(रजिस्ट्रेशन) आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, लाभ व पात्रता

Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana Apply  | आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना ऑनलाइन आवेदन | Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana Form | Aatmanirbhar Swasthya Bharat Yojana लाभ व पात्रता | 1 फरवरी को हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा संसद में देश के आम बजट की पेशकश की गई है। इस बजट में कुछ नई योजनाओं की भी घोषणा की गई है। ऐसी ही एक योजना आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जैसे कि आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना क्या है?, इसके लाभ, विशेषताएं, उद्देश्य, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो दोस्तों यदि आप Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022 से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ें।

Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana

Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022

इस योजना को हेल्थ सेक्टर के तीन क्षेत्रों पर ध्यान देने के लिए आरंभ किया गया है। यह तीन क्षेत्र बचाव, इलाज तथा रिसर्च है। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा अगले 6 साल के लिए 64180 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया है। Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022 के अंतर्गत मौजूदा हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाया जाएगा तथा आने वाले समय की चुनौतियों को देखते हुए नए संस्थानों का भी विकास किया जाएगा। जिससे कि आने वाले समय में भी हमारा देश स्वास्थ्य के क्षेत्र में आगे बढ़ता रहे। यह योजना नेशनल हेल्थ मिशन के अंतर्गत संचालित की जाएगी। आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की फंडिंग पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत 17000 ग्रामीण तथा 11000 शहरी हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर को समर्थन प्रदान किया जाएगा।

आत्मनिर्भर स्वास्थ्य भारत योजना का शुभारंभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अक्टूबर 2021 को उत्तर प्रदेश के दौरे पर रहेंगे। दोपहर 1:15 बजे वाराणसी से प्रधानमंत्री जी के द्वारा प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का शुभारंभ किया जाएगा। इस बात की जानकारी प्रधानमंत्री दफ्तर से प्रदान की गई है। सुबह 10:30 बजे प्रधानमंत्री जी के द्वारा सिद्धार्थ नगर से राज्य में 9 मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन भी किया जाएगा। अब तक इस योजना के माध्यम से 157 नए मेडिकल कॉलेज खोले जा चुके है। इस योजना को आरंभ करने की घोषणा सत्र 2021-22 के बजट में की गई थी। जिसके लिए सरकार द्वारा आने वाले 6 वर्षों के लिए ₹64180 करोड़ रुपए का बजट सैंक्शन किया था। इसके अलावा प्रधानमंत्री जी के द्वारा विभिन्न प्रकार की विकास योजनाओं का भी उद्घाटन किया जाएगा। यह योजनाएं 5200 करोड रुपए की होंगी।

आयुष्मान भारत योजना 

इंटीग्रेटेड हेल्थ इनफॉरमेशन पोर्टल का शुभारंभ

आत्मनिर्भर स्वास्थ्य भारत योजना की लॉन्चिंग के अवसर पर प्रधानमंत्री जी के द्वारा 25 अक्टूबर को इंटीग्रेटेड हेल्थ इनफॉरमेशन पोर्टल का भी शुभारंभ किया जाएगा। जिसके माध्यम से देश की सभी पब्लिक हेल्थ लैब को जोड़ा जाएगा। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से देश में 17778 गांवों और 11024 शहरी क्षेत्रों में वैलनेस सेंटर भी बनाए जाएंगे। देश के 602 जिलों में क्रिटिकल केयर अस्पतालों का निर्माण किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत 2 मोबाइल हॉस्पिटल और 15 हेल्थ इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर भी स्थापित किए जाएंगे। इसके अलावा 10 राज्यों का चयन किया जाएगा जिन के सभी जिलों में इंटीग्रेटेड पब्लिक हेल्थ लैब भी खोले जाएंगे। 3382 ब्लॉक में पब्लिक हेल्थ यूनिट भी स्थापित किए जाएंगे। इसके अलावा हेल्थ सिस्टम की क्षमता को विकसित करना, नई बीमारियों का पता लगाना और उनके इलाज के लिए नए संस्थानों का निर्माण भी किया जाएगा।

आयुष्मान सहकार योजना 

Key Highlights Of Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022

योजना का नामआत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना
किस ने लांच कीवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
लाभार्थीभारत के नागरिक
उद्देश्यस्वास्थ्य क्षेत्र का विकास करना
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी
बजट₹ 64,180 करोड़
साल2022

