Bihar Hari Khad Yojana 2024: ढैंचा फसल बीज पर अनुदान देगी सरकार, आवेदन प्रक्रिया देखें

Bihar Hari Khad Yojana:- बिहार में एक बार फिर से हरी खाद योजना शुरू कर दी गई है। इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा हरी खाद यानी मूंग और ढैंचा की खेती के लिए अनुदान राशि दी जाएगी। बिहार में हरी खाद योजना के तहत सरकार की तरफ से किसानों को ढैंचा की फसल के बीज पर अनुदान के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू कर दिए गए हैं। बिहार राज्य के किसानों को इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। अगर आप भी बिहार के रहने वाले हैं और ढैंचा की खेती के लिए हरी खाद योजना के अंतर्गत सहायता प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको यह आर्टिकल ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा। क्योंकि आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Bihar Hari Khad Yojana 2024 से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएंगे ताकि आप बिना किसी समस्या के घर बैठे अनुदान के लिए आवेदन कर सके। 

Bihar Hari Khad Yojana 2024

Bihar Hari Khad Yojana 2024

बिहार सरकार द्वारा किसानों को मूंग और ढैंचा की खेती पर अनुदान प्रदान करने के लिए हरी खाद योजना को एक बार फिर से शुरू कर दिया गया है। Bihar Hari Khad Yojana के तहत सरकार किसानों को मूंग बीज पर 80 फीसदी और ढैंचा की खेती पर 90 फीसदी अनुदान देगी। सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से गरमा मौसम में ढैंचा की 28000 हेक्टेयर में खेती कराई जाएगी। इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। बिहार राज्य बीज निगम द्वारा गरमा फसल के लिए अनुदान दिया जाएगा। जिसके लिए सभी जिले के लक्ष्य तय कर दिए गए हैं। किसानों को आवेदन के बाद प्रखंड या जिला स्तर पर निगम के डीलर नेटवर्क और अन्य स्रोतों से बीज उपलब्ध कराया जाएगा। इस योजना के सरकार की तरफ से अधिकतम 20 किलो बीज दिए जाते हैं।     

 Pashu Shed Yojana Bihar

बिहार हरी खाद योजना 2024 के बारे में जानकारी

योजना का नामBihar Hari Khad Yojana
शुरू की गईबिहार सरकार द्वारा  
राज्यबिहार  
लाभार्थीराज्य के किसान  
उद्देश्य  जैविक खेती को प्रोत्साहित करना
आवेदन प्रक्रिया  ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटhttps://brbn.bihar.gov.in  

बिहार हरी खाद योजना का उद्देश्य

बिहार सरकार द्वारा हरी खाद योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में जैविक खेती को प्रोत्साहित करना है। ताकि किसान मूंग और ढैंचा की खेती कर मिट्टी में जीवाश्म और कार्बनिक पदार्थ की मात्रा को बढ़ा सके। इस योजना के तहत किसान ऑनलाइन आवेदन कर सस्ती दर पर बीज प्राप्त कर सकते हैं। जिससे किसानों की आय में वृद्धि होगी साथ ही उनके जीवन स्तर में भी सुधार होगा। 

ढैंचा क्या है?

ढैंचा एक हरी खाद वाली फसल है। जिसका उपयोग खेतों के लिए हरी खाद बनाने में किया जाता है। ढैंचा के पौधे बढ़ाने पर इसकी कटाई करके हरी खाद बना सकते हैं। जिसके बाद यह दोबारा बढ़ती है इसके इस्तेमाल के बाद खेत में अलग से यूरिया की जरूरत नहीं पड़ती है। हरी खाद के रूप में ढैंचा फसल को इस्तेमाल में लेने से मिट्टी के स्वास्थ्य में जैविक, रासायनिक और भौतिक सुधार होते हैं और जलधारण क्षमता बढ़ती है। ढैंचा की कटाई कर खेत में सड़ने से नाइट्रोजन, पोटाश, गंधक, कैल्शियम, मैग्नीशियम, तांबा, जस्ता, लोहा जैसे कई पोषक तत्व मिलते हैं।

बिहार तालाब निर्माण योजना

ढैंचा के लिए किसान 12 मई तक आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन करने के बाद 22 मई तक किसानों को बीज वितरण किया जाएगा। ढैंचा के बीज पर राज्य के जो किसान अनुदान प्राप्त करना चाहते हैं तो उन्हें जल्द से जल्द Bihar Hari Khad Yojana के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करना होगा जैविक कॉरिडोर के चिन्हित किसानों और आधुनिक कृषि यंत्रों का उपयोग करने वाले किसानों को इस योजना में प्राथमिकता दी जाएगी। इसके अलावा राज्य के छोटे किसानों को प्राथमिकता देते हुए 20 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर बीज वितरण किया जाएगा।  

किसानों की मिलेगी होम डिलीवरी की सुविधा

बिहार हरी खाद योजना के तहत किसानों को होम डिलीवरी की सुविधा भी दी जाती है। इस सुविधा का लाभ लेने के लिए आपको होम डिलीवरी के लिए कुछ पैसे देने होंगे। अगर आप चाहे तो इस सुविधा को छोड़ भी सकते हैं लेकिन अगर आप होम डिलीवरी का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको इसके लिए आवेदन करते समय होम डिलीवरी की सुविधा का चयन करना होगा। जिसके बाद आपको होम डिलीवरी की सुविधा दी जाएगी।  ढैंचा के लिए आवेदन 12 मई तक बिहार सरकार द्वारा हरी खाद योजना के अंतर्गत  ढैंचा बीज पर सब्सिडी के लिए आवेदन शुरू कर दी गए हैं।

Bihar Hari Khad Yojana के लिए पात्रता   

  • बिहार हरी खाद योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक को बिहार राज्य का मूल निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के सभी किसान आवेदन करने के लिए पात्र होंगे।
  • मूंग एवं ढैंचा  की खेती करने वाले किसान इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।
  • आवेदक किसान  का बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।   
बिहार हरी खाद योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • किसान पंजीकरण संख्या
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो

जल जीवन हरियाली योजना

Bihar Hari Khad Yojana 2024 के तहत आवेदन कैसे करें?

  • बिहार हरी खाद योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा। 
  • होम पेज पर आपको बीज आवेदन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने नया पेज खुल जाएगा।
  • जहां पर आपको अपना किसान पंजीकरण संख्या को दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने Search के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। 
  • उसके बाद आपके सामने इस योजना से जुड़ी सारी जानकारी खुलकर आ जाएगी।
  • अब आपको Apply के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • आपको आवेदन फॉर्म में मांगी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको सभी जरूरी दस्तावेजों को स्कैन कर अपलोड करना होगा। 
  • अंत में आपको सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। 
  • इसके बाद आपको रसीद प्राप्त होगी। जिसे आपको प्रिंट कर अपने पास सुरक्षित रखना होगा। इस प्रकार आप योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।     

FAQs

बिहार हरी खाद योजना के तहत छोटे किसानों को कितना बीज वितरण किया जाएगा?

बिहार हरी खाद योजना के तहत छोटे किसानों को 20 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर बीज वितरण किया जाएगा।

Bihar Hari Khad Yojana के अंतर्गत ढैंचा की खेती कितने हेक्टेयर में कराई जाएगी?

Bihar Hari Khad Yojana के अंतर्गत ढैंचा की खेती 28 हजार हेक्टेयर में कराई जाएगी।

बिहार हरी खाद योजना के अंतर्गत अनुदान प्राप्त करने के लिए आवेदन कैसे करें?

बिहार हरी खाद योजना के अंतर्गत अनुदान प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।  

Leave a Comment