojgar Yojana के तहत आवेदन करना होगा और आवेदन करने के लिए आपको अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा | क्योकि अभी इन सभी योजनाओ के लिए आवेदन प्रक्रिया को शुरू नहीं किया गया है | जैसे ही इस योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया को सरकार द्वारा शुरू कर दिया जायेगा उसके बाद प्रवासी मजदूर इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है | कर फिर रोजगार के अवसर प्राप्त कर सकते है और जीवन यापन करने के लिए अच्छे आमदनी अर्जित कर सकते है |

Leave a Comment