आत्मनिर्भर भारत योजना के अंतर्गत किए जाने वाले कार्य एवं मंजूरी

  • आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना देश की स्वास्थ्य सुविधाओं के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाने के उद्देश्य से आरंभ की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से पब्लिक हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर में क्रिटिकल गैप को भरा जा सकेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों का क्रिटिकल केयर सुविधा एवं प्रायमरी केयर मुख्य लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • हाई फोकस में रहने वाले 10 राज्यों के 17788 ग्रामीण स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों में मदद प्रदान की जाएगी एवं सभी राज्यों में 11024 शहरी स्वास्थ्य कल्याण केंद्रों की भी स्थापना की जाएगी।
  • देश के वह सभी जिले जिनमें 5 लाख से अधिक आबादी होगी उनमें एक्सक्लूसिव क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल ब्लॉक के माध्यम से क्रिटिकल केयर सेवाएं भी उपलब्ध होंगी।
  • बाकी सारे जिलों को रेफर सेवाओं के माध्यम से कवर किया जाएगा।
  • इसके अलावा नागरिकों को प्रयोगशालाओं के नेटवर्क के माध्यम से सार्वजनिक स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली के अंतर्गत डायग्नोस्टिक सेवाओं की पूरी रेंज प्रदान की जाएगी।
  • सभी जिलों में एकीकृत जन स्वास्थ्य प्रयोगशाला भी स्थापित की जाएंगी।
  • इस योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए राष्ट्रीय संस्थान, 4 नए राष्ट्रीय वायरोलॉजी संस्थान, डब्ल्यूएचओ दक्षिण पूर्वी एशियाई के लिए क्षेत्रीय अनुसंधान मंच, 9 जैव सुरक्षा स्तर 3 की प्रयोगशाला, राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र की पांच क्षेत्रीय इकाइयां भी स्थापित करने का निर्णय लिया गया है।
  • इसके अलावा इस योजना के माध्यम से एक आईटी सक्षम रोग निगरानी प्रणाली भी विकसित की जाएगी।
  • शहरी क्षेत्रों में ब्लॉक, जिला, क्षेत्रीय और राज्य स्तर पर निगरानी प्रयोगशालाओं का एक नेटवर्क विकसित किया जाएगा।
  • इसके अलावा एक एकीकृत स्वास्थ्य सूचना पोर्टल का विस्तार भी किया जाएगा। जिससे कि सभी सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं को राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों से जोड़ा जा सके।
  • 15 हेल्थ इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर एवं दो मोबाइल हॉस्पिटल भी इस योजना के अंतर्गत खोले जाएंगे।
  • इसके अलावा नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल का भी विकास किया जाएगा।
  • 600 जिलों एवं 12 सेंट्रल इंस्टिट्यूशन में क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल ब्लॉक की स्थापना भी की जाएगी।

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना बजट

1 फरवरी 2021 को हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीताराम जी के द्वारा सत्र 2021-22 के लिए यूनियन बजट की घोषणा की गई है। यूनियन बजट 2021-22 में आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना आरंभ करने का निर्णय लिया गया है। इस योजना के अंतर्गत देश के स्वास्थ्य क्षेत्र को मजबूत बनाया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार ने 64,180 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। यह बजट आने वाले 6 वर्षों के लिए निर्धारित किया गया है। इस बजट के माध्यम से देश के अस्पताल, प्रयोगशालाओं आदि को विकसित किया जाएगा। Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana के माध्यम से रिसर्च पर भी खास ध्यान दिया जाएगा। जिससे कि आने वाले समय में उत्पन्न होने वाली बीमारियों से देश के नागरिकों को सुरक्षा प्रदान की जा सके।

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की परियोजनाएं

इस योजना के अंतर्गत सभी जिलों के 3382 ब्लॉक में एकीकृत सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं की स्थापना की जाएगी। आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के अंतर्गत सार्वजनिक स्वास्थ्य इकाई भी स्थापित की जाएंगी। 602 जिलों में हॉस्पिटल ब्लॉक भी इस योजना के अंतर्गत स्थापित किए जाएंगे। नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल को भी समर्थन प्रदान किए जाने का काम किया जाएगा। Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022 के अंतर्गत एक इंटीग्रेटेड हेल्थ इंफॉर्मेशन पोर्टल की भी स्थापना की जाएगी तथा 17 नई सार्वजनिक स्वास्थ्य इकाइयां खोली जाएंगी। इसी के साथ मौजूदा सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यों को समर्थन प्रदान किया जाएगा। स्वास्थ्य क्षेत्र के अंतर्गत 15 स्वास्थ्य आपातकालीन संचालन केंद्र तथा दो मोबाइल अस्पतालों की भी स्थापना की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत कोविड-19 वैक्सीन के लिए भी 35000 करोड रुपए भी आवंटित किए गए हैं।

