झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2022: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan Online | झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान ऑनलाइन आवेदन | आजीविका संवर्धन हुनर अभियान एप्लीकेशन फॉर्म | ASHA Yojana In Hindi

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं झारखंड सरकार महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए नई नई योजनाएं आरंभ करती रहती है। ऐसी ही एक योजना झारखंड सरकार द्वारा आरंभ की गई है। जिसका नाम Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे। जैसे कि झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान क्या है?, इसका उद्देश्य, लाभ, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो दोस्तो यदि आप झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

Aajivika  Samvardhan Hunar Abhiyan

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan क्या है?

झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान झारखंड की महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए आरंभ किया गया है। इस अभियान के माध्यम से झारखंड की महिलाओं को कृषि आधारित आजीविका, पशुपालन, वनोपज संग्रहण, उद्यमिता समेत स्थानीय संसाधनों से जुड़े स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे। झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के माध्यम से राज्य की 17 लाख ग्रामीण महिलाओं को जोड़ा जाएगा।

क्यो की गई झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान की शुरुआत?

झारखंड में कई सारी ऐसी महिलाएं थी जो अपना घर का खर्च चलाने के लिए सड़क पर हड़िया दारु बेच ती थी। यह योजना हड़िया दारु बेचने वाली महिलाओं के लिए ही चलाई जा रही है। मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी ने कहा कि महिलाएं यह काम मजबूरी में करती है। अब कोई भी महिला सड़क पर हड़िया दारू बेचती हुई नहीं दिखाई देगी। क्योंकि सरकार द्वारा अब हरिया दारु बेचने वाली महिलाओं को आजीविका से झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के माध्यम से जोड़ा जाएगा। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण महिलाओं को रोजगार तथा स्व रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे।

 Key Highlights Of Aajivika  Samvardhan Hunar Abhiyan

योजना का नामझारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान
किस ने लांच कीझारखंड सरकार
लाभार्थीझारखंड की महिलाएं
उद्देश्यमहिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी।
साल2022

झारखण्ड मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना

पलाश ब्रांड का भूमंडलीकरण

पलाश ब्रांड सरकार का ब्रांड है। झारखंड सरकार इस ब्रांड को दुनिया में पहचान देना चाहती है। इस ब्रांड को आगे ले जाने में सरकार ने राज्य की महिलाओं को प्रोत्साहित किया है। मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने यह भी बताया है कि टाटा और अमूल की तरह इसकी सीमाएं भी बहुत आगे जाएंगी। मुख्यमंत्री ने लिज्जत पापड़ तथा अमूल के बारे में भी बताया जिस का उत्पादन महिला स्वयं सहायता समूह द्वारा किया जाता है। झारखंड सरकार पलाश ब्रांड को भी महिला एवं सहायता समूह द्वारा उत्पादन किए गए उत्पाद से आगे ले जाना चाहती है। पलाश ब्रांड के माध्यम से राज्य की महिलाओं का सशक्तिकरण होगा। इस ब्रांड के अंतर्गत अभी सिर्फ खाने पीने की उत्पाद ही बनाए जाते हैं। आने वाले समय में जूते, चप्पल, साड़ी आदि भी पलाश ब्रांड के अंतर्गत बेचे जाएंगे।

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan बजट

झारखंड सरकार द्वारा Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan के अंतर्गत 600 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है और मुख्यमंत्री जी ने स्वयं दुमका के मंडलों के बीच 150 करोड़ रुपए बांटे हैं। इस योजना का संचालन ग्रामीण विकास विभाग द्वारा किया जाएगा। मुख्यमंत्री जी ने यह भी कहा कि झारखंड सरकार रोजगार देने में पूरी तरह से सक्षम है। प्रतिदिन 650000 लोगों को रोजगार दिया जाता है।

झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान का उद्देश्य

ASHA Yojana का मुख्य उद्देश्य हड़िया दारु बेचने वाली महिलाओं को रोजगार तथा स्वरोजगार के अवसर प्रदान करना है। इस अभियान की वजह से अब झारखंड की महिलाओं को अपना घर चलाने के लिए हड़िया दारु बेचने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इस योजना के माध्यम से महिलाओं का सशक्तिकरण होगा तथा उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार आएगा।

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan के लाभ तथा विशेषताएं

  • Aajivika  Samvardhan Hunar Abhiyan झारखंड की हड़िया दारू बेचने वाली महिलाओं के लिए आरंभ की गई है। इस योजना के माध्यम से हड़िया दारु बेचने वाली महिलाओं को रोजगार तथा स्व रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे।
  • इस योजना के माध्यम से महिलाओं का सशक्तिकरण होगा।
  • ASHA से झारखंड की महिलाओं को कृष आधारित आजीविका, पशुपालन, वनोपज संग्रहण, उद्यमिता समेत स्थानीय संसाधनों से जुड़े स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे।
  • इस योजना के माध्यम से लगभग 17 लाख ग्रामीण परिवारों को जोड़ा जाएगा।
  • अब झारखंड की महिलाओं का अपने घर का खर्च चलाने के लिए हड़िया दारु बेचने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।
  • झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना के माध्यम से झारखंड की महिलाओं को रोजगार तथा स्व रोजगार के अवसर मिलेंगे।
  • इस योजना का बजट सरकार द्वारा 600 करोड़ रुपए का निर्धारित किया गया है।
  • झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना का संचालन ग्रामीण विकास विभाग द्वारा किया जाएगा।

Mukhyamantri Sukanya Yojana Jharkhand

ASHA की पात्रता तथा आवश्यक दस्तावेज

  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को झारखंड का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

यदि आप Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको कुछ समय प्रतीक्षा करनी होगी। अभी सरकार द्वारा इस योजना कि केवल घोषणा की गई है। जल्द ही झारखंड सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया बताई जाएगी। जैसे ही झारखंड सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया बताई जाएगी हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से सूचित कर देंगे। कृपया आप हमारे इस लेख से जुड़े रहे।

Leave a Comment