बिरसा हरित ग्राम योजना से मिलेगा रोजगार, किसानों की आय में होगी वृद्धि

Birsa Harit Gram Yojana:- किसानों के कल्याण एवं उनकी आय में वृद्धि करने के लिए झारखंड सरकार द्वारा एक नई योजना का शुभारंभ किया गया है। जिसका नाम बिरसा हरित ग्राम योजना है। बिरसा हरित ग्राम योजना के माध्यम से सरकार द्वारा राज्य के किसानों को पौधे प्रदान किए जाएंगे। इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा एक किसान परिवार को कम से कम 100 और अधिक से अधिक 300 पौधे उपलब्ध कराए जाएंगे। जिससे राज्य के किसानों की आय में वृद्धि होगी और उन्हें रोजगार मिल सकेगा। अगर आप भी झारखंड के किसान है और अपनी आय में वृद्धि करना चाहते हैं तो आपको इस योजना से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त करना आवश्यक है। आज हम आपको इस  आर्टिकल  के माध्यम से Jharkhand Birsa Harit Gram Yojana 2024 से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे जैसे बिरसा हरित ग्राम योजना क्या है? योजना का उद्देश्य, लाभ एवं विशेषताएं, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज एवं आवेदन प्रक्रिया आदि।

Jharkhand Birsa Harit Gram Yojana 2023

Jharkhand Birsa Harit Gram Yojana 2024

झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा बिरसा हरित ग्राम योजना को शुरू किया गया है। इस योजना का मुख्य लक्ष्य राज्य के ग्रामीण किसानों की आय में वृद्धि करना और फलदार पौधे लगाने के लिए किसानों को प्रेरित करना है। बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा प्रत्येक किसान परिवार को कम से कम 100 और अधिक से अधिक 300 पौधे उपलब्ध कराए जाएंगे। जिसके माध्यम से किसान 3 वर्ष बाद 50,000 वार्षिक आय अर्जित कर सकेंगे। आम व अमरूद की बागवानी को इस योजना के अंतर्गत ज्यादा महत्व दिया जाएगा।

झारखंड सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से 5 लाख ग्रामीण किसानों को फलदार वृक्ष लगाने एवं उसकी देखभाल करने संबंधी रोजगार मिलेगा। इस योजना के तहत सरकार द्वारा राज्य में 5 करोड़ पौधों का रोपण करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। राज्य सरकार द्वारा इसी उपलक्ष्य में प्रत्येक जिले में फलदार वृक्षों का रोपण करने के लिए भूमि आवंटित की जाएगी। साथ ही प्रखंड तथा जिला स्तर पर प्रसंस्करण इकाइयां स्थापित की जाएगी। ताकि उत्पाद को सरल रूप से बाजार में उपलब्ध करवाया जा सके। 

झारखण्ड फसल राहत योजना

बिरसा हरित ग्राम योजना के बारे में जानकारी

योजना का नामBirsa Harit Gram Yojana
शुरू की गई  मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा
लाभार्थी  राज्य के किसान
उद्देश्यराज्य में पौधों का रोपण करना और किसानों की आय में वृद्धि करना
लक्ष्य5 करोड़ फलदार पौधे लगाना  
भूमि  आवंटितप्रत्येक जिले में 1400 एकड़  
राज्य  झारखंड
साल  2024
आवेदन प्रक्रियाऑफलाइन  

Birsa Harit Gram Yojana का उद्देश्य

झारखंड सरकार द्वारा बिरसा हरित ग्राम योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के ग्रामीण किसानों को फलदार पौधे उपलब्ध कराना है ताकि राज्य भर में किसानों की आय में वृद्धि हो सके और उनको लाभ मिल सके। सरकार द्वारा की गई इस पहल के माध्यम से किसानों को आत्म निर्भर एवं सशक्त बनाया जा सकेगा और किसान अपने पैरों पर खड़े होकर अपनी आजीविका को सुचारू रूप से चला सकेंगे। इस योजना के तहत बुजुर्ग, महिलाओं को रोजगार सृजन करने हेतु प्राथमिकता दी जाएगी। किसानों द्वारा जो पौधे लगाए जाएंगे। उनका सारा खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

बिरसा हरित ग्राम योजना के अंतर्गत पौधों की सूची

झारखंड बिरसा हरित ग्राम योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों को जो पौधे प्रदान किए जाएंगे। उनकी सूची निम्न प्रकार है।

  • मल्लिका प्रजाति के आम
  • अमरूद
  • नींबू
  • अम्रपाली
  • कटहल
  • शरीफा
  • लेमनग्रास 

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना

प्रत्येक जिले में लगभग 1400 एकड़ परती जमीनों फलदार वृक्षों का रोपण

झारखंड सरकार द्वारा बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत प्रत्येक जिले में लगभग 1400 एकड़ परती जमीन आवंटित कर  फलदार वृक्षों की बागवानी किए जाने का लक्ष्य रखा गया है। राज्य सरकार द्वारा प्रत्येक जिले में 1400 एकड़ परती जमीनों को चिन्हित कर उस पर फलदार वृक्षों का रोपण शुरू कर दिया गया है। राज्य के भौगोलिक संरचना के अनुसार अधिकतर भूमि पठारी और पहाड़ी है और उबर खबर धरातल जो भूमि बंजर बेकार पड़ी रहती थी ऐसी भूमि का इस योजना के माध्यम से सदुपयोग किया जा सकेगा। जो कि निश्चित रूप से लाभकारी होगी। इस योजना को मनरेगा योजना से जोड़ दिया गया है। मनरेगा के तहत 25 करोड़ मानव दिवस का सृजन किया जाएगा। फलदार वृक्षों से जो भी फल आएंगे उसका निर्यात कर किसान अपनी आमदनी में वृद्धि कर सकेंगे।     

