Gram Sachiv Kaise Bane 2024 – ग्राम पंचायत सचिव बनने के लिए योग्यता, सैलरी, कार्य

Gram Sachiv Kaise Bane:- भारत की अधिकतर आबादी अभी भी गांव में ही रहती हैं। सरकार द्वारा इन गांवों के विकास के लिए प्रत्येक ग्राम में पंचायत स्तर में एक ग्राम सचिव की नियुक्ति की जाती है जो ग्राम सचिवालय स्तर में सरकार अधिकारी कर्मचारी होता है। ग्राम सचिव को ग्राम सेवक, ग्राम पंचायत सेवक तथा ग्राम पंचायत सचिव के नाम से भी जाना जाता है। अगर आप भी गांव में रहकर गांव के विकास में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आप ग्राम सचिव बनाकर सरकार और लोगों के बीच कड़ी बन सकते हैं। आखिर  इस पद पर क्या काम करना होता है और Gram Sachiv Kaise Bane के बारे में विस्तार से बताएंगे।

इसके अलावा ग्राम सचिव के लिए योग्यता क्या है और कितनी सैलरी मिलती है इन सभी से जुड़ी जानकारी के लिए आपको यह आर्टिकल विस्तार पूर्वक अंत तक पढ़ना होगा। तो आईए जानते हैं कि ग्राम सचिव कैसे बन सकते हैं?

ग्राम सचिव क्या होता है?

ग्राम सचिव क्या होता है?

ग्राम सचिव या गांव सचिव एक ग्राम का जिम्मेदार व्यक्ति माना जाता है। जो गांव के विकास के लिए कार्य करता है। ग्राम सचिव की नियुक्ति सरकार द्वारा की जाती है। जो सरकार और ग्राम पंचायत के बीच कड़ी का काम करता है। गांव में हो रही सड़क का निर्माण, पंचायत के कार्य, पीने का पानी आदि सभी की व्यवस्था करवाना तथा गांव के लोगों की समस्याओं को सुलझाना और उसके साथ ही सरकारी योजनाओं का लाभ गांव तक पहुंचाना होता है। इसके अलावा योजना के माध्यम से लाभार्थियों को प्राप्त अनुदानित राशि भेजने से संबंधित जानकारी रखने का कार्य भी Gram Sachiv द्वारा किया जाता है। गांव के लिए एक ग्राम सचिव बहुत महत्व रखता है। भारत सरकार द्वारा ग्राम पंचायत के लिए भर्ती निकाली जाती है जिसके तहत आवेदन कर सकते हैं।

एलआईसी एजेंट कैसे बने

Gram Sachiv Kaise Bane के बारे में जानकारी

आर्टिकल का नाम  Gram Sachiv Kaise Bane
संबंधित विभाग  ग्रामीण विकास विभाग
लाभार्थी  ग्रामीण नागरिक
उद्देश्य  सरकारी योजनाओं को गांव तक पहुंचाने का कार्य करना 
श्रेणी केंद्र सरकारी योजना  

ग्राम सचिव की नियुक्ति कैसे होती है?

Gram Panchayat Sachiv के लिए सभी ग्राम पंचायतों में ग्रामीण विकास विभाग द्वारा सरकारी नियम अनुसार नियुक्ति की जाती हैं।

  • ग्रामीण विकास विभाग द्वारा ग्रामीण सचिव के रिक्त स्थानों को भरने के लिए विज्ञापन जारी किया जाता है।
  • जब ग्रामीण विकास विभाग द्वारा विज्ञापन जारी किया जाता है उस समय अभ्यर्थी को आवेदन करना होता है।
  • ग्राम पंचायत सचिव के लिए सभी राज्यों में अलग-अलग एग्जाम कंडक्ट कराई जाती है।
  • सबसे पहले रिटन एग्जाम लिया जाता है।
  • पास हो जाने पर आपके डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होता है।
  • उसके बाद ग्राम पंचायत सचिव को 6 महीने की ट्रेनिंग दी जाती है।
  • ट्रेनिंग पूरी होने के बाद राज्य के किसी भी ग्राम पंचायत सचिवालय में ग्राम सचिव पद पर नियुक्ति की जाती है।

ग्राम पंचायत के कार्य के बारे में जानें

Gram Sachiv बनने के लिए योग्यता

ग्राम सचिव बनने के लिए निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए। 

  • ग्राम सचिव बनने के लिए उम्मीदवार को मान्यता प्राप्त बोर्ड से इंटरमीडिएट पास होना चाहिए।
  • आवेदक मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक पास होना चाहिए।
  • उम्मीदवार की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों एससी/एसटी/ओबीसी आदि को अधिकतम आयु सीमा में छूट भी मिलती है।
Gram Sachiv Kaise Bane

