सिबिल स्कोर चेक करें फ्री में ऑनलाइन – CIBIL Score कितना अच्छा होता है

CIBIL Score Check: सिबिल स्कोर को क्रेडिट स्कोर भी कहा जाता है। जिससे यह बताया जाता है कि अपने बैंकों से कर्ज लेकर उसका भुगतान किस तरह किया है। या अपने भुगतान समय पर किया है या नहीं। इसके आधार पर आपका सिबिल स्कोर या क्रेडिट रेटिंग निर्धारित की जाती है। अगर आपने कर्ज का भुगतान नहीं किया है या फिर सही समय पर नहीं किया है। तो इसका मतलब होगा कि आपका सिबिल स्कोर खराब है जिसके कारण आपको नुकसान हो सकता हैं। Cibil Score का फुल फॉर्म क्रेडिट इन्फॉर्मेशन ब्यूरो इंडिया लिमिटेड है। जो आपका क्रेडिट स्कोर और केलकुलेटर मेंटेन करती है। सिबिल स्कोर के माध्यम से ही बैंकों पर चलता है कि आपका इतनी स्थिति पर कितना नियंत्रण है और आप की वित्तीय स्थिति कैसी है। अगर आप Cibil Score से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको यह आर्टिकल विस्तारपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा।

Cibil Score Kya Hai?

Cibil Score Kya Hai?

सिबिल स्कोर एक 3 अंकों की संख्या होती है। जो किसी व्यक्ति की साख पात्रता को दर्शाता है। यह स्कोर 300 से शुरु होकर 900 तक जाता है। जिसका स्कोर जितना अधिक होगा उसको उतना ज्यादा ही लोन मिलने की संभावना होती है। आपके भुगतान इतिहास और अन्य क्रेडिट विवरणों को माप कर सिबिल स्कोर प्रदान किया जाता है। 700 से ऊपर का सिबिल स्कोर उत्कृष्ट माना जाता है इसलिए आपका लक्ष्य 700 से ऊपर सिबिल स्कोर बनाना चाहिए। एक अच्छा Cibil Score बताता है कि आप उदारकर्ता के रूप में कितने जिम्मेदार और अनुशासित है। जिसके आधार पर ऋण दाता आपको ऋण देने के लिए तत्पर होगा। उच्च सिबिल स्कोर होने पर आप कम ब्याज दरों पर लोन प्राप्त कर सकेंगे।

Aadhar Seva Kendra Kaise Khole

क्या होता है अच्छा सिबिल स्कोर 

सिबिल स्कोर को क्रेडिट स्कोर के रूप में भी जाना जाता है जो कि 3 अंकों की न्यूमैरिक संख्या होती है। जो 300 से 900 तक होती है। निम्नलिखित श्रेणी के माध्यम से पता चलता है कि स्कोर अच्छा है खराब।

  • यदि आपका Cibil Score 300 से 500 के बीच आता है तो आपकी सिबिल स्कोर श्रेणी खराब के अंतर्गत आती है।
  • अगर आपका सिबिल स्कोर 550 से 650 तक आता है तो यह एवरेज या ओसत केटेगरी में आएगा।
  • इसके बाद 650 से 750 की श्रेणी में गुड यानी एक अच्छे सिबिल स्कोर आता है।
  • वहीं एक्सीलेंट की श्रेणी में 750 से 900 के Cibil Score को रखा जाता है।
  • इन स्कोर के माध्यम से आपकी पात्रता को सुनिश्चित किया जाता है। आपका Cibil स्कोर जितना अच्छा होगा आपको उतनी जल्दी और सस्ती दर पर लोन मिल सकेगा।
  • यदि आपका सिबिल स्कोर खराब है तो लोन लेने में आपको काफी मुश्किल आएगी।

कैसे करें Cibil Score की गणना?

सिबिल स्कोर आपकी क्रेडिट इतिहास के आधार पर बनाया जाता है। जिस भी नागरिक का सिबिल स्कोर तैयार किया जाता है उसके सिबिल स्कोर के पिछले 36 महीने के क्रेडिट इतिहास को देखा जाता है और चेक किया जाता है कि उसने किस प्रकार और किस तरह पैसा खर्च किया है और उसका भुगतान किस प्रकार किया है। अगर आप Cibil Score की गणना करने चाहते हैं तो आपको निम्नलिखित कारकों पर ध्यान देना होगा।