Jharkhand Birsa Harit Gram Yojana के लाभ

  • झारखंड सरकार द्वारा राज्य ग्रामीण किसानों को लाभ प्रदान करने हेतु और उनकी आय में वृद्धि करने के लिए बिरसा हरित ग्राम योजना को शुरू किया गया है।
  • Birsa Harit Gram Yojana के अंतर्गत राज्य के परती जमीन पर 2 लाख एकड़ में आम एवं अमरूद के साथ मिश्रित फल की बागवानी का लक्ष्य रखा गया है।
  • इस योजना के तहत आम अमरूद की बागवानी को मुख्यता की जाएगी।
  • बिरसा हरित ग्राम योजना के माध्यम से ना केवल राज्य के अंदर फलों की बिक्री होगी बल्कि दूसरे राज्यों में भी फलों को बेचा जा सकेगा जिससे राज्य की आर्थिक व्यवस्था में भी सुधार होगा।
  • बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत राज्य एक गरीब परिवारों को 150 एकड़ भूमि पर कीट पालन एवं लाहा पालन के अवसर भी प्रदान किए जाएंगे।
  • राज्य सरकार द्वारा 45 प्रशिक्षण केंद्र और 800 प्रखंड मुख्य प्रशिक्षण तथा ग्रामीण स्तर पर 4840 बागवानी मित्रों को प्रशिक्षित किया गया है।
  • Jharkhand Birsa Harit Gram Yojana के माध्यम से किसान के अलावा बुजुर्ग विधवा महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी।
  • कम से कम आधा एकड़ अधिक से अधिक डेढ़ एकड़ वाले लाभार्थियों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा ग्रामीणों को सड़क किनारे सरकारी भूमि, व्यक्तिगत या गैर मजरूआ भूमि पर फलदार पौधे लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।
  • यह योजना फलदार वृक्षों से जो फल आएगा उसका निर्यात कर आमदनी को बढ़ाने में क्रांतिकारी साबित होगी।
  • बंजर भूमि को सदुपयोग करने के लिए यह योजना निश्चित रूप से लाभकारी होगी।
  • वृक्षारोपण द्वारा प्रदूषण की समस्या भी दूर होगी साथ ही हरित वृक्ष से वातावरण भी शुद्ध होगा।
  • झारखंड बिरसा हरित ग्राम योजना के माध्यम से ग्रामीण परिवारों को आजीविका के साधन उपलब्ध हो सकेंगे।

बिरसा हरित ग्राम योजना की मुख्य विशेषताएं

  • 5 लाख ग्रामीण परिवारों को कम से कम 100 और अधिकतम 300 फलदार पौधों का पट्टा
  • राज्य भर में 5 करोड़ पौधों का रोपण
  • अगले 5 साल तक पौधों को सुरक्षित रखने के लिए भी सहयोग
  • प्रखंड एवं जिला स्तर पर प्रसंस्करण इकाई की स्थापना
  • उत्पाद को सुगम रूप से बाजार उपलब्ध कराने के लिए व्यवस्था
  • एक परिवार को 50 हजार रुपए की निश्चित आमदनी
  • मनरेगा के तहत 25 करोड़ मानव दिवस का सृजन

झारखण्ड बेरोजगारी भत्ता

Jharkhand Birsa Harit Gram Yojana के लिए पात्रता

  • बिरसा हरित ग्राम योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को झारखंड का मूल निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के लिए राज्य के किसान नागरिक पात्र होंगे।
  • बिरसा हरित ग्राम योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक किसान के पास कम से कम आधा एकड़ जमीन होनी चाहिए।
  • राज्य की महिलाएं भी इस योजना के लिए पात्र होगी।
  • इस योजना के अंतर्गत बुजुर्ग और विधवा महिलाओं को प्राथमिकता मिलेगी। 

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • जमीन  के  दस्तावेज
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

झारखंड बिरसा हरित ग्राम योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • झारखंड बिरसा हरित ग्राम योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको पंचायत के विकास कमेटी के पास जाना होगा।
  • वहां जाकर आपको आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको उसमें मांगी गई सभी आवश्यक जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी को दर्ज करने के बाद आपको आवेदन फॉर्म में मांगे गए आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करना होगा।
  • इसके बाद आपको यह आवेदन फॉर्म बीडीओ ऑफिस में जाकर जमा कर देना होगा।
  • आवेदन फॉर्म जमा करते समय आपको ऑफिस के कर्मचारी द्वारा फॉर्म की रसीद दी जाएगी जिसे आप को अपने पास भविष्य के लिए सुरक्षित रखना होगा।
  • इसके बाद आपके आवेदन फॉर्म की जांच की जाएगी।
  • जांच के सत्यापित होने पर आपको इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस प्रकार आप आसानी से बिरसा हरित ग्राम योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं। 

Leave a Comment