गोल्डन पासपोर्ट में क्या है खास, क्यों इसे पाना चाहते हैं सब, पूरी जानकारी देखें

Golden Passport:- पासपोर्ट के बारे में तो आप सभी जानते होंगे लेकिन क्या आप गोल्डन पासपोर्ट के बारे में जानते हैं जिसके माध्यम से आप किसी भी देश में पैसे निवेश कर गोल्डन पासपोर्ट खरीद सकते हैं। जिसके बाद आपको उस देश की नागरिकता मिल जाएगी और आपको उस देश की सभी सुविधाएं भी मिलेगी। गोल्डन पासपोर्ट चुनिंदा देशों द्वारा पेश किए जाने वाला प्रोग्राम है। जहां विदेशी लोग तय नियमों के अनुसार पूंजी निवेश या संपत्ति खरीद कर नागरिकता प्राप्त कर सकते हैं। अगर आप Golden Passport के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको यह आर्टिकल विस्तार पूर्वक अंत तक पढ़ना होगा। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से गोल्डन पासपोर्ट से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे। 

Golden Passport Kya Hai ?

Golden Passport Kya Hai ?

किसी भी देश में निवेश करने के बाद दूसरे देश के नागरिकों को वहां का जो पासपोर्ट मिलता है उसे गोल्डन पासपोर्ट या वीजा के नाम से जाना जाता है। गोल्डन पासपोर्ट एक तरह की इन्वेस्टमेंट स्कीम है। जिसके तहत कोई भी व्यक्ति किसी भी देश में पैसों का निवेश करके या प्रॉपर्टी खरीद कर वहां की नागरिकता ले सकता है। इसके माध्यम से आसानी से गोल्डन पासपोर्ट मिल जाता है। भारतीय उद्यमियों को गोल्डन पासपोर्ट के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय व्यापार करने में काफी सहायता मिलती है। गोल्डन वीजा के माध्यम से कई देश अन्य देश के लोगों को नागरिकता प्रदान करते हैं।

मुख्य रूप से यूरोपीय यूनियन और कैरेबियाई देशों में इस तरह के पासपोर्ट और वीजा जारी किए जाते हैं। तय निवेश के बाद ही किसी भी देश में योग्य व्यक्तियों को गोल्डन पासपोर्ट दिया जाता है। अलग-अलग देश में संपत्ति में निवेश करने की तेज राशि अलग-अलग होती है। इसके बाद ही गोल्डन पासपोर्ट दिया जाता है।

Passport Application Online

Tatkal Passport

Passport Renewal

Change Name in Passport

Check Passport Application Status Online

निवेश करने में यह देश है सबसे ऊपर

जिस देश का गोल्डन पासपोर्ट प्राप्त करना चाहते है वहां के नियमों के अनुसार निवेश करना होता है साथ ही निवेश के पैसे का सबूत भी देना होता है। अलग-अलग देश में संपत्ति निवेश करने की तय राशि अलग-अलग होती है। कुछ देशों में निवेश करने की जानकारी नीचे दी गई है।

  • माल्टा में 5.4 करोड़ रुपए के निवेश करने पर नागरिकता मिल सकती है। साथ ही टैक्स की बचत होती है।
  • ऑस्ट्रेलिया में निवेश करने की कोई सीमा निर्धारित नहीं की गई है जबकि यहां के नागरिक होकर आप 180 देशों में वीजा फ्री या विजा ऑन अराइवल सफर कर सकते हैं।
  • डॉमिनिका और सेंटर लूसिया में केवल 83 लाख रुपए निवेश कर नागरिकता प्राप्त की जा सकती है। जहां से दुनिया के ज्यादातर देशों की वीजा फ्री यात्रा की जा सकती है।
  • तुर्की में 3.3 करोड़ रुपए निवेश करने पर आपको वहां की नागरिकता मिल सकती है।

भारतीयों की हिस्सेदारी 9.4 प्रतिशत

हाल ही की इकोनामिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार साल 2022 में गोल्डन पासपोर्ट के लिए विश्व में आवेदकों में भारतीयों की संख्या 9.4% थी हालांकि गोल्डन पासपोर्ट केवल एक ट्रेवल डॉक्यूमेंट नहीं है बल्कि इससे कहीं ज्यादा है। गोल्डन पासपोर्ट इंटरनेशनल बिजनेस करने वालों के लिए एक रणनीतिक उपकरण है। जो की इच्छुक विदेशियों को नागरिकता की सुविधा उपलब्ध कराता है। इस पासपोर्ट के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय व्यापार करने में काफी फायदा मिलता है।