  • क्रेडिट मिक्स आपको सुरक्षित ऋण और असुरक्षित ऋण के बीच संतुलन बनाना ताकि आपके सिबिल स्कोर पर एक अच्छा प्रभाव बना रहे।
  • भुगतान इतिहास देर से भुगतान करने पर या आपके लोन ईएमआई या क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि का भुगतान आपके सिबिल स्कोर पर नकारात्मक रूप से प्रभाव हो सकता हैं। इसलिए सभी भुगतान निर्धारित तारीख से पहले करने पर जोखिम से बचा जा सकता है।
  • उच्च साख उपयोग अगर आप क्रेडिट कार्ड सीमा के उपयोग से अधिक पार करते हैं। तो बैंक द्वारा आपको भविष्य में लोन नहीं दिया जा सकेगा। एक आदर्श रूप से आपको क्रेडिट सीमा 30 से 40% बनाए रखनी चाहिए।
  • एकाधिक पूछताछ अगर आप ने हाल ही में लोन लिया है और एक ही समय में बहुत अधिक ऋण के लिए पूछताछ करते हैं तो अधिक क्रेडिट आवेदन आपके लोन के बोझ को प्रदर्शित करता है जिससे आपके स्कोर पर प्रभाव हो सकता है।
  • कर्ज और आय का अनुपात- आपको अपने क्रेडिट कार्ड के बिल और गिरवी को अपनी आय 50% से कम ही कर्ज़ रखें जिससे कि आपके क्रेडिट स्कोर पर सकारात्मक प्रभाव बना रहे। अधिक अनुपात में कर्ज आपके क्रेडिट स्कोर को नीचे कर सकता है। 

पेट्रोल पंप कैसे खोले

एक अच्छा सिबिल स्कोर कैसे बनाए रखें?

अगर आप का सिविल स्कोर कम है या आपका भुगतान इतिहास अच्छा नहीं है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह रिकॉर्ड आपकी प्रोफाइल पर हमेशा के लिए नहीं रहेगा। आप अपने क्रेडिट इतिहास में सुधार कर सकते हैं। अगर आप एक अच्छा सिबिल स्कोर बनाए रखना चाहते हैं तो आपको निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना होगा।

  • अपने क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि और लोन की ईएमआई का भुगतान समय पर करना होगा।
  • कई क्रेडिट कार्ड और ऋण के लिए एक ही समय पर आवेदन ना करें।
  • सिबिल स्कोर में सुधार लाने के लिए अधिक क्रेडिट कार्ड या लोन आवेदन से बचे।
  • अपने सभी क्रेडिट कार्ड में क्रेडिट उपयोग का अनुपात 30 से 40% तक ही करें।
  • अपनी क्रेडिट रिपोर्ट की नियमित रूप से समीक्षा करें और अगर कोई क्रेडिट रिपोर्ट में कोई गलती है तो उसे ठीक करवाएं।
  • एक अच्छा सिविल इसको बनाए रखने के लिए एक मजबूत और लंबा क्रेडिट इतिहास बनाए रखें।
  • अपने क्रेडिट कार्ड की संख्या को सीमित करें।

पर्सनल लोन एवं क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने के लिए Cibil Score का महत्व

जब कभी भी लोन लेने की बात आती है तो सिबील स्कोर लोन लेने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। क्योंकि जब भी कभी कोई भी किसी भी प्रकार के लोन के लिए आवेदन करता है तो लोन दाता द्वारा सबसे पहले आपकी क्रेडिट रिपोर्ट को डाउनलोड कर आपकी साख का पता किया जाता है यदि आप का क्रेडिट स्कोर सकारात्मक और अच्छा होता है तो आपको लोन प्राप्त करने की संभावना अधिक होती है। लेकिन अगर आपका क्रेडिट स्कोर कम होता है तो ऐसे में आपको लोन मिलने की संभावना बहुत कम होती है। लेकिन यह अगर आप मापदंडों को पूरा करते हैं तो आपको आवश्यक राशि पर लोन प्राप्त हो सकता है। 

IPL Ticket Booking Online 

सिबिल स्कोर ऑनलाइन चेक कैसे करें ? प्रोसेस देखें

Cibil Score
  • इसके बाद आपको होम पेज पर गेट योर सिबिल स्कोर के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपना नाम, ईमेल आईडी और पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • अब आपको कोई आईडी प्रूफ की जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • आपको अपने क्रेडिट कार्ड के बारे में सही से जानकारी दर्ज करनी होगी जिसके बाद आप के सिबिल स्कोर की गणना की जाएगी।
  • अगर आपको साल में 1 से अधिक रिपोर्ट चाहिए तो आप को विभिन्न सब्सक्रिप्शन का सुझाव दिया जाएगा। और अगर आप सशुल्क सदस्यता की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको स्वयं को प्रमाणित करना होगा।
  • आपके द्वारा दर्ज किए गए मोबाइल नंबर पर OTP आएगा जिसे आपको ओटीपी बॉक्स में दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको Submit के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करते ही आपको क्रेडिट रिपोर्ट के साथ आपका सिबिल स्कोर मिल जाएगा।
  • इस प्रकार आप आसानी से अपना सिबिल स्कोर चेक कर सकते हैं।

Leave a Comment