ग्राम पंचायत सचिव के कार्य

  • ग्राम सचिव का काम गांव में होने वाले विकास कार्यों का प्रस्ताव तैयार करने में ग्राम पंचायत की मदद करना।
  • विकास कार्य पर खर्च होने वाले धन का लेखा-जोखा तैयार करना लिखा पढ़ी के काम करना पंचायत सचिव का कार्य होता है।
  • Gram Sachiv विकास के कार्य करने के लिए उत्तरदायी होता है।
  • ग्राम पंचायत योजना के तहत ग्रामीण विकास योजना, सड़कों का निर्माण, ग्राम पंचायत के कार्य, पीने के पानी की व्यवस्था आदि कार्य करने होते हैं। 
  • समय-समय पर ग्राम सभा का आयोजन करना होता है।
  • सरकारी योजनाओं का प्रचार प्रसार तथा उन्हें ग्रामीण तक पहुंचाना होता है।
  • ग्राम सचिव गांव और सरकार दोनों के बीच की कड़ी होती है।   

नरेगा ग्राम पंचायत लिस्ट चेक करें

ग्राम पंचायत सचिव कैसे बने ? पूरी जानकारी

  • सबसे पहले आपको ग्राम सचिव बनने के लिए 12वीं कक्षा पास करनी होगी।
  • उसके बाद आपको मान्यता प्राप्त संस्थान से स्नातक डिग्री प्राप्त करनी होगी।
  • जब ग्रामीण विकास विभाग द्वारा नौकरी अधिसूचना जारी की जाएगी तब आपको आवेदन करना होगा।
  • आवेदन करने के बाद आपको परीक्षा देनी होगी। जिसमें आपको सफल होना होगा और परीक्षा में सफल होने के पश्चात आपका चयन किया जाएगा।
  • चयन प्रक्रिया पूरी होने के बाद ग्राम पंचायत सचिव के लिए आपकी नियुक्ति होगी। 

ग्राम पंचायत सचिव परीक्षा पैटर्न

Gram Sachiv की परीक्षा में दो पेपर देने होते है। पहले पेपर में 100 प्रश्न पूछे जाते हैं जिसके लिए कुल 100 अंक निर्धारित होते हैं। इसके लिए समय सीमा 2 घंटा दी जाती है। दूसरा पेपर भी 100 अंकों का होता है और उसमें भी 100 प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है। इन दोनों परीक्षाओं में अलग-अलग विषयों के प्रश्न होते हैं जिन्हें हल करना होता है। प्रश्न पत्र में आने वाले विषय इस प्रकार है।

  • सामान्य जागरूकता (General Intelligence)
  • हिंदी (Hindi)
  • अंग्रेजी (English)
  • गणित (Mathematics)
  • तार्किक क्षमता (Reasoning)

ग्राम पंचायत सचिव की सैलरी

ग्राम पंचायत या ग्राम सचिव के पद पर नियुक्त व्यक्ति को हर महीने अच्छा वेतन मिलता है ताकि वह अपने और अपने परिवार का अच्छे से खर्च चला सके। सामान्यत एक ग्राम सचिव का मासिक वेतन 35,000 से लेकर 63,000 रुपए तक होता है। सभी राज्यों में ग्राम सचिव की सैलरी अलग-अलग होती है। वेतन के अलावा ग्राम सचिव को महंगाई भत्ता, आवास भत्ता, यात्रा भत्ता सहित कई भत्ते भी मिलते हैं। अगर ग्राम पंचायत सचिव का कार्यकाल ज्यादा दिन तक रहता है तो उसे प्रमोशन भी दिया जाता है।

Gram Panchayat Sachiv FAQs

ग्राम सचिव का क्या कार्य  होता है?

ग्राम सचिव का कार्य लोगों और सरकार के बीच कड़ी बनना होता है। जो गांव के विकास के लिए कार्य करता है।

Gram Sachiv को कितने महीने की ट्रेनिंग दी जाती है?

Gram Sachiv को 6 महीने की ट्रेनिंग दी जाती है।

ग्राम सचिव की नियुक्ति किसके द्वारा की जाती है?

ग्राम सचिव की नियुक्ति ग्रामीण विकास विभाग द्वारा की जाती है।

Gram Panchayat Sachiv बनने के लिए कितनी आयु होनी चाहिए?

ग्राम पंचायत सचिव बनने के लिए उम्मीदवार की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए। 

Leave a Comment