झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभ

झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना ऑनलाइन आवेदन और Bhimrao Ambedkar Awas Yojana उद्देश्य, लाभ, पात्रता व महत्वपूर्ण दस्तावेज़ जाने

कुछ माह पहले तूफान और ओलावृष्टि के कारण ग्रामीण इलाके के कई मकान बड़ी संख्या में ध्वस्त हो गए थे। ऐसे मैं इन मकानों में रहने वाले परिवारों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से सरकार द्वारा झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा उन सभी परिवारों को पक्के मकान प्रदान किए जाएंगे जिनके घर ध्वस्त हो गए हैं। इस लेख के माध्यम से आपको Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana का पूरा ब्यौरा प्रदान किया जाएगा। आप इस लेख को पढ़कर इस योजना का लाभ प्राप्त करने की प्रक्रिया जान सकेंगे। इसके अलावा आप को इस योजना का लाभ, उद्देश्य, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज आदि से संबंधित जानकारी भी प्रदान की जाएगी।

Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण इलाकों में रहने वाले उन सभी परिवारों को लाभ प्रदान किया जाएगा जिनके मकान तूफान और ओलावृष्टि के कारण क्षतिग्रस्त या ध्वस्त हो गए हैं। इसके अलावा इस योजना का लाभ आपदा से प्रभावित परिवारों के साथ विधवा महिला एवं आवास विहीन महिलाओं को भी प्रदान किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 95 दिन की मनरेगा के अंतर्गत मजदूरी एवं ₹130000 तीन किस्त मकान का निर्माण करवाने के लिए प्रदान कि जाएगी। पहली किस्त में ₹40000 दूसरी किस्त में ₹85000 एवं तीसरी किस्त में ₹5000 का भुगतान लाभार्थियों को किया जाएगा। यह पैसे सीधे लाभार्थी के खाते में वितरित किए जाएंगे।

Bhimrao Ambedkar Awas Yojana

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना

12 महीने की अवधि के अंतर्गत करना होगा निर्माण पूर्ण

Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana के अंतर्गत वित्तीय सहायता प्राप्त होने की तिथि से लाभार्थी को 12 महीने की अवधि के अंतर्गत ही आवास का निर्माण पूर्ण करना होगा। झारखंड के ग्रामीण विकास विभाग द्वारा सभी उपायुक्त और उप विकास आयुक्त को इस योजना को लागू करने के निर्देश प्रदान किए जा चुके हैं। सभी उपायुक्तों को अपने जिले में लाभार्थियों की पहचान करनी होंगी। पहचान करने के पश्चात सभी लाभार्थियों की सूची तैयार कर के मुख्यालय भेजनी होगी। वह जिले जिनमें इस योजना के अंतर्गत आवास आवंटन का लक्ष्य पूरा हो गया है वहां भी प्रभावित हुए नागरिकों को आवास आवंटित किए जाएंगे। पूर्वी सिंहभूम के पोटका प्रखंड सभागार में इस योजना के अंतर्गत 35 लाख लाभुकों के बीच स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं।

Key Highlights Of Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana

योजना का नामझारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना
किसने आरंभ कीझारखंड सरकार
लाभार्थीझारखंड के नागरिक
उद्देश्यमकान निर्माण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी
साल2021
राज्यझारखंड
आवेदन का प्रकारऑनलाइन

लाभार्थियों को प्रदान किए जाने वाले अन्य लाभ

  • प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत निशुल्क गैस कनेक्शन
  • दीनदयाल उपाध्याय कुटीर ज्योति योजना/सौभाग्य योजना के अंतर्गत निशुल्क बिजली कनेक्शन
  • स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शौचालय निर्माण

झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना का उद्देश्य

Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण इलाकों में रहने वाले उन सभी परिवारों को मकान निर्माण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है जिनका मकान प्राकृतिक आपदा के कारण ध्वस्त हो गया है। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से विधवा महिलाओं एवं आवास विहीन महिलाओं को भी मकान निर्माण के लिए आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाती है। झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना के अंतर्गत मकान निर्माण के लिए प्रदान की जाने वाली राशि तीन किस्तों में लाभार्थी के खाते में वितरित की जाती है। यह योजना ग्रामीण इलाकों में रह रहे नागरिकों के जीवन स्तर को सुधारने में कारगर साबित होगी। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से प्रदेश के नागरिक सशक्त एवं आत्मनिर्भर भी बनेंगे।

बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana का शुभारंभ किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से ग्रामीण इलाकों में रहने वाले उन सभी परिवारों को लाभ प्रदान किया जाएगा जिनका मकान तूफान और ओलावृष्टि के कारण क्षतिग्रस्त या ध्वस्त हो गया है।
  • इस योजना के माध्यम से विधवा महिलाओं एवं आवास विहीन महिलाओं को भी लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • लाभार्थियों को इस योजना के अंतर्गत 95 दिन कि मनरेगा के अंतर्गत मजदूरी एवं ₹130000 की किस्त मकान निर्माण के लिए प्रदान की जाएगी।
  • पहली किस्त में ₹40000, दूसरी किस्त में ₹85000 एवं तीसरी किस्त में ₹5000 का भुगतान लाभार्थियों को किया जाएगा।
  • यह पैसे सीधे लाभार्थी के खाते में वितरित किए जाएंगे।
  • इस योजना के अंतर्गत वित्तीय सहायता प्राप्त होने की तिथि से लाभार्थी को 12 महीने की अवधि के अंतर्गत आवास का निर्माण पूर्ण करना होगा।
  • सभी उपायुक्त एवं उप विकास उपायुक्त को इस योजना को लागू करने के निर्देश प्रदान किए जा चुके हैं।
  • सभी उपायुक्तों को अपने जिले में लाभार्थियों की पहचान करनी होगी।
  • लाभार्थियों की पहचान करने के पश्चात सभी लाभार्थियों की सूची तैयार करके मुख्यालय भेजी जाएगी।
  • वह सभी जिले जिनमें योजना के अंतर्गत आवास आवंटन का लक्ष्य पूरा हो चुका है वहां भी प्रभावित हुए नागरिकों को आवास आवंटित किए जाएंगे।

पात्रता तथा महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक झारखंड का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक का मकान किसी प्राकृतिक आपदा के कारण क्षतिग्रस्त या ध्वस्त हुआ होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी

झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना आवेदन

  • सभी उपायुक्त द्वारा अपने जिले के लाभार्थियों की पहचान की जाएगी।
  • पहचान करने के पश्चात लाभार्थियों की सूची तैयार की जाएगी।
  • यह सूची मुख्यालय में भेजी जाएगी।
  • जिसके पश्चात सभी लाभार्थियों का सत्यापन किया जाएगा।
  • सत्यापन करने के पश्चात लाभार्थियों को लाभ की राशि वितरित कर दी जाएगी।

Leave a Comment