नेशनल केयर फॉर डिजीज कंट्रोल को समर्थन

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं इस योजना के अंतर्गत तीन क्षेत्रों पर खास ध्यान दिया जाएगा जो कि बचाव, इलाज और रिसर्च है। जिससे कि हम आने वाले समय में कोरोनावायरस जैसी महामारी से सफलतापूर्वक लड़ सके। इसी बात को ध्यान में रखते हुए नेशनल केयर फॉर डिजीज कंट्रोल तथा इसकी 5 रीजनल ब्रांच और 20 मेट्रोपॉलिटन हेल्थ सरवायलेंस यूनिट को सरकार की ओर से समर्थन प्रदान किया जाएगा। जिससे कि संस्था द्वारा अपना काम अच्छे से किया जा सके। Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana के अंतर्गत एक एकीकृत स्वस्थ सूचना पोर्टल की भी स्थापना की जाएगी। जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी नागरिकों तक उपलब्ध करवाई जाएगी। आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के अंतर्गत सभी सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं को स्वस्थ सूचना पोर्टल से जोड़ा जाएगा।

 इस योजना के अंतर्गत 17 नई सार्वजनिक स्वस्थ इकाइयों का निर्माण किया जाएगा तथा 33 मौजूदा सार्वजनिक संस्था इकाइयों को भी मजबूत बनाया जाएगा। जिसमें 32 हवाई अड्डे, 11 बंदरगाह और छात्र भूमि क्रॉसिंग शामिल है। यह एकीकृत स्वस्थ सूचना पोर्टल से सभी राज्यों को जोड़ा जाएगा।

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य भारत के हेल्थ सेक्टर का विकास करना है। इस योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य के तीन क्षेत्रों पर ध्यान दिया जाएगा। जो कि बचाव, इलाज तथा रिसर्च है। इन तीनों क्षेत्रों का विकास किया जाएगा। जिससे कि भारत में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं भारत के नागरिकों को उपलब्ध करवाई जा सके। आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022 के माध्यम से कई नए अस्पताल खोले जाएंगे। जिससे कि भारत का प्रत्येक नागरिक बेहतर स्वास्थ्य सेवा का लाभ उठा पाएगा। आत्मनिर्भर स्वास्थ्य भारत योजना के माध्यम से स्वास्थ्य क्षेत्र में कई नए सुधार भी किए जाएंगे।

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना

Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022 के लाभ तथा विशेषताएं

  • इस योजना को हमारे देश के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा आम बजट की घोषणा करते समय लॉन्च किया गया है
  • इस योजना के अंतर्गत 3 क्षेत्रों पर खास ध्यान दिया जाएगा जो कि बचाव, इलाज तथा रिसर्च है।
  • योजना का बजट अगले 6 साल के लिए ₹64,180 करोड रुपए है।
  • इस योजना के अंतर्गत मौजूदा हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाया जाएगा।
  • यह योजना नेशनल हेल्थ मिशन के अंतर्गत संचालित की जाएगी।
  • Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022 की फंडिंग पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत 17000 ग्रामीण तथा 11000 शहरी हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर को समर्थन प्रदान किया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत सभी जिलों के 3382 ब्लॉक में एकत्रित सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं की स्थापना की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत सार्वजनिक स्वास्थ्य इकाई भी स्थापित की जाएंगी।
  • आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022 के अंतर्गत 602 जिलों में हॉस्पिटल ब्लॉक भी स्थापित किए जाएंगे।
  • नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल को भी इस योजना के अंतर्गत समर्थन प्रदान किया जाएगा।
  • Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana के अंतर्गत इंटीग्रेटेड हेल्थ इंफॉर्मेशन पोर्टल की भी स्थापना की जाएगी तथा 17 नई सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्य इकाइयां भी खोली जाएंगी।
  • मौजूदा सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यों को भी इस योजना के अंतर्गत समर्थन प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत 15 स्वास्थ्य आपातकालीन संचालन केंद्र तथा दो मोबाइल अस्पतालों की भी स्थापना की जाएगी।
आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022 की पात्रता तथा महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • बैंक अकाउंट डिटेल्स
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022 के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

यदि आप आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022 के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो करना होगा।

  • सर्वप्रथम आपको आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पर खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको अप्लाई नाउ के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल कर आएगा।
  • आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, एड्रेस आदि ध्यान पूर्वक दर्ज करनी होगी।
  • इसके पश्चात आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • अब आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत के अंतर्गत आवेदन कर पाएंगे।

Leave a Comment