झारखण्ड फसल राहत योजना 2023: Jharkhand Fasal Rahat Yojana रजिस्ट्रेशन

Jharkhand Fasal Rahat Yojana Apply | झारखण्ड फसल राहत योजना पंजीकरण प्रक्रिया | Fasal Rahat Yojana Jharkhand Form | झारखण्ड फसल राहत योजना ऑनलाइन आवेदन

केंद्र सरकार तथा सभी राज्य सरकारों द्वारा किसानों की आय में वृद्धि करने का निरंतर प्रयास किया जाता है। कई बार किसानों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण भी नुकसान उठाना पड़ता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए झारखंड सरकार द्वारा झारखंड फसल राहत योजना का आरंभ किया गया है। झारखंड सरकार ने झारखंड फसल राहत योजना प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के स्थान पर आरंभ की है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जैसे कि झारखंड फसल राहत योजना क्या है?, इसके लाभ, उद्देश्य, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो दोस्तों यदि आप Jharkhand Fasal Rahat Yojana से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

झारखण्ड फसल राहत योजना

Table of Contents

Jharkhand Fasal Rahat Yojana 2023

इस योजना के अंतर्गत यदि किसानों को किसी भी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल का नुकसान होता है तो इस स्थिति में बीमा कंपनी द्वारा पंजीकृत किसान को नुकसान की राशि प्रदान की जाएगी। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा। Fasal Rahat Yojana के अंतर्गत सूखा पड़ना, ओले पड़ना आदि जैसी प्राकृतिक आपदाएं शामिल की गई हैं। यदि प्रदेश के किसान योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो उन्हें इस योजना के अंतर्गत आवेदन करवाना होगा। झारखंड फसल राहत योजना की वजह से अब किसानों को नुकसान नहीं होगा जिससे कि उनकी आय बढ़ेगी और वह आत्मनिर्भर बनेंगे। इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए झारखंड सरकार द्वारा 100 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। ऐसा माना जा रहा है कि यह योजना दिसंबर के अंत तक आरंभ कर दी जाएगी। Jharkhand Kisan Karj Mafi List देखने के लिए यहां क्लिक करें

फिर से झारखंड सरकार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में होगी शामिल

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में फिर से झारखंड सरकार शामिल होने जा रही है। 3 साल पहले झारखंड सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में से अपने आप को अलग कर झारखंड राज्य फसल राहत योजना की शुरुआत की थी। हेमंत सरकार ने वर्ष 2016 में पीएम फसल बीमा योजना के तहत किसानों को बीमा कंपनियों द्वारा क्लेम नहीं दिए जाने का कारण बताते हुए योजना से अलग हो गई थी। लेकिन वर्तमान में राज्य में सुखाड़ की स्थिति होने के कारण किसानों को राहत देने के लिए सरकार ने इस योजना में फिर से शामिल होने का फैसला लिया है। जिसके लिए प्रक्रिया भी आरंभ कर दी गई है। राज्य सरकार द्वारा बीमा कंपनियों को पिछले वर्षों की प्रीमियम राशि 363 करोड़ रुपए देने का प्रस्ताव भी तैयार कर लिया गया है। इसकी मंजूरी प्राप्त करने के लिए संलेख कैबिनेट बैठक में भेजा जाएगा। ताकि फिर से झारखंड सरकार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में शामिल हो सके।

फसल राहत योजना के तहत गोड्डा जिले के पंजीकृत होंगे 15000 किसान

12 अगस्त सन 2022 शुक्रवार के दिन इस योजना के लिए गोड्डा प्रखंड परिसर स्थित सभागार में बीडीओ कुमार अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में कृषक मित्र, अनेक पंचायतों के मुखिया, पंचायत सचिव, प्रखंड एवं अंचल कर्मियों के साथ एक समीक्षा बैठक हुई है। इस बैठक में बीडीओ ने कहा है कि प्रखंड में 15000 किसानों को इस योजना के तहत पंजीकृत करना है। जिसके लिए सभी कृषक मित्रों किसानों का रजिस्ट्रेशन कराने में अपना सहयोग प्रदान करने करें। क्योंकि इस योजना के तहत प्रखंड के 15000 किसानों के रजिस्ट्रेशन कराने का लक्ष्य है जिसमें से अभी केवल 4000 किसानों का ही रजिस्ट्रेशन हुआ है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पंचायत स्तर पर विशेष अभियान चलाने की जरूरत है। इसके अलावा बैठक में मौजूद प्रज्ञा केंद्र के संचालक जयप्रकाश ठाकुर ने भी यह निर्देश दिए हैं कि रजिस्ट्रेशन का कार्य नियमित रूप से किया जाना चाहिए और जिसे भी इस योजना से जुड़ी कुछ परेशानी आती है वह प्रखंड मुख्यालय में इसकी जानकारी दें।