उद्योगपति के लिए फायदेमंद है गोल्डन पासपोर्ट

गोल्डन पासपोर्ट उद्योगपति के लिए काफी फायदेमंद है। क्योंकि यह भारतीय उद्योगपति के लिए दरवाजे खोलता हैं ताकि वह आसानी से बेहतर इंटरनेशनल डील कर सके। व्यावसायिक गतिविधियों को सुविधाजनक बनाने के लिए यूरोपीय देश विशेष रूप से जर्मनी, स्वीडन, स्पेन, फ्रांस और इटली सबसे टॉप पर है। इसके अलावा साइप्रस, ग्रेनाडा, पुर्तगाल और माल्टा जैसी जगहों के पासपोर्ट का भी उद्योगपति को काफी लाभ होता है।

टैक्स बचाने में करता है मदद गोल्डन पासपोर्ट

टैक्स बचाने में मदद करता है। गोल्डन पासपोर्ट प्रोग्राम में भाग लेने वाले देश पूंजीगत लाभ, वैश्विक आय, गिफ्ट्स, पैसे या इन्हेरिटेंस पर बहुत कम या कोई टैक्स नहीं लगते हैं। जिसे कहीं ना कहीं टैक्स बचाने में मदद मिलती है। गोल्डन पासपोर्ट कार्यक्रम में भाग लेने के लिए कई एक्सपर्टस भी सलाह देते हैं। व्यापार के लिए यूरोप और मध्य पूर्व में स्विस और पुर्तगाली पासपोर्ट की सिफारिश की जाती है। वहीं उत्तरी अमेरिकी बाजार तक पहुंच के लिए कनाडाई पासपोर्ट की सलाह दी जाती है।

LPG Aadhaar Card Link

Sabarimala Q Online Booking

How to Fill PF Withdrawal Form

गोल्डन पासपोर्ट की अवधि

गोल्डन पासपोर्ट की वैधता अवधि जारी करने वाले देश पर निर्भर करती है। हालांकि गोल्डन पासपोर्ट की अवधि 1 से 2 साल के बीच होती है। इसके बाद इसे रिन्यू कराने का विकल्प मिलता है। गोल्डन पासपोर्ट के जारी करने वाले देश में 5 से 10 साल निवास करने के बाद ही व्यक्ति स्थायी नागरिकता मिलने के योग्य माना जाता है।

Golden Passport के लिए आवेदन करने हेतु पात्रता

  • गोल्डन पासपोर्ट के लिए आवेदन करने हेतु व्यक्ति की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए। 

गोल्डन पासपोर्ट के लिए आवेदन कैसे करें?

अगर आप गोल्डन पासपोर्ट के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको किसी भी देश में गोल्डन पासपोर्ट पाने के लिए वहां की कंपनी के शेयर स्टॉक या देश के सरकारी ब्रांड या सार्वजनिक ऋण में पूंजी निवेश करनी होगी। इसके अलावा रोजगार की संभावनाएं पैदा कर सकते हैं। और चाहे तो देश की वैज्ञानिक या तकनीकी प्रगति में योगदान दे सकते हैं। निवेश करने के बाद ही कोई व्यक्ति अपने गृह देश में संबंधित दूतावास या मामले पर अधिकार क्षेत्र वाली किसी विदेशी सरकारी एजेंसी से गोल्डन पासपोर्ट के लिए अनुरोध कर सकता है। इसके बाद ही वीजा जारी करने वाले देश में गोल्डन पासपोर्ट के माध्यम से वहां के नागरिक बन सकते हैं।

Golden Passport FAQs

गोल्डन पासपोर्ट कैसे मिलता है?

गोल्डन पासपोर्ट के लिए सबसे बेहतरीन ऑप्शन में से एक विदेश में प्रॉपर्टी खरीदना है जिसके माध्यम से गोल्डन पासपोर्ट आसानी से मिल जाता है।

Golden Passport की वैधता होती कितनी है?

Golden Passport की वैधता अवधि जारी करने वाले देश पर निर्भर करती है जबकि वैधता 1 से 2 साल के बीच है। इसके बाद इसे रिन्यू कराया जा सकता है। 

Leave a Comment