झारखंड फसल राहत योजना में किसानों के निबंधन को लेकर जरूरी दिशा निर्देश

योजना को और बेहतर बनाने के लिए समन्वय और सूचना के प्रभाव को क्रियान्वयन को सुनिश्चित करने के लिए तथा विभिन्न स्तरों पर निगरानी करने के लिए समिति का गठन करने का निर्णय लिया गया है। झारखंड जिले के सभी गांव में अप उत्साह समाज योजनाओं का प्रचार कराते हुए किसानों को योजना के अंतर्गत किसान निबंधन कराने का निर्णय लिया गया।

झारखंड जिला कृषि पदाधिकारियों को बीटीएम, एटीएम, कृषक मित्रों एवं जन सेवा द्वारा इस योजना का प्रचार प्रसार कराने में किसानों के निबंधन को लेकर दिशा निर्देश दिए गए। तथा कृषक संपर्क अभियान चलाने को भी कहा गया। इसी के साथ अपर समाहर्ता ने राजस्व संग्रह की समीक्षा की तथा समाहर्ता ने विभागवार अर्जित लक्ष्य की समीक्षा की। उन्होंने योजन योजनाबद्ध लक्ष्य के अनुरूप कार्य करने को कहा अपार समाहर्ता ने राजस्व संग्रह में में तेजी लाने की बात भी कही। बैठक में सेंट्रल कोल्ड लिमिटेड, राष्ट्रीय राज्य मार्ग प्राधिकरण से संबंधित मामलों की भी समीक्षा की गई तथा भूमि अधिग्रहण के लिए संबंधित अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए गए।

मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना

झारखंड फसल राहत योजना के साथ किया जाएगा किसानों का ऋण माफ

राज्य सरकार ने झारखंड फसल राहत योजना के साथ किसानों का ऋण माफ करने का भी निर्णय लिया है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को दिए गए ऋण को माफ किया जाएगा। जिसके लिए सरकार द्वारा 2000 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। इस योजना को भी दिसंबर के अंत तक आरंभ कर दिया जाएगा। ऋण माफ करने के लिए सरकार द्वारा एक पोर्टल भी आरंभ किया जाएगा। जिसमें सभी किसानों का डाटा एकत्रित किया जाएगा। प्रशासन द्वारा सभी बैंकों से सभी कर्ज लिए हुए किसानों का आधारइ नेबल करने के लिए कहा जा रहा है। अब तक कुल 12 लाख लोन अकाउंट में से 6 लाख लोन अकाउंट का आधार इनेबल हो चुका है।

Key Highlights Of Fasal Rahat Yojana Jharkhand

योजना का नामझारखंड फसल राहत योजना
किस ने लांच कीझारखंड सरकार
लाभार्थीझारखंड के नागरिक
उद्देश्यफसल का नुकसान होने पर आर्थिक सहायता प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी
साल2023

झारखंड फसल राहत योजना का उद्देश्य

झारखण्ड फसल राहत योजना का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं के कारण हुए नुकसान में किसानों की आर्थिक सहायता करना है। इस योजना के माध्यम से किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा तथा वह सशक्त बनेंगे। Fasal Rahat Yojana के माध्यम से किसानों की आय में भी वृद्धि होगी। अब किसान फसल को होने वाले नुकसान की चिंताओं से मुक्त रहेंगे और खेती की तरफ उनका ध्यान लग पाएगा।

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना

Fasal Rahat Yojana Jharkhand के लाभ तथा विशेषताएं

  • झारखण्ड फसल राहत योजना के अंतर्गत किसानों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल पर नुकसान होने पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना को सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के स्थान पर आरंभ किया है।
  • इस योजना के अंतर्गत नुकसान की राशि पंजीकृत किसानों को बीमा कंपनी द्वारा प्रदान की जाएगी।
  • सभी किसान जो झारखंड फसल राहत योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवाना होगा।
  • Jharkhand  Fasal Rahat Yojana के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि होगी तथा वे आत्मनिर्भर बनेंगे।
  • झारखंड फसल राहत योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 100 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।
  • झारखंड फसल राहत योजना के अंतर्गत पंजीकृत किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा।
  • इस योजना को दिसंबर के अंत तक आरंभ कर दिया जाएगा।

झारखंड फसल राहत योजना के महत्वपूर्ण दस्तावेज (पात्रता)

  • किसान झारखंड का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • वह सभी किसान इस योजना के पात्र होंगे जो पहले से किसी बीमा योजना का लाभ नहीं ले रहे हैं।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • किसान का आईडी कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • निवास प्रमाण पत्र
  • खेत का खाता नंबर/खसरा नंबर के पेपर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • फोन नंबर
  • आय प्रमाण पत्र

झारखण्ड मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना

झारखंड फसल राहत योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • इसके बाद वेबसाइट का होम पेज आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगा
  • अब आपको होम पेज पर मौजूद किसान पंजीकरण करें के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा
  • यहां पर आपको एक एप्लीकेशन फॉर्म दिखाई देगा
  • इस एप्लीकेशन फॉर्म में आपको अपनी सभी जरूर जानकारी प्रदान करनी है
  • इसके बाद आपको रजिस्टर के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • इस तरीके से आप सफल आवेदन कर सकते हैं

किसान लोगिन कैसे करें

  • सबसे पहले आपको झारखंड फसल राहत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • इसके बाद वेबसाइट का होम पेज आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगा
  • अब आपको होम पेज पर मौजूद किसान लॉगिन करें के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • इसके बाद आपके सामने एक लॉगइन पेज खुल जाएगा
किसान लोगिन कैसे करें
  • यहां पर आपको अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर एवं पासवर्ड दर्ज करना है
  • इसके बाद आपको लॉगिन के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है


झारखंड फसल राहत योजना संपर्क करें

नाम और पदनामईमेल आईडीफ़ोन नंबरपता
कार्यालय – निबंधक, सहयोग समितियाँ, राँची, झारखण्ड

(कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग, झारखण्ड)
jharkhand.coopregistrar[at]gmail[dot]com***********पशुपालन भवन, तृतीय एवं चतुर्थ तल्ला, खूँटी रोड, हेसाग, हटिया, राँची – 834003
श्री प्रदीप कुमार हजारी

विशेष सचिव सह सलाहकार,
कृषि विभाग,
पशुपालन और सहकारिता,
झारखंड सरकार
advisercell[at]gmail[dot]com***********पहली मंजिल नेपाल हाउस, डोरंडा,
रांची-झारखंड
पिन: 834002
श्री सुनील कुमार सिन्हा

अपर सचिव,
कृषि विभाग,
पशुपालन और सहकारिता,
झारखंड सरकार
agrisoil123[at]gmail[dot]com***********पहली मंजिल नेपाल हाउस, डोरंडा,
रांची-झारखंड
पिन: 834002
मोहम्मद जावेद अनवर इदरीसी

उप सचिव,
कृषि विभाग,
पशुपालन और सहकारिता,
झारखंड सरकार
usec003[at]gmail[dot]com***********पहली मंजिल नेपाल हाउस, डोरंडा,
रांची-झारखंड
पिन: 834002

आईसीटी संबंधित

नामईमेल आईडीफ़ोन नंबर
जफर अलीzafar.ali[at]in[dot]ey[dot]com**********

पीएफएमएस संबंधित

नामईमेल आईडीफ़ोन नंबर
रंजीत कुमारspmupfmsjharkhand[at]gmail[dot]com**********

JRFRY सपोर्ट सम्बंधित

नामईमेल आईडीफ़ोन नंबर
***********jrfryhelpdesk[at]gmail[dot]com**********

Leave a Comment